Breaking Tube : #1 News Portal of Uttar Pradesh
Sports

IND vs RSA: कप्तान विराट ने बताई कुलदीप यादव के बाहर होने की वजह, मोहम्मद शामी की करी जमकर तारीफ़

स्पोर्ट्स: भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने पिछले तीन साल में सिर्फ एक बार टेस्ट मैच में हार का स्वाद का चखा है. इस मुद्दे पर कप्तान विराट कोहली बोले- ‘पिछले तीन वर्षों में सबसे कम मैच गंवाने का प्रतिशत हमारे नाम है और इसके लिए अच्छी वजह है. जाहिर है टीम में लचीलापन है, लेकिन जैसा कि मैंने कहा अगर टीम साथ नहीं दे तो यह संभव नहीं होगा


भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली अपनी टीम के खिलाडियों के निस्वार्थ रवैये से काफी खुश है और साथ ही उनके जोश और जूनून को देखकर उनकी तारीफ़ भी करते रहते हैं. जिससे तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी के खेल में बदलाव आया और कुलदीप यादव को पता है कि वह टीम से क्यों बाहर हुए है. कभी चोटों से परेशान रहने वाले शमी ने सपाट पिच पर धारदार गेंदबाजी की जिससे विराट कोहली बहुत ही ज्यादा प्रभावित हैं. कोहली ने दूसरे टेस्ट की पूर्व संध्या पर बुधवार को कहा, ‘अब अधिक जिम्मेदारी के साथ खेल रहे है. हमें अब कुछ बताने की जरूरत नहीं होती. हमें अब यह कहने की जरूरत नहीं होती आपको हमारे लिए यह स्पैल डालना होगा. जब उन्हें गेंद सौपी जाती है तब वह मैच की परिस्थिति को अच्छे से समझते हैं. शमी जहां पूरी तरह लय में है वही युवा चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यह सोच रहे होंगे कि अपने पिछले टेस्ट ( ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में ) में पांच विकेट लेने के बाद भी वह टीम से बाहर क्यों है.


https://twitter.com/BCCI/status/1181827887235649536

इस बात पर विराट ने कहा कि कुलदीप जानता है कि उन्हें अंतिम 11 में जगह क्यों नहीं मिली है. टीम में कोई भी स्वार्थी नहीं है और हर कोई यह सोचता है कि वह टीम के लिए क्या कर सकता है. कुलदीप के बारे में भी ऐसा ही है. वह समझते हैं कि भारत में खेलते समय अश्विन और जडेजा हमारी पहली पसंद होंगे क्योंकि वे बल्ले से भी योगदान देने में सक्षम है’ पिछले कुछ वर्षों में भारतीय टीम प्रबंधन ने टेस्ट मैचों में अक्सर अपने संयोजन में बदलाव किया है और कप्तान कोहली से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अगर आप नतीजे देखेंगे तो समझ जाएंगे कि ऐसा क्यों किया गया है. कोहली ने कहा, ‘हम पिछले दो साल से जो कर रहे है उसके बारे में काफी चर्चा हो रही है. हमारा सिर्फ एक मकसद होता है जोकि ज्यादा से ज्यादा मैच जीतने का है. हम ऐसा करने में कामयाब रहे है’


कप्तान के तौर पर पिछले तीन साल में सिर्फ एक टेस्ट मैच में हार का स्वाद चखने वाले कोहली ने कहा, ‘पिछले तीन वर्षों में सबसे कम मैच गंवाने का प्रतिशत हमारे नाम है और इसके लिए अच्छी वजह है. जाहिर है टीम में लचीलापन है, लेकिन जैसा कि मैंने कहा अगर टीम साथ नहीं दे तो यह संभव नहीं होगा.’ शमी की तारीफ करते हुए कप्तान ने कहा सपाट और बिना मदद वाली पिचों से भी सीम मूवमेंट हासिल करने की कला उन्हें विशेष बनाती है. उन्होंने कहा, ‘हम जैसी पिचों पर खेलते है, मुझे नहीं लगता कोई भी शमी की तरह सीम मूवमेंट हासिल करने में सफल रहता है. वह ऐसे खिलाड़ी है जो विपरीत परिस्थितियों में भी मैच के रुख को पूरी तरह से पलट देते है. आप उनके कौशल को देख सकते है. खास कर दूसरी पारी में जब मुश्किल स्थिति होती है तब वह हर बार अपना काम शानदार तरीके से करते है’


मैच के सभी खिलाडियों का जोश, जुनून और उनकी क्षमता देखकर कप्तान कोहली काफी आश्चर्यचकित हैं. टीम में तीसरे तेज गेंदबाज को शामिल करने को नकारते हुए उन्होंने कहा, ‘हमारी टीम लगभग स्थिर है और मुझे नहीं लगता कि पिच की भूमिका बहुत ज्यादा होगी क्योंकि जब पिच में नमी होती है तब भी गेंद को घुमाव भी मिलता है. ऐसा नहीं है कि सिर्फ तेज गेंदबाज ही प्रभावी होंगे, स्पिनर भी प्रभावी होंगे.


Also Read:नोरा फतेही ने शेयर किया अपने नए गाने ‘एक तो कम जिंदगानी’ का टीज़र, Video देख आप भी हो जाएंगे दीवाने


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

SLvsPAK: लाइव मैच में बत्ती गुल, स्टेडियम में जलता रहा मात्र एक बल्ब, दर्शक बोले- लाइट के पैसे नहीं और गधों को कश्मीर चाहिए

S N Tiwari

भारतीय टीम के पूर्व गेंदबाज इरफ़ान पठान ने कहा- फिल्मों में काम करने के लिए इस्लाम से समझौता नहीं कर सकता

S N Tiwari

दीपा करमाकर का जलवा बरकरार, विश्व कप के फाइनल दौर के लिए किया क्वालीफाई

admin