CM योगी के निर्देश पर जर्मनी में रोड शो के जरिए व्यापारिक संगठनों को यूपी में निवेश के लिए किया गया आमंत्रित

अगले वर्ष 10 से 12 फरवरी के मध्य लखनऊ में होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के लिए विदेशों में योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार के प्रतिनिधिमंडल का रोड शो शुरू हो गया है। जर्मनी की राजधानी फ्रैंकफर्ट में सीएम योगी के निर्देश पर एक प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को रोड शो के जरिए विदेशी निवेशकों को उत्तर प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया। इससे पहले गुरुवार को भी योगी सरकार के प्रतिनिधिमंडल ने फ्रैंकफर्ट में भारतीय व्यापारिक नेताओं से मुलाकात की और भारतीय उद्योग समुदाय को उत्तर प्रदेश में अपने व्यापार का विस्तार करने और यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के आयोजन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। इस प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता (नंदी) और लोक निर्माण विकास मंत्री जितिन प्रसाद ने की। इनके साथ खेल एवं युवा कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल, आबकारी आयुक्त सेंथिल सी पांडियन और एमएसएमई विभाग के सचिव प्रांजल यादव सहित वरिष्ठ सरकारी अधिकारी मौजूद रहे।

कई व्यापारिक प्रमुखों से रात्रि भोज में की मुलाकात
योगी सरकार का प्रतिनिधिमंडल 8 दिसंबर को फ्रैंकफर्ट पहुंचा और पहुंचते ही अपना मिशन शुरू कर दिया। प्रतिनिधिमंडल ने जर्मनी के काउंसिल जनरल द्वारा आयोजित डिनर के दौरान कुछ विख्यात भारतीय व्यापारिक समूहों के प्रमुखों से मुलाकात की। इस अवसर पर प्रतिनिधिमंडल ने इन व्यापारिक प्रमुखों से उत्तर प्रदेश को अपने निवेश गंतव्य के रूप में चुनने का आग्रह किया। इस अवसर पर लॉजिस्टिक, टेक्सटाइल, हेल्थकेयर एंड फार्मा, टूरिज्म, ऑटोमोटिव और ईवी जैसे क्षेत्रों में निवेश और कौशल विकास व कुशल-श्रम के आदान-प्रदान पर भी चर्चा की गई। वहीं योगी सरकार के प्रतिनिधिमंडल ने फ्रैंकफर्ट में सैमसन एजी मुख्यालय का दौरा किया और सैमसन के सीईओ एंड्रियास विडल को यूपीजीआईएस-23 के लिए आमंत्रित किया। मालूम हो कि सैमसन एजी आरएंडडी और ग्रीन हाइड्रोजन निर्माण का उत्तर प्रदेश में करना चाहती है। इससे पहले यूरोप मदरसन ग्रुप के अध्यक्ष एवं कार्यालय के प्रमुख एंड्रियास ह्यूसर ब्रुचकोबेल ने यूपी सरकार के प्रतिनिधिमंडल का स्वागत किया।

कई उद्योग समूहों के प्रमुख रहे शामिल
इन भारतीय उद्योगपतियों में ट्रेल ब्लेजर टूर्स इंडिया के वरिष्ठ उपाध्यक्ष शांतनु मोहन, क्रिस्टल एंड सोमास के प्रबंध निदेशक विजय कपूर, सीएसए हेल्थकेयर की प्रबंध भागीदार चित्रा अग्रवाल, स्काईवेज लॉजिस्टिक्स के बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर गौतम मेहता और होराइजन इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष डॉ. सतीश के बत्रा शामिल हैं। इस अवसर पर फ्रैंकफर्ट में भारत के काउंसल जनरल डॉ. अमित तेलंग और फ्रैंकफर्ट स्थित वाणिज्य दूतावास के सदस्य रात्रिभोज में प्रतिनिधिमंडल के साथ शामिल हुए। जर्मनी में रोड शो के माध्यम से उत्तर प्रदेश सरकार का प्रतिनिधिमंडल सैमसन, कॉन्टिनेंटल एजी, इनोप्लेक्सस एजी, ज़ैक टेक्नोलॉजीज जीएमबीएच जैसी जर्मन कंपनियों से संपर्क करेगा और उत्तर प्रदेश के लिए निवेश के इंटेंट तैयार करेगा।

18 देशों में होना है रोड शो
उल्लेखनीय है कि आगामी यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के लिए उत्तर प्रदेश सरकार 18 देशों और देश के 7 प्रमुख शहरों में रोड शो के जरिए स्वयं निवेशकों तक पहुंच रही है। इसके माध्यम से निवेशकों को उत्तर प्रदेश में निवेश के लिए आकर्षित किया जाएगा और उनके निवेश के इंटेंट को जानने की कोशिश की जाएगी। इसी तरह का रोड शो जर्मनी में किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा निर्धारित अगले पांच वर्षों में राज्य को वन ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को प्राप्त करने की पहल में यूपी-जीआईएस 2023 का आयोजन किया जाना तय हुआ है।

Also Read: CM योगी की बदमाशों को चेतावनी- ‘छेड़खानी करने वाले अब अगले चौराहे तक पहुंचने से पहले होंगे ढेर, संभल जाएं’

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )