Breaking Tube
Crime UP News

बाराबंकी: पुलिस मुठभेड़ में मारा गया 1 लाख का ईनामी बदमाश टिंकू कपाला, यूपी समेत महाराष्ट्र-गुजरात में भी कर चुका था कई क्राइम

बीते कई सालों से यूपी पुलिस के सिरदर्द बने टिंकू कपाला को स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने मुठभेड़ में मार गिराया है. टिंक कपाला (Tinku Kapala) लखनऊ का शातिर बदमाश व एक लाख रुपए का ईनामी था. बता दें कि मुठभेड़ में टिंकू कपाला को गोली लगी, जिसके बाद उसे अस्पताल इलाज के लिए भर्ती कराया गया. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. मुठभेड़ में मारे गए टिंकू पर 15 से अधिक आपराधिक मुकदमे दर्ज बताए जा रहे हैं. पुलिस को इसकी लंबे समय से तलाश थी. उस पर लखनऊ के विभिन्न थानों में कई गंभीर मुकदमे दर्ज थे. इसके अलावा टिंकू कपाला पर अपराध के कुछ मामले महाराष्ट्र और गुजरात में भी दर्ज थे.


साल 2019 में टिंकू ने कृष्णानगर स्थित आरके ज्वैलर्स में डकैती डालकर दो लोगों की हत्या की थी. इस मामले में पुलिस ने उसके साथियों को पकड़ा था, लेकिन टिंकू पुलिस को चकमा दिए था. एसटीएफ को मौके से असलहा और कारतूस मिले हैं. उसके साथी की तलाश की जा रही है. स्पेशल टास्क फोर्स के आईजी अमिताभ यश ने बताया कि टिंकू कपाला चौक के निवाजगंज स्थित दिलाराम बरादारी मोहल्ले का रहने वाला था. उसके खिलाफ डकैती, लूट, हत्या, हत्या के प्रयास व आर्म्स एक्ट समेत अन्य संगीन धाराओं में दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज थे. लंबे समय से पुलिस व एसटीएफ की टीमें उसकी तलाश कर रही थीं.


शुक्रवार रात एसटीएफ को सूचना मिली कि टिंकू कपाला किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के इरादे से लखनऊ-बाराबंकी सीमा पर आने वाला है. उक्त सूचना पर एसटीएफ ने बाराबंकी के सतरिख इलाके में जाल बिछाकर घेराबंदी की. इस पर टिंकू ने एसटीएफ के जवानों पर फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश की. एसटीएफ की जवाबी फायरिंग में उसे कई गोलियां लगी और वह ढेर हो गया.


बता दें, टिंकू कपाला उत्तर प्रदेश पुलिस के लिए काफी बड़ा सिरदर्द बना हुआ था. लखनऊ में भी पिछले साल एक ज्वैलर्स लूट और हत्याकांड में इसका हाथ था. इसकी गिरफ्तारी पर लखनऊ पुलिस की तरफ से एक लाख का इनाम घोषित किया गया था. बाराबंकी के एसपी डॉ अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि टिंकू के खिलाफ 27 मुकदमे हैं, इसमें अधिकतर लूट और हत्या की गंभीर धाराओं में दर्ज थे. लखनऊ में पिछले साल कृष्णानगर में ज्वैलर्स के यहां एक बड़ी घटना हुई थी, जिसमें दो लोगों की हत्या हुई थी, उसका ये मुख्य आरोपी था. इस पर लखनऊ में एडीजी जोन की तरफ से एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया था. मुठभेड़ के दौरान इसका एक साथी फरार हो गया. जिसे पकड़ने के लिए 6 थानों की फोर्स लगाई गई है. फिलहाल काम्बिंग की जा रही है. उसे भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.


Also Read: गोंडा: पुलिस ने अगवा बच्चा छुड़ाया, महिला समेत 5 गिरफ्तार, मांगी थी 4 करोड़ की फिरौती


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

महिला सिपाही के एकतरफा प्यार में पागल हुआ कांस्टेबल, पीड़िता ने इंस्पेक्टर से लगाई मदद की गुहार

Jitendra Nishad

पूर्व BSP नेता पिंटू ठाकुर की दिनदहाड़े हत्या से दहला कानपुर, सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष के घर के सामने गोलियों से भूना

Jitendra Nishad

सहारनपुर: संदिग्ध हालात में सिपाही की मौत, कोरोना जांच को गया सैंपल

BT Bureau