Breaking Tube
Social

युवा समाजसेवी व मिसेज इंडिया ईस्ट ने कोरोना से बचाव के बताए तरीके

कोरोना वायरस का प्रकोप देशभर में बढ़ता जा रहा है. भारत में इससे जुड़े 536 मामले सामने आ चुके है. केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकारें इसके खिलाफ लडा़ई लड़ रहीं है. हर तरफ लोग कोरोना वायरस से बचने के तरीकों को लोगों तक पहुंचाते नजर आ रहे हैं. इसी के अन्तर्गत मिसेज इंडिया ईस्ट प्रजा पांडेय विनर ने भी एक वीडियो जारी करके लोगों से सतर्क रहने की अपील है. इस दौरान उन्होने हाथ धोने का सही तरीका भी लोगों को बताया, ताकि वायरस से बचा जा सके.


क्या कहा वीडियो में ?

मिसेज ईस्ट इंडिया प्रज्ञा पांडेय ने अपनी वीडियो में कहा कि कोरोना से बचने के लिए हाथ मिलने से बचे. अगर किसी को छींक या खांसी आती है तो उससे संपर्क ना बनाए थोड़ा दूरी बनाए रखें. ऐसे किसी भी व्यक्ति के करीब ना जाएं जिसकी तबियत खराब हो. रॉ मीट का सेवन करने से बचें. इतना ही नहीं घर से बाहर निकलते समय मास्क का इस्तेमाल अवश्य करें ताकि आप कोरोना वायरस से बच सके.


Also Read: सीएम योगी पर AAP नेता की विवादित टिप्पणी, BJP नेता ने दर्ज कराया मुकदमा


उन्होंने अपनी दूसरी वीडियो में हाथ धोने का सही तरीका भी बताया है. ताकि लोग उसे देखकर अवेयर हो सकें और वायरस के प्रति सतर्कता दिखाकर खुद को और आने परिवार को सुरक्षित रख सकें. प्रज्ञा पांडेय ने कहा कि कोरोना वायरस भारत के कई राज्यों में आने पैर पसार रहा है, इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि हम अपने घर पर ही रहें.


कौन हैं प्रज्ञा पांडेय

मिसेज बनारस का खिताब जीतने के बाद लगातार प्रतियोगिताओं और अपने कड़ी मेहनत से प्रज्ञा ने मिसेज इंडिया का खिताब अपने नाम किया है. प्रज्ञा पाण्डेय एक मिडिल क्लास फैमिली से हैं. इनके पति अमित कुमार तिवारी डॉक्टर हैं साथ ही इनका एक 13 साल का बेटा भी है. जिसका नाम आर्यन है. प्रज्ञा ने उत्तराखंड के हल्द्वानी में होने वाले कार्यक्रम में प्रज्ञा ने बिहार और यूपी का प्रतिनिधित्व भी किया है.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

जब पत्नी की सेल्फियों से परेशान पति पहुंचा कोर्ट, जज ने पत्नी को सुनाई ये अजीबोगरीब सज़ा

BT Bureau

लखनऊ: पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित करे सरकार, शिया-सुन्नी उलेमाओं की मांग

S N Tiwari

‘समान नागरिक संहिता’ का सबसे ज्यादा फायदा मुस्लिम बहन-बेटियों को मिलेगा: अश्विनी उपाध्याय

Praveen Bajpai