Breaking Tube : #1 News Portal of Uttar Pradesh
Social Media

क्वारंटाइन किए गए युवक ने निकाला अफसरों-कर्मचारियों का पसीना, रोजाना अकेले हजम कर जाता है 40 रोटी, 80 लिट्टी और 10 प्लेट चावल

Buxar youth anoop ojha

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर्स की बदहाली और भोजन की गुणवत्ता को लेकर कई तरह के मामले सामने आ चुके हैं। हालांकि, प्रशासन इसे दुरुस्त करने के हर संभव प्रयास भी कर रहा है, जिससे क्वारंटीन किए गए लोगों को किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो। इसी बीच एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती एक युवक की डाइट ने अफसरों और कर्मचारियों के पसीने छुड़ा दिए हैं।


रात के भोजन में खा गए 85 लिट्टियां


अपनी डाइट को लेकर यह युवक चर्चा का विषय बना हुआ है। जी हां…हम बात कर रहे हैं बक्सर जिले के 21 साल के युवा (Buxar youth) अनूप ओझा (anoop ojha) की। अनुप बक्सर जिला के ही सिमरी प्रखंड के खरहाटांड़ गांव निवासी गोपाल ओझा के पुत्र हैं और एक सप्ताह पहले ही अपने घर जाने के क्रम में क्वारंटाइन केंद्र में आए हैं। परिजनों ने बताया कि अनुप लॉकडाउन से पहले राजस्थान रोजी-रोटी की तलाश में गए थे लेकिन इसी दौरान पूरा देश लॉकडाउन हो गया और वो डेढ़ महीने से ज्यादा समय तक राजस्थान में ही फंसे रहे।


Also read: लखनऊ: KGMU में गंदगी देख भड़के सुरेश खन्ना, गंदी ट्रॉली पर मरीजों को खाना बांटने पर लगाई फटकार


खाने के मामले में ये जनाब 10 लोगों को अकेले टक्कर दे सकते हैं। जब अनूप को राजस्थान से लौटने के बाद मंझवारी के राजकीय बुनियादी विद्यालय में बने क्वारेंटाइन सेंटर में क्वारंटीन किया गया तो उनका खाना देककर अधिकारी ही नहीं बल्कि कर्मचारियों के भी पसीने छूटने लगे। 21 साल की उम्र में अनूप ओझा 10 लोगों के बराबर खाना खाते हैं। क्वारंटाइन सेंटर के लोगों बताते हैं कि अनूप ने एक दिन रात के खाने में 85 लिट्टियां और चोखा अकेले ही हजम कर लिया।


आमतौर पर अनूप एक बार में 8-10 प्लेट चावल और 35-40 रोटियां और दाल-सब्जी खाते हैं। क्वारंटाइन सेंटर में अनूप ओझा का भोजना जुटाने में विभाग से ज्यादा रसोइयों के ज्यादा पसीने छूटते हैं। जब युवक की डाइट के बारे में अंचलाधिकारी को सूचना मिली तो वह उससे मिलने पहुंच गए और युवक का खाना देख वो भी हैरान हो गए। वहीं, अनूप के गांव के लोगों का कहना है कि वो बहुत पहले से ही अधिक खाते हैं।


Also Read: आइसोलेशन वार्ड में वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की नहीं होनी चाहिए कमी, सुरेश खन्ना का अफसरों को निर्देश


उन लोगों ने बताया कि एक बार तो शर्त लगाने पर अनूप 100 से ज्यादा समोस भी हजम कर गए। जानकारी के अनुसार, अनूप ओझा (anoop ojha) जिस क्वारंटाइन सेंटर में हैं, वहां 87 प्रवासियों को रखा गया है, लेकिन यहां खाना 100 से ज्यादा लोगों के लिए बनाया जाता है। इसका कारण हैं अनूप ओझा। वहीं, अंचलाधिकारी ने पड़ताल करने के बाद सेंटर पर नियुक्त कर्मियों को निर्देश दिया है कि अनूप को भरपूर भोजन दिया जाए।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

‘आदित्य ठाकरे शिवसेना का राहुल गांधी साबित होगा..लिख कर ले लीजिए’..तकनीकी खामी के चलते अंजना ओम कश्यप की बातचीत हुई ऑन एयर, मचा बवाल

BT Bureau

Video: आसान भाषा में ‘राफेल डील’ को फायदे का सौदा बताकर सोशल मीडिया पर छाईं ‘पल्लवी जोशी’

BT Bureau

लखीमपुर खीरी: इंदिरा गांधी की प्रतिमा को ‘बुर्का’ पहनाए जाने पर भड़की कांग्रेस

BT Bureau