Breaking Tube
Police & Forces UP News

UP: पुलिसकर्मी की हरकत पर विभाग में मचा हड़कंप, CM योगी ने DGP को कर लिया तलब

Ballia police constable

उत्तर प्रदेश के बलिया में कोर्ट परिसर में बम होने की सूचना से हड़कंप मच गया। आनन-फानन में भारी पुलिस फोर्स कचहरी पहुंच गई। यहां सघन तलाशी अभियान चलाया गया। पुलिस की छानबीन के बाद कोर्ट परिसर में बम की सूचना अफवाह निकली। बताया जा रहा है कि एक पुलिस कांस्टेबल राकेश कुमार ने पुलिसकर्मियों के एक व्हॉट्सएप ग्रुप में बलिया न्यायालय परिसर में बम होने की सूचना पोस्ट कर दी। इसके बाद विभाग में हड़कंप मच गया।


अफवाह निकली बम होने की सूचना


पुलिस ने फौरन न्यायालय परिसर में छानबीन शुरू कर दी। छानबीन के बाद पता चला कि न्यायालय परिसर में बम होने की अफवाह विभाग के ही एक सिपाही ने फैलाई थी। अफवाह फैलाने वाले सिपाही के खिलाफ केस दर्ज कर उसे सस्पेंड कर दिया गया है। पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।


Also Read: बलिया: सिपाही ने ही फैलाई कोर्ट में बम होने की अफवाह, सस्पेंड


मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस के एक व्हॉट्सएप ग्रप में मैसेज वायरल हुआ, जिसमें बलिया न्यायालय परिसर मे बम मौजूद होने की सूचना दी गई थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए कोर्ट परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया। पुलिस ने छानबीन शुरू की। कोर्ट परिसर के कोने-कोने की तलाशी ली गई। हालांकि, यह सूचना अफवाह निकली। इसके बाद सूचना देने वाले व्यक्ति की छानबीन शुरू हुई।


पुलिस की मानें तो जांच-पड़ताल में पता चला कि कोर्ट परिसर में बम रखे जाने की सूचना सर्विलांस सेल में तैनात सिपाही ने फैलाई थी। इसके बाद देर रात नगर कोतवाली में आरोपित कांस्टेबल के खिलाफ केस दर्ज किया गया। एसपी ने आरोपित सिपाही राकेश कुमार को सस्पेंड कर मामले के जांच का आदेश दिया है।


Also Read: यूपी: रोड एक्सीडेंट में हुई सिपाही की मौत, परिजनों की मदद को पुलिसकर्मियों ने जुटाए 72 हजार रूपए, एसपी ने सौंपा चेक


सीएम योगी ने डीजीपी को किया तलब


वहीं, कोर्ट परिसर में बम होने की सूचना वायरल होते ही मामला सीएम योगी आदित्यनाथ तक पहुंच गया। उन्होंने डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी को तलब कर लिया। सूत्रों की मानें तो इसके बाद आईजी, डीआईजी और एसपी से सम्पर्क कर पूरे प्रकरण की जानकारी लेने के बाद डीजीपी कार्यालय ने कार्रवाई करने का निर्देश दिया।


जिस ग्रुप में इस सूचना को पोस्ट किया गया उसमें कई जनपदों के पुलिसकर्मी जुड़े हैं, जिसके जरिए सूचनाओं का आदान-प्रदान होता है। इसमें सर्विलांस व एलआईयू के साथ ही अन्य गुप्तचर एजेंसियों के जवान भी हैं। आमतौर पर इस तरह की सूचनाएं ग्रुप में डालते रहते हैं। हालांकि इस बार राकेश द्वारा डाली गयी जानकारी किसी और पुलिस ग्रुप में वायरल हो गई। इसका नतीजा यह हुआ कि अनुशासनहीनता मानते हुए उसके खिलाफ केस दर्ज कर सस्पेंड कर दिया गया।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

गाजियाबाद: मिशन शक्ति को बढ़ावा दे रहे SSP कलानिधि, महिला दारोगाओं को सौंपी 4 मुख्य चौकियों की कमान

Shruti Gaur

गोरखपुर: सीरियल मर्डर की धमकी देने वाला बर्खास्त सिपाही गिरफ्तार, Video से मचाया था हड़कंप

BT Bureau

UP: पहले पत्नी और अब डिप्टी CM दिनेश शर्मा संजय गांधी PGI के कोविड अस्पताल में भर्ती, ट्वीट कर दी जानकारी

BT Bureau