Breaking Tube
Crime UP News

लखनऊ: IFS निहारिका सिंह और उनके पति पर ED ने दर्ज किया मनी लांड्रिंग का केस, ठगी कर बनाई 600 करोड़ की संपत्ति

कंपनी अनी बुलियन फ्रॉड के मामले में आईएफएस निहारिका सिंह (IFS Niharika Singh) और उनके पति अजीत कुमार गुप्ता (Ajit Kumar Gupta प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शुक्रवार को मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया गया है. आरोप है कि निहारिका सिंह ने पति अजीत के साथ मिलकर अनी बुलियन कंपनी बनाई. इसके बाद अयोध्या, सुल्तानपुर, लखनऊ समेत यूपी के कई जिलों में हजारों लोगों को दो गुना लाभ का लालच देकर करोड़ो रुपए हड़प लिए. इस तरह ठगी कर अजीत ने 600 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति बना ली. इस मामले को कंपनी के डायरेक्टर अजीत गुप्ता समेत कई लोगों के खिलाफ प्रदेश के कई जिलों में मुकदमा दर्ज है. वहीं अजीत को बीते साल जुलाई माह में लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया गया था.


40 फीसदी ब्याज का झांसा देकर की ठगी

कंपनी अनी बुलियन का डायरेक्टर अजीत गुप्ता अयोध्या जनपद के खण्डासा थाना क्षेत्र के ताल ढोली गाँव का रहने वाला है. डायरेक्टर अजीत कुमार गुप्ता ने साल 2010 में एनी बुलियन नाम से कंपनी बनाई थी, जिसमें उसने सोना, चांदी, हीरा और सिक्कों का कारोबार दर्शाया था, लेकिन कंपनी की ओर से कोई काम नहीं किया जाता था. अली बुलियन कंपनी ने ग्राहकों को फंसाने के लिए 40 फीसदी ब्याज देने का झांसा दिया है, और जब लोग उसके इस झांसे में आ गए तो करोड़ों लेकर भाग गया. अजीत गुप्ता को पत्नी निहारिका सिंह के आईएफएस होने का फायदा मिला औऱ उसने अपना धंधा बढ़ाने में इसका बखूबी इस्तेमाल किया.


ED files money laundering case against Senior IFS officer Niharika Singh  Husband Ajit Gupta | पत्नी इटली में IFS, पति नेताओं संग उसकी फोटो दिखाकर  चूना लगाता था; UP में हजारों लोगों
पीएम मोदी के साथ IFS निहारिका सिंह की तस्वीर

पत्नी के रसूख का फायदा उठाता था अजीत

अजीत गुप्ता अपनी पत्नी निहारिका की पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओ के साथ तस्वीर दिखाकर लोगों को यह भरोसा दिलाता था कि उनका पैसा सुरक्षित है. इतना ही नहीं जब वह कंपनी के कार्यक्रम आयोजित कराता था तो उसमें निहारिका को जरूर बुलाता था. किसान इसी रसूख के झांसे में आकर अपना सब कुछ गवां बैठे.


UP एसटीएफ के हत्थे चढ़ा अनी बुलियन कम्पनी का MD अजीत गुप्ता, 500 करोड़ ठगी  का है आरोपी - Khabar Dekho | Hindi News
एसटीएफ की गिरफ्त में अजीत गुप्ता

एजेंटो को देता था महंगी गाड़ियां और फ्लैट

कंपनी का डायरेक्टर अजीत गुप्ता बेहद शातिर था, वह अपना बिजनेस फैलाने के लिए एजेंटों को महंगी गाड़ियां और फ्लैट बतौर गिफ्ट देता था ताकि एजेंट औऱ मेहनत कर कंपनी के लिए पैसा जुटाएं और वो लेकर भाग जाए. कंपनी में निवेश करने वालों ने बताया कि दो-तीन माह में लखनऊ अथवा जिला मुख्यालय पर कंपनी की मीटिंग होती थी. मीटिंग में कंपनी का MD उन एजेंटों को कार अथवा फ्लैट की चाबी सौंपता था, जो ज्यादा से ज्यादा रुपए निवेश कराते थे.


Untitled-1
पुलिस गिरफ्त में अजीत गुप्ता

निहारिका व उसके पति के अलावा इनके खिलाफ दर्ज है FIR

पुलिस ने गोमतीनगर स्थित विराटखंड निवासी अजीत कुमार गुप्ता व उनकी पत्नी आईएफएस निहारिका सिंह, अयोध्या निवासी संतोष कुमार, अंजनी कौशल, शिव कुमार गोस्वामी, अजय उपाध्याय, धर्मेन्द्र कौशल, मंजू कौशल, वासुदेव कौशल, आशीष तिवारी, ओमशंकर कौशल, नीलम कौशल धरनीधर उपाध्याय, राम गोपाल गुप्ता और विष्णु गुप्ता के खिलाफ ठगी समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है.


Also Read: कानपुर: जिस टॉप-10 अपराधी को खोज रही पुलिस, वह मंत्री और नेताओं के साथ मंच पर बैठा नजर आया


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बिजनौर: चोरी में उम्मीद से ज्यादा रकम मिलने की खुशी में चोर मो. एजाज को आया हार्ट अटैक, दूसरे चोर नौशाद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों गिरफ्तार

Jitendra Nishad

UP: बिजली विभाग के निजीकरण का विरोध जोरों पर, बिजली कर्मियों के साथ समझौते पर फंसा पेंच

Jitendra Nishad

कुरान की आयतों का सहारा लेकर मदरसों में बच्चों को बनाया जा रहा आतंकी, 26 आयतें हटाने के लिए SC में जनहित याचिका

BT Bureau