Breaking Tube
Government UP News

आज UP में खड़ा हूं तो गर्व से कह रहा कि योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश को आगे ले जाने का काम किया है: अमित शाह

Home minister Amit Shah

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने रविवार को उत्तर प्रदेश स्टेट इंस्टिट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज का शिलान्यास किया। इस दौरान गृह मंत्री ने कहा कि आज 2021 में यूपी में खड़ा हूं तो गर्व से कहता हूं कि योगी आदित्यनाथ जी ने उत्तर प्रदेश को आगे ले जाने का काम किया है। योगी के नेतृत्व में प्रदेश तेजी से विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। योगी प्रदेश के अब तक के सबसे कामयाब मुख्यमंत्री हैं।


यूपी में आज कानून व्यवस्था का राज


वहीं, पश्चिमी यूपी में हुए पलायन पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 2017 में प्रदेश में बीजेपी की सरकार आने से पहले पश्चिमी यूपी से लोग पलायन कर रहे थे। प्रदेश दंगा ग्रस्त था, लेकिन चार साल के शासन के बाद उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था का राज स्थापित हो चुका है। हमने वादा किया था कि जब हमारी सरकार आएगी तो हम कानून का राज स्थापित करेंगे। प्रदेश की योगी सरकार ने इस दिशा में सफलता प्राप्त की है।


इस दौरान महिलाओं की सुरक्षा को लेकर गृह मंत्री ने कहा कि पहले का यूपी मुझे ठीक तरह से याद है, महिलाएं असुरक्षित थीं, दिनदहाड़े गोलियां चलती थीं। प्रदेश में माफियाओं का राज था। आज 2021 में यूपी में खड़ा हूं तो गर्व से कहता हूं कि योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश को आगे ले जाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि यूपी में जैसे चुनाव आते हैं, नेता घर से निकल आते हैं और बयानबाजी करते हैं। ये नेता कोरोना के दौरान मुश्किलों से जूझती जनता की मदद नहीं करते। ये किसानों की मुश्किलों में काम नहीं आते, लेकिन चुनाव आते ही बयानबाजी में लग जाते हैं।


कानून व्यवस्था में सुधार करने में मदद करेगा फॉरेंसिक संस्थान


उत्तर प्रदेश स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंस के बारे में बात करते हुए अमित शाह ने कहा कि यह गुजरात के गांधीनगर में फोरेंसिक संस्थान से संबद्ध होगा। यह संस्थान न केवल युवाओं को अपने लिए एक नया करियर प्राप्त करने में सक्षम करेगा बल्कि कानून व्यवस्था में सुधार करने में मदद करेगा। संस्थान में एक डीएनए केंद्र होगा जिसके लिए 15 करोड़ रुपये निर्धारित किए गए हैं। अपराधियों की सजा दर भी बढ़ेगी क्योंकि जांच अधिक पेशेवर और वैज्ञानिक हो जाएगी और अपराध दर अपने आप कम हो जाएगी।


Also Read: UP: अफसरों के खर्चों पर योगी सरकार ने चलाई कैंची, महंगी हवाई यात्रा और नई गाड़ियों की खरीद पर लगाया बैन


शाह ने कहा कि जाली मुद्रा, साइबर अपराध, नार्को आतंकवाद आदि से संबंधित समस्याओं के आने के साथ पुलिसिंग में पिछले कुछ वर्षों में बदलाव आया है। पुलिस बल को बेहतर प्रशिक्षित करने की जरूरत है। बता दें कि राजधानी लखनऊ के सरोजिनी नगर के पिपरसंड इलाके में 50 एकड़ में फैले इस संस्थान का नाम उत्तर प्रदेश स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंस (UPSIFS) रखा गया है। इंस्टिट्यूट में इजराइल के एक्सपर्ट फॉरेंसिक बारीकियां सिखाएंगे। इसके लिए 350 करोड़ों का बजट पास किया गया है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

CAA हिंसा: दंगाइयों को बख्शने के मूड में नहीं योगी सरकार, वसूली टीमें हुईं एक्टिव

BT Bureau

बदायूं: ग्राम प्रधान पद के प्रत्याशी के साथ घूम-घूमकर वोट मांग रहा था दारोगा, Video देख SSP ने लिया एक्शन

BT Bureau

फर्रूखाबाद: शादी का झांसा देकर सगी ममेरी ‘बहन’ का शोषण करता रहा मिराज, अब निकाह से इंकार

BT Bureau