Breaking Tube
Crime Politics

उन्नाव मामले में सियासत तेज, अखिलेश ने विधानसभा के बाहर दिया धरना तो पीड़ित परिवार से मिलीं प्रियंका गांधी

उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में रेप (Unnao Gangrape) के बाद आरोपियों द्वारा जिंदा जलाई गई युवती की शुक्रवार को मौत के बाद सियासत तेज हो गई है. पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) शनिवार को यूपी विधानसभा के गेट के बाहर धरना दिया, तो कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए उन्नाव पहुंच चुकी हैं. परिवार के सदस्यों से मुलाकात कर रहीं है.


बेटी की मौत के लिए बीजेपी सरकार दोषी

अखिलेश यादव ने कहा कि उन्नाव की घटना बहुत दुखद है इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए कम है. यह एक काला दिन है. वह मरना नहीं चाहती थी, लेकिन वह जिंदा नहीं बच पाई. इस तरह की घटना इस बीजेपी सरकार में पहली बार नहीं हुई है. इससे पहले भी उन्नाव की बेटी ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह करने की कोशिश की थी, तब जाकर उसकी एफआईआर दर्ज हुई. बाराबंकी की बेटी ने भी इसी मुख्यमंत्री आवास के बाहर आग लगाई थी. वह बच नहीं पाई. एक ने पूरा परिवार खो दिया, जिस बेटी की जान आज गई उसकी दोषी बीजेपी सरकार है.


बीजेपी से जुड़े है रेप के आरोपी

अखिलेश यादव ने कहा उन्नाव की बेटी की जान नहीं बचाई जा सकी. इस केस में जो आरोपी हैं, वे भारतीय जनता पार्टी से जुड़े हुए हैं. अखिलेश यादव ने कहा कि आज के युग में इस तरह की घटना होगी कि जिंदा जला देगा कोई. उन्होंने कहा कि वो बेटी एक किलोमीटर तक जलती हुई भागी थी. अखिलेश ने कहा, ‘जब तक उत्तर प्रदेश के सीएम, गृह सचिव और डीजीपी इस्तीफा नहीं देंगे, न्याय नहीं होगा. उन्नाव रेप केस को लेकर कल सभी जिलों में शोक सभा आयोजित की जाएगी. अखिलेश ने आगे कहा, ‘इसी विधानसभा में मुख्यमंत्री ने कहा था कि अपराधियों को ठोक दिया जाएगा. यह भाषा थी लेकिन एक बेटी की जान नहीं बचा सके.


प्रियंका ने दिए उन्नाव में रेप के आंकड़े

वहीं इस मामले पर प्रियंका गांधी ने कहा, ‘सरकार का कर्तव्य होता है कि वह कानून-व्यवस्था को कायम रखे. उन्नाव में पिछले 11 महीनों में 90 बलात्कार हुए हैं. सरकार को फैसला करना पड़ेगा कि वह महिलाओं के पक्ष में है या फिर अपराधियों के पक्ष में? उन्होंने कहा कि उन्नाव में जो पिछला मामला हुआ था, उसमें सरकार ने आरोपी की तब तक सुरक्षा की जब तक उस महिला का परिवार खत्म नहीं हो गया. उन्नाव के बाद संभल, मैनपुरी में आपने देखा और अब फिर उन्नाव में गुरुवार को नया मामला हुआ है.


बता दें कि शुक्रवार रात 11 बजकर 40 मिनट पर पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई. हालांकि 90 प्रतिशत से भी ज्यादा जल चुकी यूपी की इस ‘निर्भया’ ने आखिरी वक्त तक भी हार नहीं मानी थी. लखनऊ से एयर लिफ्ट कर दिल्ली लाई गई पीड़ित युवती गुरुवार रात नौ बजे तक होश में थी. जब तक होश में रही, कहती रही- मुझे जलाने वालों को छोड़ना मत. फिर वो बेहोश हो गई. डॉक्टरों ने उसे होश में लाने की पूरी कोशिश की, उसे वेंटीलेटर पर रखा गया लेकिन वो बच न सकी.


Also Read: उन्नाव केस: रेप पीड़िता की मौत पर सीएम योगी ने जताया दुख, बोले- नहीं छोड़ेंगे आरोपियों को, फास्ट ट्रैक कोर्ट से दिलाएंगे सजा


Related news

Video: केजरीवाल के मुंह पर एशियाड मेडल विजेता की खरी-खरी, कहा- मदद का वादा किया, बाद में फोन तक नहीं उठाया

BT Bureau

पहले जिसे मेहमान बनाकर रिहा किया था अब उसी मसूद मजहर के नाम पर वोट बटोरने की कोशिश कर रही बीजेपी: मायावती

BT Bureau

शिवसेना ने राम मंदिर के निर्माण के लिए कानून बनाने पर दिया जोर

BT Bureau