Breaking Tube
Social Media

VIDEO: JNU के किन 100-200 बच्चों का जिक्र कर रहा था शरजील इमाम, जो उसके ‘प्लान ऑफ एक्शन’ में हैं शामिल

Sharjeel imam

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (एनआरसी) बिल के खिलाफ प्रदर्शनों में भड़काऊ भाषण देने के मामले में गिरफ्तार जेएनयू छात्र शरजील इमाम भारत को इस्लामिक देश बनाने का मंसूबा रखता है। वह फिलहाल दिल्ली पुलिस की रिमांड पर है। देशद्रोह का आरोपी शरजील इमाम (Sharjeel imam) कट्टरपंथ से बहुत ज्यादा प्रभावित है और पूछताछ के दौरान भी देश के खिलाफ जहर उगल रहा है। दिल्ली पुलिस ने शरजील का वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह ‘देश में चक्का जाम’ करवाने की बात बोल रहा है। इस वीडियो में शरजील ने मुस्लिम स्टूडेंट जेएनयू नाम के एक प्लेटफॉर्म का जिक्र किया है, जिसमें जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के 100-200 बच्चों के शामिल होने की बात भी कर रह रहा।


यह पूरा वीडियो करीब 10 मिनट का है। जिसमें शरजील इमाम कह रहा है कि हम जेएनयू के 100-200 बच्चे हैं और हमने मुस्लिम स्टूडेंट जेएनयू नाम से एक प्लेटफॉर्म बनाया है ताकि हम यही सब कर सकें, दो हफ्ते से हम यही कर रहे हैं। वह कहता है कि हमारी ख्वाहिश और आरजू ये है कि दिल्ली में चक्का जाम हो और सिर्फ दिल्ली ही नहीं…जिस शहर में मुसलमान कर सकता है। शरजील इमाम कहता है कि मुसलमान हिंदुस्तान के 500 शहरों में चक्का जाम कर सकता है।


Also Read: शरजील इमाम के वाट्सएप चैट ने खोले कई राज, PFI से निकला कनेक्शन, अधिकारी बोले- ज़हर उगलती है उसकी जुबान


वीडियो में शरजील कहता है कि क्या मुसलमानों में इतनी भी हैसियत नहीं कि उत्तर भारत के शहरों को बंद किया जा सके। इस दौरान वहां मौजूद भीड़ उसका समर्थन करते हुए दिख रही है। इस बीच शरजील उत्तर प्रदेश का भी जिक्र करता सुना जा रहा है। वह कहता है कि यूपी में मुसलमानों की शहरी आबादी 30 फीसदी के ऊपर है…अरे भाई शर्म करो, 30 फीसद आबादी होने के बावजूद शहर चल क्यों रहा है?


वीडियो में शरजील इमाम भीड़ को लगातार भड़काने के प्रयास कर रहा है। फिलहाल, शरजील इमाम को बिहार के जहानाबाद से मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया। वह दिल्ली पुलिस की रिमांड में है। पुलिस अधिकारी लगातार उससे पूछताछ कर रहे हैं। शरजील ने कबूल किया है कि उसके वीडियोज से कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है। उसके भाषण वाली विडियोज को फरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है।


Also Read: डॉक्टर कफील खान ने AMU छात्रों को भड़काते हुए कहा था- ‘यह हमारे अस्तित्व की लड़ाई है, हमें लड़ना होगा’


पुलिस यह भी देख रही है कि उसका इस्लामिक यूथ फेडरेशन ऐंड पॉप्यूलर फ्रंट ऑफ इंडिया से कोई संबंध है या नहीं। बता दें कि सीएए के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों में इस्लामिक यूथ फेडरेशन ऐंड पॉप्यूलर फ्रंट ऑफ इंडिया ( पीएफआई) का नाम आया था। पीएफआई एक उग्र इस्लामिक कट्टरपंथी संगठन है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि रजील के पास मटीरियल (संदिग्ध जानकारी) बहुत है। अब तक उससे हुई बातचीत से पता चला है कि शरजील के पीछे कुछ हद तक पीएफआई का भी हाथ है। लेकिन इसकी पुष्टि के लिए अभी और वक्त चाहिए।


शरजील इमाम से आधी रात से भी ज्यादा वक्त तक दिल्ली पुलिस की तमाम टीमों पूछताछ करती रहीं। इस दौरान नींद की खुमारी और पुलिस का भय उसकी आंखों और चेहरे पर साफ-साफ झलक रहा था। वो सोना चाह रहा था, लेकिन पुलिस उसे जगाकर कम समय में ज्यादा से ज्यादा जानकारियां लेने को बेताब थी। पुलिस का मानना है कि थकान की आड़ लेकर आरोपी सिर्फ रिमांड का वक्त किसी तरह से गुजार देना चाहता है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

चंद मिनटों के लिए संगम में दिखीं सरस्वती! रहस्यमयी दूधिया धारा देख हर कोई रह गया हैरान

Shruti Gaur

अदनान सामी का पाकिस्तानी ट्रोलर्स को करारा जवाब, बोले- तुम्हारी सोच पर हंसी आती है…

admin

Boys Locker Room: लड़की ने ही फर्जी आईडी बनाकर रची थी गैंगरेप की कहानी, हुए कई चौंकाने वाले खुलासे

BT Bureau