Breaking Tube
Lok Sabha 2019 Politics

लोकसभा चुनाव: मायावती से मिलने पहुंचे जयंत चौधरी, उम्मीदवारों के नाम पर हुई चर्चा

Jayant Chaudhary meet bsp chief Mayawati

राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी शनिवार को बसपा सुप्रीमो मायावती से मिलने उनके 9 मॉल एवेन्यू आवास पर पहुंचे। इस दौरान अखिलेश यादव के आने की भी संभावना थी, लेकिन वह नहीं आए। चर्चाएं है कि दोनों के बीच में पश्चिमी यूपी के कई सीटों पर स्थानीय समीकरण को लेकर चर्चा हुई है।


राष्ट्रीय लोकदल को मिली तीन सीट

बता दें कि कल यानि रविवार को बसपा उम्मीदवारों की लिस्ट की घोषणा होने वाली है। इससे पहले मायावती अपने उम्मीदवारों के पक्ष में स्थानीय समीकरण को सुनिश्चित कर लेना चाहती हैं। जयंत चौधरी की गठबंधन में शामिल होने के बाद मायावती से पहली मुलाकात है।


Also Read: लोकसभा चुनाव: मायावती से मैनपुरी में प्रचार करवाने के प्लान से नाराज मुलाय


जानकारी के मुताबिक, राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) को सपा-बसपा गठबंधन में तीन सीट मिली हैं। इनमें मुजफ्फरनगर से पार्टी के अध्यक्ष अजित सिंह और बागपत से जयंत चौधरी चुनावी मैदान में उतरने वाले हैं। इन्हें तीसरी सीट मथुरा मिली है।


Also Read: शिवपाल और प्रियंका गांधी ने की मुलाकात, नए सियासी समीकरण बनने के आसार


वहीं, खबरें हैं कि लोकसभा चुनाव में गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रही सपा और बसपा में कुछ प्रत्याशियों के नामों पर विरोध भी शुरू हो गया है। उधर, कई सीटों पर बसपा के नेताओं ने भी सपा प्रत्याशियों का विरोध जताया है।


Also Read: लोकसभा चुनाव: अखिलेश यादव को करारा झटका, प्रसपा में शामिल हुईं सपा की खास ‘पूर्व मंत्री


सूत्रों के मुताबिक, सुल्तानपुर से बसपा प्रत्याशी चंद्रभान सिंह उर्फ सोनू का सपा कर रही विरोध, तो सपा प्रत्याशी इंद्रजीत सरोज और रामजीलाल सुमन का भी बसपा के ओर से विरोध हो रहा है। बलिया और जौनपुर सीट पर सपा बसपा गठबंधन में पेंच फंस गया है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

लोकसभा चुनाव: RJD की प्रदेश अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा, थामेंगी बीजेपी का दामन

S N Tiwari

रायबरेली विधायक अदिति सिंह के खिलाफ एक्शन, सदस्यता खत्म करने के लिए कांग्रेस ने भेजा नोटिस

BT Bureau

योगी सरकार के 30 माह के कार्यकाल ने नई कार्य संस्कृति, संवेदनशील शासन और जवाबदेह प्रशासन वाले ‘नए उत्तर प्रदेश’ की नींव रखी

BT Bureau