Breaking Tube
Crime Politics UP News

कैसे रूकेगा लव जिहाद? बीजेपी नेता ने बताया स्थायी समाधान

उत्तर प्रदेश के कानपुर में फिजा फातिमा बन चुकी शालिनी यादव मामला सामने आने के बाद देश में लव जिहाद (Love JIhad) पर बहस एक बार फिर से शुरू हो गई है. देखते ही देखते देखते मजहबी फरेब की परते उधड़ने लगी हैं. एकाएक जिले से 16 मामले सामने आकर खड़े हो गए हैं. एसआईटी जांच में लव जिहाद के लिए पाकिस्तान से फंडिंग की बात सामने आ रही है. लव जिहाद पर मचे घमासान के बीच बीजेपी नेता औऱ सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय (Ashwini Upadhyay) ने इसकी रोकथाम के लिए स्थायी समाधान बताया है.


अश्विनी उपाध्याय ने शनिवार को ट्वीट कर लिखा, “LoveJihad की फंडिंग हवाला से होती है. यदि 100₹ से बड़े नोट और 5,000₹ से महंगे सामान का कैश लेनदेन बंद कर 50,000₹ से महंगी संपत्ति को आधार से लिंक किया जाए तथा कालाधन-बेनामी संपत्ति 100%जब्त कर आय से अधिक संपत्ति वालों को आजीवन कारावास दिया जाए तो #लव_जिहाद भी समाप्त हो जाएगा”.



उपाध्याय यहीं नहीं रूके उन्होंने एक औऱ ट्वीट कर लिखा, “जासूसों की फंडिंग हवाला से, जिहादियों की फंडिंग हवाला से, नक्सलियों की फंडिंग हवाला से, मिशनरियों की फंडिंग हवाला से, पत्थरबाजों की फंडिंग हवाला से, चरमपंथियों की फंडिंग हवाला से, माओवादियों की फंडिंग हवाला से, अलगाववादियों की फंडिंग हवाला से, 50% समस्याओं का मूल कारण भ्रष्टाचार है”.



बता दें कि इससे पहले अश्विनी उपाध्याय धर्मांतरण विरोधी कानून बनाने की मांग कर चुके हैं. उनका कहना है कि लद्दाख से लक्षदीप तक और कच्छ से कामरूप तक साम दाम दंड भेद द्वारा धर्मांतरण और निकाह की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं इसलिए धर्मांतरण और लव जिहाद के खिलाफ एक कठोर और प्रभावी कानून बनाना नितांत आवश्यक है.


उपाध्याय के मुताबिक देश के कई राज्यों में हिंदू पहले ही अल्पसंख्यक हो चुके हैं इसके बावजूद बड़े पैमाने पर गरीब हिंदुओं का धर्मपरिवर्तन हो रहा है. लक्षद्वीप और मिजोरम में हिंदू अब मात्र 2.5% तथा नागालैंड में 8.75% बचे हैं. मेघालय में हिंदू अब 11%, कश्मीर में 28%, अरुणाचल में 29% और मणिपुर में 30% बचे हैं और जिस प्रकार से बहुत ही सुनियोजित ढंग से धर्मपरिवर्तन का गोरखधंधा चल रहा है, यदि उसे तत्काल नहीं रोका गया तो आने वाले 10 वर्षों में स्थिति अत्यधिक भयावह हो जायेगी. भारत विरोधी शक्तियां धर्मपरिवर्तन और जनसंख्या विस्फोट के माध्यम से पूरे हिंदुस्तान में हिंदुओं को अल्पसंख्यक बनाना चाहती हैं.


नब्बे के दशक तक धर्मांतरण कराने वाली संस्थायें गाँव के गरीब किसान मजदूर दलित शोषित और पिछड़ों को ही टारगेट करती थीं लेकिन आजकल इन्होंने कस्बों और शहरों में भी अपना जाल बिछा लिया है. उत्तरपूर्व के राज्यों में धर्मांतरण कराने के लिए हिंदू नहीं बचे हैं इसलिए ये संस्थायें अब उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्यप्रदेश जैसे बड़े राज्यों में बहुत ही सुनियोजित तरीके से गरीब हिंदुओं का धर्मांतरण कर रहीं हैं. पिछले 10 साल में इन्होंने दिल्ली, हरियाणा और पंजाब जैसे राज्यों में भी किसान, मजदूर, दलित, शोषित और पिछड़ों को टारगेट करना शुरू कर दिया है. देश की राजधानी में भी बहुत ही सुनयोजित तरीके से अंधविश्वास कालाजादू द्वारा धर्मांतरण का खेल चल रहा है.


बीजेपी नेता के मुताबिक धर्मांतरण कराने वाले लोग अंधविश्वास और चमत्कार के सहारे गरीब किसान मजदूर दलित शोषित और पिछड़ों को अपने झांसे में लेते हैं और धर्मांतरण विरोधी कानून के अभाव में शिकायत के बाद भी पुलिस कुछ नहीं कर पाती है. हमारे वेद पुराण गीता रामायण और अन्य धार्मिक ग्रंथों में कर्म को ही प्रधान बताया गया है. संविधान के आर्टिकल 51A के अनुसार सभी नागरिकों की यह ड्यूटी है कि वे अपनी रीति-रिवाजों को वैज्ञानिक तरीके से सोचें और आवश्यकतानुसार उसमें सुधार करें लेकिन कानून के अभाव में धर्मांतरण कराने वाले जादू-टोना और अंधविश्वास को बढ़ावा दे रहे हैं.


कुछ राज्यों ने धर्मांतरण विरोधी और अंधविश्वास विरोधी कानून बनाया है लेकिन ये कानून बहुत ही कमजोर हैं. यही कारण है कि धर्मांतरण और अंधविश्वास की बढ़ती घटनाओं के बावजूद आजतक किसी को कठोर सजा नहीं हुयी. इसलिए एक कठोर धर्मांतरण विरोधी कानून तथा एक प्रभावी अंधविश्वास विरोधी कानून बनाने की अति आवश्यकता है.


Also Read: लव जिहाद: हिंदू लड़कियों को फंसाने और मुसलमान बनाने के लिए पाकिस्तान से हो रही फंडिंग, SIT जांच में बड़ा खुलासा


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

ममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के दो विधायक BJP में शामिल, 50 पार्षदों ने भी बदला पाला, तीन नगरपालिकाओं पर कब्जा

BT Bureau

जब योगी के गोरखपुर जाने की कहानी बताते हुए फूट-फूटकर रोने लगे पिता

BT Bureau

कांग्रेस MLA समेत 4 लोगों पर महिला को छेड़ने का आरोप, दी जान से मारने की धमकी

BT Bureau