Breaking Tube
Corona Politics UP News

योगी आदित्यनाथ खुद वैक्सीन लगवाकर शुरू करें कोरोना टीकाकरण अभियान, ताकि प्रदेश के लोगों में न रहे कोई संदेह : अजय लल्लू

Ajay Kumar Yogi Adityanath Lallu corona vaccination

देश भर में 16 जनवरी से कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है। वहीं, इसे लेकर राजनीतिक बयानबाजियों का सिलसिला भी जारी है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) से वैक्सीन लगवाकर कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) अभियान की शुरुआत करने की अपील की है।


दरअसल, गुरुवार को मीडिया से बातचीत के दौरान यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि मैं योगी आदित्यनाथ जी से आग्रह करता हूं कि वे पहले खुद टीका लगवाएं और फिर टीकाकरण शुरू करें ताकि ताकि प्रदेश के लोगों में कोई संदेह न रहे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 16 जनवरी को देश भर में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे। इसके अलावा पीएम मोदी वैक्सीनेशन के लिए जरूरी को-विन ऐप को भी लॉन्च करेंगे।


Also Read: बसपा चीफ मायावती की कार्यकर्ताओं से अपील- ‘जनकल्याणकारी दिवस’ के रूप में मनाएं मेरा 65वां जन्मदिन


16 जनवरी यानी शनिवार से पूरे देश में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण का कार्यक्रम शुरू होगा। यह कोरोना के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान है। भारत में कोरोना की दो वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी मिली है, इनमें सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे की ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक की ‘कोवैक्सीन’ शामिल हैं। इसके अलावा भी देश में 4 और वैक्सीन लाइनअप में हैं।


कोविशील्ड’ की पहली खेप मंगलवार को ही देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंच गई है। वहीं, भारत बायोटेक की ‘कोवैक्सीन’ की पहली खेप बुधवार को दिल्ली समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंच गई है। कोरोना वैक्सीन लोगों को प्राथमिकता के आधार पर लगाई जानी है। पहले चरण में करीब 3 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी, जिनमें सबसे पहले हेल्थवर्कर्स को कोरोना का टीका लगेगा। हेल्थवर्कर्स को कोविशील्ड का डोज दिया जाएगा।


Also Read: सपा सांसद का विवादित बयान, बोले- राम मंदिर का चंदा जमा करने वालों पर होगा पथराव


इसके बाद बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स, 50 साल से अधिक उम्र वाले लोगों और गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को वैक्सीन की डोज दी जाएगी। बता दें कि 3 जनवरी को दवा नियामक ने अपनी सुरक्षा और इम्युनोजेनेसिटी डेटा के आधार पर दोनों टीकों को मंजूरी देने की घोषणा की थी। सरकार ने कहा है कि दोनों टीकों का हजारों लोगों पर परीक्षण किया गया है और वे सबसे सुरक्षित हैं।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

CAA Protest: मायावती बोलीं- बिना जांच निर्दोषों को जेल भेजना शर्मनाक, माफी मांगे सरकार

BT Bureau

हामिद अंसारी की हुई घर वापसी, मां ने कहा- मेरा भारत महान, मेरी मैडम महान

BT Bureau

Covid-19: अगर लॉकडाउन की अवधि बढ़ी तो 83 फीसदी कारोबारी नहीं दे पाएंगे कर्मचारियों को सैलरी

Jitendra Nishad