Breaking Tube
Politics UP News

BJP विधायक ने कांग्रेस MLC से पूछा- विधान परिषद में सावरकर की तस्वीर लगाने वाली समिति में आप भी थे शामिल, तब क्यों नहीं जताया विरोध, अब कर रहे राजनीति

Veer Savarkar up legislative council

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ में विधान परिषद (Legislative Council) की गैलरी में विनायक दामोदर सावरकर की तस्वीर पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने सावरकर की तस्वीर लगाए जाने पर कड़ी आपत्ति जताई। कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह ने वीर सावरकर (Veer Savarkar) की फोटो गैलरी से हटाने के लिए परिषद के सभापति रमेश यादव को पत्र लिखा है, जिसमें सावरकर की तस्वीर गैलरी में लगाए जाने को आपत्तिजनक और स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान बताया गया है।


दीपक सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि सावरकर का चित्र यहां से हटाकर भाजपा के संसदीय कार्यालय के अंदर लगवा दिया जाए। वहीं, सभापति रमेश यादव ने सावरकर की तस्वीर के मुद्दे पर विधान परिषद के प्रमुख सचिव को तथ्यों की जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।


Also Read: जेल से छूटने के बाद सोमनाथ भारती बोले- मैं आज भी हूं अपने बयान पर कायम, निकाला गया गलत मतलब


वहीं, कांग्रेस के विरोध पर भाजपा एमएलसी विजय बहादुर पाठक ने कहा कि जिस समिति ने पिक्चर गैलरी में तस्वीर को फाइनल किया, उसमें दीपक सिंह भी शामिल थे, लेकिन तब आपत्ति नहीं की। अब लोकार्पण के समय सियासत कर रहे। विजय बहादुर पाठक ने कहा कि सावरकर प्रेरणा स्त्रोत हैं, ऐसे व्यक्ति की तस्वीर को लेकर राजनीति उचित नहीं।


उधर, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि सावरकर इतने सारे विवादों से घिरे हुए हैं। पूरा देश जानता है कि उन्होंने अंग्रेजों से कैसे माफी की भीख मांगी। भाजपा को इतिहास से सीखना चाहिए। उनकी तस्वीर हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों के अपमान के अलावा और कुछ नहीं है।


Also Read: किसान मुद्दे से भटकाने के लिए है राम मंदिर निर्माण में चंदा मांगो अभियान, पहले इकट्ठा हुए चंदे का हिसाब तो दे BJP: अखिलेश यादव


बता दें कि मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधान परिषद की फोटो गैलरी का उद्घाटन किया था। इस दौरान सीएम योगी ने कहा था कि इस चित्र वीथिका में वीर सावरकर का भी नाम है, जो एक ही जन्म में दो आजीवन कारावास की सजा पाते। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि विनायक दामोदर सावरकर के लिए कहा जाता है कि पिछली सदी में उनसे बड़ा क्रांतिकारी, साहित्यकार, कवि, दार्शनिक नहीं हुआ। इन सबसे हमें नई प्रेरणा मिलती है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

गायत्री प्रजापति की मुश्किलें बढ़ीं, पूर्व मैनेजर ने ED को दी कई बेनामी संपत्तियों और धंधों की जानकारी

Jitendra Nishad

पशुपालन घोटाला: भगोड़े IPS पर बढ़ाई गई ईनाम की राशि, अब है 50 हजार का ईनामी

BT Bureau

दलाई लामा ने ‘जिन्‍ना-नेहरू’ वाले बयान पर मांगी माफी

Satya Prakash