Breaking Tube
Social

कोरोना: RSS 80 से ज्यादा सरस्वती शिशु मंदिर को बनाएगा आइसोलेशन सेंटर, कम्युनिटी किचन के जरिए भरेगा भूखों का पेट

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में देश और प्रदेश की सरकारों के साथ कई स्वयंसेवी संगठन अपने स्तर पर लोगों की मदद कर रहे हैं। वहीं, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) भी मदद के लिए आगे आया है। आरएसएस ने लखनऊ के माधव सभागार में 50 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनवाया है। साथ ही प्रदेश के 80 से ज्यादा सरस्वती शिशु मंदिर (Saraswati Shishu Mandir) और अन्य स्कूल-कॉलेजों को आइसोलेशन सेंटर में बदलने की तैयारी कर ली है।


यही नहीं, आरएसएस (RSS) ने 2 कम्युनिटी किचन भी स्थापित करने की बात कही है, जिसके जरिए रोजाना जरूरतमंद लोगों का पेट भरा जाएगा। सूत्रों ने बताया कि लखनऊ के माधव सभागार पर एंबुलेंस की गाड़ियां और कम्युनिटी किचन की व्यवस्था की गई है, जिससे जो भी लोग कोरोना से प्रभावित हैं, उन्हें जल्द से जल्द आइसोलेट किया जा सके।


Also Read: नोएडा: रोक के बावजूद भीड़ जुटाकर छत पर पढ़ाई नमाज, आयोजक मो. सालिक गिरफ्तार


इन सेंटर पर मात्र सैनिटाइजर बेड कम्युनिटी किचन के साथ-साथ ट्रांसपोर्टेशन की भी व्यवस्था है। इन आइसालेशन सेंटरों पर डॉक्टरों की भी टीम चौबीसों घंटे काम करेगी। इसके लिए मेडिकल कालेज और लोहिया के क़रीब 40 डॉक्टर समय-समय पर यहां आइसोलेट होने वाले मरीज़ों का इलाज करेंगे।


कोरोना वायरस अब थर्ड स्टेज में अपना रंग दिखा रहा है। देश की सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से बुधवार को दो लोगों की मौत हो गई। बस्ती निवासी युवक ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ा तो मेरठ में बुजुर्ग ने अंतिम सांस ली।


AlsO Read: दिल्ली: जमातियों ने बसों की खिड़कियों से सड़कों पर थूका, संक्रमण के चलते इलाके में अफरा-तफरी


उत्तर प्रदेश में अभी भी 117 लोग कोरोना वायरस पॉजिटिव हैं और करीब चार सौ लोग संदिग्ध हैं। इस जानलेवा वायरस के गहराते संक्रमण ने आज दो लोगों को अपना शिकार बना लिया। बस्ती निवासी 25 वर्षीय युवक ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ दिया।


किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी से आज ही इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इतनी कम उम्र में कोरोना की वजह से मौत का यह देश में पहला मामला है। इससे पहले बिहार में एक 38 साल के व्यक्ति की कोरोना ने जान ली थी। अब तक यह माना जा रहा था कि कोरोना वायरस से सबसे अधिक खतरा बुजुर्गों को, श्वास संबंधी रोग से ग्रसित मरीजों को, किडनी के मरीजों या कमजोर इम्यूनिटी वालों को है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, अब यूपी में डीजे बजाओगे तो 5 साल के लिए जेल जाओगे

S N Tiwari

CAA हिंसा: अलीगढ़ में लग रहे ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, तनाव की स्थिति बरकरार

BT Bureau

20 जुलाई से शुरू होगा, जिओफ़ोन मानसून धमाका ऑफर जानिए इससे जुड़ी कुछ खास बातें

Satya Prakash