Breaking Tube
Social Media

रोहित सरदाना को पद्मश्री देने की उठ रही मांग, ट्विटर पर कर रहा ट्रेंड

आजतक के पूर्व एंकर और देश के जाने माने पत्रकार रोहित सरदाना (Rohit Sardana) को पद्मश्री (Padmashri) देने की मांग उठ रही है. सोशल मीडिया के माध्यम से लोग रोहित को पद्म सम्मान से नवाजे जाने की वकालत कर रहे हैं. जिसके चलते सुबह से ही ट्विटर पर #पद्मश्री_रोहित_सरदाना लगातार ट्रेंड कर रहा है. खबर लिखे जाने तक इस ट्रेंड पर 20 हजार से अधिक ट्वीट हो चुके हैं. यूजर्स अपने-अपने तरीके से रोहित को याद करके उन्हें इस पुरस्कार का हकदार बता रहे हैं. बता दें कि बीती 30 अप्रैल को दिल का दौरा पड़ने के चलते 42 वर्षीय रोहित सरदाना का निधन हो गया था.



जी न्यूज़ से लेकर आज तक पर उन्होंने कई चर्चित शो किए. ताल ठोक के और दंगल को उन्होंने अलग बुलंदियों तक पहुंचाया था. जिसमें वह विभिन्न मुद्दों पर बहस किया करते थे, जिसके चलते दंगल देश का नंबर वन शो बना था, रोहित को इसके लिए कई अवार्ड मिल चुके हैं. अपने बेबाक अंदाज और स्पष्ट बातचीत की वजह से लोग उन्हें काफी पसंद करते थे. उनकी मौत के बाद करोड़ों प्रशंसकों को गहरा सदमा लगा था, मौत के कई दिनों बाद तक वे सोशल मीडिया पर लगातार ट्रेंड करते रहे.


बता दें कि केंद्र सरकार ने हाल ही में देश के सभी नागरिकों से उन प्रतिभाशाली लोगों की पहचान कर उनके नामों की सिफारिश करने की अपील की है, जिनके उत्कृष्ट काम और उपलब्धियां वास्तव में पद्म पुरस्कारों से सम्मानित होने के योग्य हैं. केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि गणतंत्र दिवस, 2022 के मौके पर ऐलान किए जाने वाले पद्म पुरस्कारों (पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री) के लिए ऑनलाइन नामांकन/अनुशंसाएं अभी जारी हैं. गृह मंत्रालय ने कहा कि सरकार पद्म पुरस्कारों को ‘जन पद्म’ के रूप में तब्दील करने को लेकर प्रतिबद्ध है.


यहां करें नामांकन 


पद्म पुरस्कारों के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 15 सितंबर, 2021 है. इस संबंध में विस्तृत विवरण गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर ‘पुरस्कार और पदक’ शीर्षक के तहत भी उपलब्ध हैं. पद्म पुरस्कारों के लिए नामांकनध्अनुशंसाएं केवल पद्म पुरस्कार पोर्टल
पद्मअवार्ड्सडॉटजीओवीडॉटइन पर ही ऑनलाइन प्राप्त की जाएंगी.


नामांकन फाॅर्म में कौन-सी जानकारी देनी है 

सरकार के मुताबिक नामांकन/अनुशंसा में वे सभी संबंधित विवरण शामिल होने चाहिए जो उपर्युक्त पद्म पोर्टल पर उपलब्ध फाॅर्मेट में निर्दिष्ट किए गए हैं, जिसमें विवरणात्मक रूप में एक उद्धरण (अधिकतम 800 शब्द) भी शामिल होना चाहिए. इसमें अनुशंसित शख्स की अपने संबंधित क्षेत्र/विषय में हासिल की गई विशिष्ट और असाधारण उपलब्धियों/सेवा का स्पष्ट रूप से जिक्र किया जाना चाहिए.


इन नंबरों पर काॅल कर ले सकते हैं मदद 

फाॅर्म भरने में किसी तरह की दिक्कत होने पर पूछताछ/सहायता के लिए इन नंबरों पर राब्ता किया जा सकता है. 011-23092421, 91 9971376539, 91 9968276366, 91 9711662129, 91 7827785786.


किसे मिल सकता है पुरस्कार ?

गौरतलब है कि वर्ष 1954 में पद्म पुरस्कारों की शुरुआत की गई थी, तभी से हर साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पुरस्कार से सम्मानित होने वाले लोगों के नामों का ऐलान किया जाता है. यह पुरस्कार कला, साहित्य और शिक्षा, खेल, चिकित्सा, सामाजिक कार्य, विज्ञान एवं इंजीनियरिंग, सार्वजनिक मामलों, सिविल सेवा, कारोबार और उद्योग वगैरह जैसे सभी क्षेत्रों या विषयों में विशिष्ट और असाधारण उपलब्धियों या सेवा के लिए दिए जाते हैं.


Also Read: कौशांबी: युवती को प्रेमजाल में फंसाकर किया अपहरण, धर्मांतरण कराकर दूसरे युवक से करा दिया निकाह


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

सुई धागा में अनुष्का की फोटो का उड़ाया जा रहा जमके मज़ाक

Satya Prakash

मेरठ: खेत में अश्लील हरकतें करते हुए अब्बू-बेटी को ग्रामीणों ने रंगेहाथ पकड़ा, 10 सालों से दोनों के बीच हैं नाजायज संबंध, Video वायरल

BT Bureau

अफजल गुरु का संसद पर हमले में नहीं था कोई हाथ, सुप्रीम कोर्ट और सरकार पर भरोसा नहीं कर सकते, शरजील के बाद अब इस युवती का भड़काऊ Video

Praveen Bajpai