Breaking Tube
Social

सच्चे दोस्तों में होते हैं ये गुण, ऐसे करें अच्छे दोस्तों की पहचान

Friendship Day 2020: प्राचीन समय से दोस्ती को काफी महत्त्व दिया गया है. कृष्णा और सुदामा, अर्जुन और कृष्ण जैसे दोस्त मिल पाना आज के समय में असंभव है. वहीँ पंचतंत्र के अनुसार अगर आप में और आपके मित्र में ये बातें हैं तो निश्चित ही आप सच्चे दोस्त हैं. आज फ्रेंडशिप डे के मौके पर जानिए क्या आपकी दोस्ती सच्ची है फिर नहीं?


Team Building: The Complete Guide | Planday

लेन-देन करना-


लोग अक्सर अपने दोस्तों की चीजों का इस्तेमाल करते हैं. हालांकि पंचतंत्र में बताया गया है कि सच्चा साथी या दोस्त वही है जो आपकी चीजों का लेन-देन करने के साथ आपकी जिम्मेदारियों का लेन-देन करता है. अगर कोई साथी आपका दुख और विचार बिना कहे खुद ही बांट ले, वह सच्चा साथी है.


सलाह-


हम कई लोगों से मिलते और बात करते हैं. कहते हैं कि अगर आपको कोई गलती में टोकता और उसे सुधारने की सलाह देता है. तो मानना चाहिए वह आपका सच्चा साथी या मित्र है.


मन का हाल जानना-


कई बार दोस्त सिर्फ अपनी बात कहकर चले जाते हैं. पंचतंत्र में एक सच्चे साथी की पहचान यह भी है कि अगर कोई आपसे आपके मन का हाल जानता है और आपकी चिंता दूर करने का प्रयास करता है.


परिवार को अपना परिवार समझना-


कहते हैं कि जो लोग आपके परिवार को अपना समझते हैं और आपके परिवार की हर मुश्किल खड़ी में साथ रहते हैं वही आपके दोस्त हैं.


प्रेरित करना-


कहते हैं कि एक सच्चा दोस्त कभी अपने मित्र को निराश नहीं करता है, बल्कि उसे हमेशा प्रेरित करता है.


पर्सनल बातों न बताना-


माना जाता है कि एक सच्चा मित्र अपने मित्र की निजी जिंदगी से जुड़ी को बातों को किसी से शेयर नहीं करता है.


नीचा न दिखाना-


सच्चा दोस्त अपने मित्र को भी नीचा नहीं दिखाता. कहते हैं कि सच्चे दोस्तों के बीच प्रतिस्पर्धा जैसा कोई शब्द भी नहीं होता.


Also Read : रिश्तों की मजबूती के लिए ध्यान रखें ये 6 बातें, कभी नहीं होंगी पार्टनर से दूरियां


Also Read : रिसर्च से खुलासा हुआ है कि, कॉन्फिडेंस और तेज़ी से सवालों का ज़वाब देने वाले लड़कों पर मरती हैं लड़कियां


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अनचाही प्रेगनेंसी से बचने के लिए खाएं ये चीज, नहीं होंगी प्रेग्नेंट, साइड इफेक्ट की टेंशन भी नहीं

Satya Prakash

वाराणसी: ट्रैफिक पुलिस के सिपाहियों ने बचाई गर्भवती महिला की जान, फेसबुक पोस्ट देखकर पहुंचे खून देने

S N Tiwari

अब कोई ऐसे ही नहीं लगवा पाएगा SC-ST एक्ट, हाई कोर्ट ने मुकदमा दर्ज कराने को लेकर रखी ये शर्त

BT Bureau