Breaking Tube
Corona Government UP News

कोरोना काल में मरीजों की मददगार बन रही सीएम हेल्पलाइन 1076, तीमारदार बोले- अब तो योगी के लिए और मजबूत हो गया भरोसा

सेवा, सहयोग और समाधान को आधार मानकर शुरु हुई सीएम हेल्पलाइन 1076 (CM Helpline 1076) इस कोरोना काल में भी रिकॉर्ड समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों को मदद पहुंचाने का काम कर रहा है. इसी सीएम हेल्पलाइन 1076 से मदद पाने वालों में से एक नाम गाजियाबाद के इंद्रापुरम में रहने वाले राजेश सुंदरम का भी है. करीब 11 दिन वो कोरोना संक्रमित हो गए थे और होम आइसोलेशन में रह रहे थे. तभी अचानक उनकी तबीयत बिगड़ने लगी और उनका ऑक्सीजन लेवल 84 पहुंच गया. आनन फानन में उन्होंने अपने मित्रों से मदद मांगी. जिसके बाद उनके मित्रों ने उन्हें सीएम हेल्पलाइन 1076 पर फोन कर मदद मांगने के लिए कहा. फिर क्या राजेश ने सीएम हेल्पलाइन पर फोन किया और उन्हें समय रहते मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया. जिसके लिए राजेश सुंदरम और उनका परिवार सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को धन्यवाद दे रहा है.


राजेश सुंदरम के भाई राहुल का कहना है कि इस आपात स्थिति में उनके भाई को समय रहते मदद मिलने के बाद उनका भरोसा प्रदेश के मुखिया के प्रति और मजबूत हो गया है. यही नहीं वो खुद 1076 के प्रति लोगों को जागरुक करेंगे, ताकि उनके भाई की तरह और लोगों को भी समय रहते मदद मिल सके. राजेश की तरह ही गीता और जरीना को भी सीएम हेल्पलाइन से काफी मदद मिली है. जिसके लिए वो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दे रही है. गीता बताती हैं कि कोरोना पॉजिटिव होने के बाद सीएम हेल्पलाइन की तरफ से उन्हें संपर्क किया गया और आइसोलेशन में रहने के नियमों की जानकारी दी गई. ऐसे ही जरीना को जब ऑक्सीजन नहीं मिल रही थी तो उन्होंने सीएम हेल्पलाइन 1076 पर मदद मांगी, जिसके बाद उन्हें जिला प्रशासन की मदद से ऑक्सीजन मुहैया करा दी गई.


दरअसल, कोरोना काल में सीएम हेल्पलाइन 1076 की तरफ से कोरोना संक्रमित लोगों को लगातार फोन कर उनका हाल चाला जाना जा रहा है. जहां हर रोज लगभग 60 से 70 हजार आउटबाउंड कॉल्स की जा रही है. यही नहीं अबतक कुल 95, 692 निगरानी समितियों के साथ सीएम हेल्पलाइन 1076 की तरफ से संपर्क किया जा चुका है. इसके अलावा अब तक प्रदेश के कुल 18 लाख 55 हजार 788 कोरोना संक्रमित लोगों को भी संपर्क किया जा चुका है. सीएम हेल्पलाइन होम आइसोलेशन या हॉस्पिटल आइसोलेशन में रह रहे कोरोना पॉजिटिव मरीजों से निरंतर संपर्क कर उनके स्वास्थ्य संबंधी एवं अन्य कोई असुविधा के संबंध में जानकारी प्राप्त कर रहा है.


वहीं कोविड 19 में संक्रमण की रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के कॉल सेंटर को अस्थाई रूप से 4 अलग-अलग जगह पर स्थापित किया गया है. कोरोना से संबंधित इनबाउंड कॉल के लिए, जनसुनवाई पोर्टल पर एक अलग डेशबोर्ड बनाया गया है. जहां सभी शिकायतों को लॉग इन किया जाता है. वहीं आउटबाउंड कॉल्स कर सीएम हेल्पलाइन 1076 रोजाना निगरानी समितियों से संपर्क कर रही है.


Also Read: UP में हाईटेक तरीके से बढ़ाई जा रही ऑक्सीजन की उपलब्धता, ट्रकों में GPS, 24 घंटे साफ्टवेयर आधारित कंट्रोल रूम


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

लखनऊ: हॉस्टल की छत से गिरकर मेडिकल छात्रा की मौत, पिता ने दर्ज कराया हत्या का मुकदमा

BT Bureau

राहुल गाँधी का हाई वोल्टेज ड्रामा: पहले लगाये पीएम मोदी पर आरोप, फिर दी जादू की झप्पी

BT Bureau

हाथरस साजिशकांड में बड़ा खुलासा, मृतका के घर रिश्तेदार बनकर रहे भीम आर्मी के लोग, मीडिया में देते रहे सरकार विरोधी बयान

BT Bureau