Breaking Tube
Crime Politics UP News

सीएम योगी के गृह जनपद में 14 वर्षीय मासूम की अपहरण के बाद हत्या, अखिलेश-प्रियंका ने साधा निशाना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के गृह जनपद गोरखपुर (Gorkhpur) से एक 14 साल बच्चे की किडनैपिंग के बाद हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है. पुलिस ने बच्चे का शव अभियुक्त की निशानदेही पर गांव के पास की एक नहर से बरामद कर लिया है. इस मामले में पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, आरोपियों से पूछताछ की जा रही है. वहीं विपक्षी दल कानून व्यवस्था को लेकर एक बार फिर सरकार पर हमलावर हो गए हैं, अखिलेश यादव औऱ प्रियंका गांधी इसे लेकर सरकार को घेरा है.


जानें क्या है पूरा मामला ?

जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला पिपराइच इलाके के जंगल छत्रधारी, टोला मिश्रौलिया का बताया जा रहा है. जहां निवासी महाजन गुप्त, घर में ही किराना दुकान चलाते हैं. वे जमीन के कारोबार से भी जुड़े हैं. उनका बेटा बलराम रविवार को दोपहर 12 बजे के आसपास खाना खाने के बाद टीशर्ट और पैंट पहनकर दोस्तों के साथ खेलने निकला था. उसके बाद से घर नहीं लौटा. तीन बजे महाजन गुप्त के मोबाइल पर अनजान नंबर से फोन आया.फोन करने वाले ने बताया कि बलराम का अपहरण कर लिया गया है.


1 करोड़ की मांगी फिरौती

किडनैपर्स ने उसे छुड़ाने के लिए 1 करोड़ रुपये का इंतजाम करने की बात कह उसने फोन काट दिया. महाजन ने पलट कर उस नंबर पर फोन किया, तो मोबाइल स्विच आफ मिला, लेकिन थोड़ी देर बाद 10-10 मिनट के अंतराल पर उसी नंबर से दो बार फोन आया. महाजन को बेटे के अगवा होने की बात पर भरोसा नहीं हो रहा था, इसलिए उन्होंने पहले गांव में उसकी तलाश की. पता न चलने पर लोगों को बेटे के अपहरण और फिरौती के लिए आए फोन की जानकारी दी. शाम पांच बजे 112 नंबर पर फोन कर उन्होंने पुलिस को सूचना दी. कुछ ही देर में क्षेत्राधिकारी चौरीचौरा रचना मिश्रा के अलावा पिपराइच और गुलरिहा थाने की पुलिस तथा क्राइम ब्रांच तथा एसटीएफ गोरखपुर की टीम मौके पर पहुंच गई.


घर से 5 किमी दूर बरामद हुई लाश

एक करोड़ की फिरौती के लिए बच्चे के अपहरण से इलाके में हड़कंप मच गया. वहीं मामले की गंभीरता को देखते हुए क्राइम ब्रांच से लेकर एक विशेष टीम बच्चे की बरामदगी के लिए लगाई गई. लेकिन आज गांव से 5 किलोमीटर दूर केवटहिया में बच्चे की लाश बरामद हुई है. जिसके बाद पुलिस शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. कारोबारी की पांच बेटियों में बलराम इकलौता बेटा था. कारोबारी ने बताया कि करीब एक वर्ष पहले भी अपने रिश्तेदार के घर से गायब हो गया था, उस समय चार-पांच दिन बाद वह पुलिस को कुसम्ही जंगल में मिला था.


4 आरोपी गिरफ्तार

इस बीच पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. उन्हीं की निशानदेही पर शव बरामद किया गया. आरोपियों से थाने में पूछताछ की जा रही है. बताया जा रहा है कि रविवार शाम 5 बजे ही आरोपियों ने बच्चे की हत्या कर दी थी. बच्चे का शव मिलने के बाद परिवार में मातम छाया हुआ है. वहीं इलाके में दहशत का माहौल है.


अखिलेश-प्रियंका ने साधा निशाना

किडनैपिंग के बाद हत्या मामले को लेकर विपक्ष ने एक बार फिर कानून व्यवस्था पर सरकार को घरना शुरू कर दिया है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शोकाकुल परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए यूपी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि लगातार अपहरण और हत्याओं के बावजूद भी भाजपा सरकार का निर्लज्ज मौन और निष्क्रियता प्रश्नचिन्ह के घेरे में है. वही प्रियंका गांधी ने कासगंज और गोरखपुर की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि यूपी में हर दिन गुंडाराज के नए रिकॉर्ड बन रहे हैं. महज दिखावे के लिए सिर्फ कुछ ट्रांसफर कर दिए जाते हैं.


Prem Kumar Tripathi

Also Read: कासगंज ट्रिपल मर्डर: अखिलेश यादव बोले- लगता है प्रदेश की बागडोर BJP के हाथों से निकल बदमाशों के हाथ चली गई है


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बुलंदशहर हिंसा: सीएम योगी ने विपक्षी लोगों को बताया घटना का ‘राजनीतिक षड्यंत्रकारी’

BT Bureau

मेरठ: बैंगलोर के दलित युवक नवीन का सिर काटने वाले को दूंगा 51 लाख का ईनाम, पूर्व SP नेता शाहजेब रिजवी का ऐलान

BT Bureau

यूपी: डिप्टी सीएम बोले- सपा, बसपा और कांग्रेस खेल रहे उपद्रवियों के तुष्टीकरण का टी-20 मैच

BT Bureau