Breaking Tube
Corona UP News

UP में आज 31,700 लोगों को लगेगा कोरोना का टीका, जानें वैक्सीन किसे नहीं है लगवाना? क्या हो सकते हैं साइडइफेक्ट?

Corona vaccination booth

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) वैक्सीनेशन (Vaccination in India) की शुरुआत होने में चंद घंटों तका वक्त बाकी है. टीकाकरण की प्रक्रिया शनिवार साढ़े दस बजे शुरू होगी. देश के पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण महाअभियान की शुरुआत करेंगे. सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में इसके लिए कुल 3006 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं. वहीं इस काम पर नजर रखने के साथ टीकाकरण से संबंधित किसी भी जानकारी के आदान-प्रदान के लिए एक कॉल सेंटर-1075 भी बनाया गया है.


उत्तर प्रदेश में शुरू हो रहे टीकाकरण अभियान के तहत शनिवार को 31,700 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी. सबसे पहले यह वैक्सीन हेल्थ वर्कर्स को लगाई जाएगी. प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है. प्रधानमंत्री द्वारा वैक्सीन लांच करने के बाद इसे प्रदेश में लगाना शुरू किया जाएगा.


प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने बताया कि यूपी में 10, लाख 55 हजार 500 कोविशील्ड और 20,000 कोवैक्सीन के इंजेक्शन मिल चुके हैं. विभाग ने पूरी तरह कमर कस ली है. प्रदेश के 8 लाख 57 हजार हेल्थ वर्कर्स के नाम सूचीबद्ध किए गए हैं. प्रदेश में कोल्ड चेन पूरी तरह तैयार हैं. पहले इसकी क्षमता 80,000 लीटर थी, लेकिन इसे बढ़ाते हुए दो लाख 3 हज़ार लीटर कर दी गई है.


अपर मुख्य सचिव चिकित्सा अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में 317 केंद्रों पर यह वैक्सीन लगाई जाएगी. हर केंद्र पर 100-100 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी. इसके लिए 5-5 सदस्यों की टीम बनाकर स्वाथ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा. इसकी दूसरी डोज़ 28 दिन बाद लगाई जाएगी. मंत्री ने बताया कि कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए केंद्र सरकार ने कोविन पोर्टल बनाया है. इसी में प्रदेश के 8.57 लाख स्वास्थ्य कर्मियों के नाम दर्ज कर दिए जा चुके हैं. इन कार्मियों को पोर्टल के माध्यम से ही मैसेज भेजे जाएंगे और उन्हें आईडी के साथ केंद्र पर पहुंचने के लिए कहा जाएगा.


वैक्सीन के लिए पात्रता

  • जो 18 साल से कम उम्र के हैं उन्हें कोरोना वैक्सीन नहीं दी जाएगी.
  • प्रेग्नेंट महिलओं को भी वैक्सीन नहीं दी जाएगी.
  • जिन लोगों को वैक्सीन, फार्मा प्रोडक्ट, फूड से एलर्जी है, उन्हें भी वैक्सीन नहीं दी जाएगी.
  • कोरोना वैक्सीन के पहले से अगर किसी को साइड इफेक्ट दिखे हैं तो उसे भी वैक्सीन नहीं दी जाएगी.

इन्हें नहीं दी जा रही वैक्सीन

  • वो व्यक्ति जिनमें SARS-CoV-2 के लक्षण हैं.
  • जिन कोरोना मरीजों को एंटी-SARS-CoV-2 मोनोक्लोनल एंटीबॉडी या प्लाजमा दिया गया है.
  • विशेष रूप से बीमार और हॉस्पिटलाइज्ड व्यक्ति.
  • उन लोगों को वैक्सीन चेतावनी के साथ दी जाएगी जिनको किसी तरह की ब्लीडिंग या फिर coagulation disorder की शिकायत है.

Also Read: सशस्त्र सिपाही और एस्कॉर्ट की निगरानी, कैबिनेट मंत्री स्तर की होगी UP में कोरोना वैक्सीन की सुरक्षा


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी उपचुनाव: निषाद पार्टी का सभी 7 सीटों पर BJP को समर्थन, संजय निषाद बोले- NDA के साथ थे, हैं और रहेंगे

Jitendra Nishad

हर किसी के मोबाइल में होने चाहिए ये सरकारी ऐप्स, नहीं है तो तुरंत करिए डाउनलोड

Shruti Gaur

चीन से आई रैपिड टेस्ट किट फेल, ICMR ने दो दिनों के लिए टेस्टिंग पर लगाई रोक

BT Bureau