Breaking Tube
Crime Politics UP News

अतीक का अब तक 300 करोड़ का अवैध साम्राज्य ध्वस्त, गिराने में लगा खर्च भी माफिया से वसूलेगी सरकार

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Adityanath Government) प्रदेश के बाहुबली अपराधियों पर लगातार शिकंजा कसती जा रही है. बीते कुछ महीनों में लिए गए सख्त एक्शन से अपराधियों की चूलें हिल गई हैं. इस कार्रवाई में सबसे ज्यादा अगर कोई नाम चर्चा में रहा तो वह है फूलपुर के पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद (Atiq Ahmad). प्रशासन अतीक और उसके गुर्गों की काली कमाई से बनाई गईं अवैध सम्पत्तियों को चुन-चुन कर जमींदोज कर रहा है. पुलिस हर उस शख्स तक पहुंच रही है जिसके तार अतीक अहमद से जुड़े हुए हैं. वह अभी गुजरात की अहमदाबाद जेल में बंद है.


अवैध साम्राज्य गिराने में आया खर्च भी अतीक से वसूला जाएगा

योगी सरकार ने ऑपरेशन नेस्तनाबूद के तहत नेता अतीक अहमद से जुड़ी 300 करोड़ की अवैध और बेनामी संपत्तियों पर अब तक प्रशासन कार्रवाई कर चुका है. इसके अलावा अतीक अहमद के करीबियों पर भी शिकंजा कसते हुए उनकी अवैध संपत्तियों पर बुलडोजर चला है. पीडीए (प्रयागराज विकास प्राधिकरण) और जिला प्रशासन भारी पुलिस बल की मौजूदगी में पूरी कार्रवाई को अंजाम देती है. पीडीए अतीक और उसके करीबियों के अवैध साम्राज्य को ध्वस्त करने में आए खर्च का लेखा-जोखा तैयार कर रहा है. इस धनराशि को अब अतीक अहमद से ही वसूला जाएगा.


ध्वस्तीकरण की कार्रवाई में खत्म हुए करीब 25 लाख

बीते एक महीने से बाहुबली अतीक अहमद, उसके गुर्गों और क​रीबियों के खिलाफ चल रही कार्रवाई में तकरीबन 100 दिहाड़ी मजदूरों को लगाया गया है. इस काम में 30 से ज्यादा जेसीबी मशीनों का इस्तेमाल हो रहा है. पीडीए के आला अधिकारी और पुलिस जवान इस काम में लगे हैं. इन सबमें सरकार का काफी पैसा खर्च हुआ है. पीडीए के जोनल अधिकारी श्री सत शुक्ला बताया कि एक मजदूर पर तकरीबन 500 रुपए और एक जेसीबी मशीन पर 1 घंटे के हिसाब से 1000 रुपए का खर्च आता है. अतीक अहमद के खिलाफ हुई कुर्की, जब्ती की कार्रवाई पर कुल 25 लाख रुपए अनुमानित राशि खर्च हुई है. अब पूर्व सांसद से ही इस राशि की वसूली होगी.


अतीक पर हुईं कार्रवाईयों का ब्यौरा

पूर्व सांसद अतीक अहमद की 9 संपत्तियों पर पांच से 22 सितंबर तक बुलडोजर चला. कई संपत्तियां कुर्क की गई हैैं. प्रयागराज के चकिया में 50 करोड़ का पुश्तैनी आशियाना ही नहीं उसका रसूख भी ढहा दिया गया. कर्बला में जिस दफ्तर के तीन हिस्सों को ढहाया गया, उसकी कीमत लगभग 12 करोड़ है. झूंसी के अंदावा में 10 हजार वर्गमीटर में फैला कोल्ड स्टोरेज करीब 30 करोड़ का है. यह अतीक की बीवी शाइस्ता के नाम था. लूकरगंज में 85 करोड़ के दो भूखंडों से कब्जा छीना गया.


सिविल लाइंस स्थित एमजी मार्ग पर ढहाया गया सात करोड़ का दो मंजिला व्यावसायिक भवन करीब 580 वर्गमीटर में था. नवाब युसुफ रोड पर नजूल भूमि पर बना 10 करोड़ का मकान भी ढहाया जा चुका है. इसी तरह करेली में गुर्गे असाद से चार करोड़ की 10 बीघा भूमि मुक्त कराई गई. चचेरे भाई हमजा के कब्जे से 10 करोड़ की जमीन मुक्त तो हाईकोर्ट के पास नजूल भूमि पर बना अतीक के साढ़ू इमरान का होटल व दफ्तर ढहाया गया. इसकी कीमत करीब आठ करोड़ है. कौशांबी जिले के हटवा गांव में अतीक के छोटे भाई अशरफ के साले जैद का 30 करोड़ का आशियाना भी ढहा दिया गया.


Also Read: कानपुर में लव जिहाद के बाद अब ‘हिंदुस्तान मुर्दाबाद-पाकिस्तान जिंदाबाद’, नारा लगाने वाले अब्दुल रहमान की तलाश में जुटी पुलिस


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी: मुजफ्फरनगर में शख्स को खुले में अंडरवियर में सुखाना पड़ा भारी, FIR दर्ज

BT Bureau

Video: छापा मारने पहुंची हरदोई पुलिस और गोतस्करों में मुठभेड़, 14 क्विंटल गोमांस बरामद, मुजीब और हसीब गिरफ्तार

S N Tiwari

दिल्ली: जंतर- मंतर में मुस्लिम युवक ने लगाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, वीडियो वायरल

S N Tiwari