Breaking Tube
Social

आखिरी सोमवार बन रहे ये 7 शुभ संयोग, भोलेनाथ करेंगे सभी मनोकामनाएं पूरी

सावन 2020: सावन का आखिरी सोमवार 3 अगस्त को पड़ रहा है. इसी दिन रक्षा बंधन का त्यौहार भी पड़ रहा है. इस दिन एक विशेष संयोग भी बन रहा है. सोमवार के दिन पूर्णिमा तिथि भी है. इस दिन चंद्रमा मकर राशि में रहेंगे. इस दिन सुबह 6 बजकर 40 मिनट तक प्रीति योग भी बन रहा है. इसके बाद से आयुष्मान योग शुरू हो जाएगा.


इस बार पूर्णिमा के दिन आखिरी सोमवार पड़ रहा है, इस दिन चंद्रमा को देवता की तरह पूजा भी जाता है, सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित होता है. इसीलिए ये पूर्णिमा और सोमवार का अद्भुत संयोग है. इसे सौंम्या तिथि माना जाता है. इस दिन चंद्रदेव की पूजा करने से हर क्षेत्र में सफलता मिलती है.


Jai Shiv Shankar - Reviews, Photos - Shivgiri Temple - Tripadvisor

3 अगस्त के साथ-साथ रक्षा बंधन और पूर्णिमा भी है. सावन माह के आखिरी सोमवार के साथ रक्षाबंधन का त्योहार आना एक दुर्लभ संयोग है. कहा जाता है कि इस दिन व्रत रखने रक्षा बंधन मनाने का कई गुना लाभ मिलेगा.


सावन के आखिरी दिन सोमवार को पितृ-तर्पण और ऋषि पूजन भी किया जाता है. ऐसा करने से पितरों का आशीर्वाद मिलता है और जिंदगी की कई परेशानियों से भी छुटकारा मिल जाता है.अंतिम सोमवार के दिन रुद्राभिषेक, रुद्राष्टक और लिंगाष्टक का पाठ करना बहुत फलदायी माना जाता है.


Also Read: जानिए आखिर क्या है संजीवनी बूटी का रहस्य?


मान्यता यह भी है की, भगवान भोलेनाथ की पूजा के बाद से दान भी करना चाहिए. इसी के साथ इस अंतिम सोमवार को भगवान भोलेनाथ को बेल पत्र, दूध और जल चढ़ाकर भगवान भोलेनाथ की पूजा करें. इस दिन भगवान विष्णु की विशेष कृपा मिलती है.


Also Read: आखिर नाग पंचमी में क्यों होती है सापों की पूजा, जानें ये अनोखी परंपराएं


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

भारत बंद के प्रदर्शन में मानवता को समर्थन, सवर्णों ने आन्दोलन रोक दिया एंबुलेंस को रास्ता

BT Bureau

अच्छी खबर! 45 मिनट का ये टेस्ट बताएगा कि आप कोरोना संक्रमित हैं या नहीं

Jitendra Nishad

इटावा: अराजकतत्वों ने तोड़ी आंबेडकर की प्रतिमा, इलाके में तनाव

S N Tiwari