यमुना एक्सप्रेस वे पर अब इस स्पीड में दौड़ेंगे वाहन, नियम तोड़ने पर लगेगा भारी जुर्माना

जैसे जैसे सर्दियां बढ़ने लगी हैं, वैसे-वैसे सरकार ने सड़क हादसों को रोकने के लिए कदम उठाने शुरू कर दिये हैं. दरअसल, ऐसा इसलिये किया जा रहा है क्योंकि माना जाता है कि, 15 दिसंबर से 15 फरवरी के बीच हर साल यमुना एक्सप्रेसवे पर सड़क हादसों में इजाफा होता है, जिसका मुख्य कारण तेज रफ़्तार और कोहरा है. ऐसे में अब यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी ने यमुना एक्सप्रेसवे पर आने जाने वाली गाड़ियों की स्पीड पर ब्रेक लगा दिया है. अगर कोई नियमों को तोड़ कर गाड़ी चलाएगा तो उसे भारी जुर्माना देना पड़ेगा.

रखनी होगी इतनी स्पीड

जानकारी के मुताबिक, अक्सर तेज रफ्तार की वजह से गाड़ियां किनारे खड़ी दूसरी गाड़ियों से टकरा जाती है. हालांकि एक्सप्रेसवे पर स्पीड कैमरे लगे हैं, लेकिन बावजूद इसके रफ्तार पर लगाम नहीं लग पाती है. लिहाजा यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी ने स्पीड लिमिट को कम करने का फैसला लिया है.

बता दें कि, अभी यमुना एक्सप्रेसवे पर वाहनों के लिए तय स्पीड 100 किमी/घंटे है. 15 दिसंबर से छोटे वाहनों के लिए अधिकतम स्पीड लिमिट 80 किमी/घंटे और भारी वाहनों के लिए 60 किमी/घंटे रहेगी. ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि भारी वाहन की गति तेज होने की वजह से उन्हें अचानक से रुकने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. जो कोई भी इस स्पीड लिमिट का पालन नहीं करेगा, उसपर जुर्माना लगाया जाएगा.

सीईओ ने दी जानकारी

मामले की जानकारी देते हुए डॉ. अरुणवीर सिंह, सीईओ यमुना प्राधिकरण ने बताया कि, यमुना एक्सप्रेसवे पर हादसों को रोकने के लिए हर साल रफ्तार कम कर दी जाती है. इस बार भी 15 दिसंबर से रफ्तार कम कर दी जाएगी. इसके अलावा जेपी से एक्सप्रेसवे पर जल्द ही कुछ टोल बूथ को शुरू कराने के निर्देश दिए हैं.

Also Read: UP में जेईई-नीट की तैयारी कर रहे छात्रों को तोहफा, हर जिले में लाइब्रेरी की सुविधा उपलब्ध कराएगी योगी सरकार

 

 

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )