Breaking Tube
Administration UP News

जानिए कौन हैं IAS सुरेंद्र सिंह जिन्हें योगी सरकार ने बनाया मेरठ का कमिश्नर, पीएम मोदी भी कर चुके हैं तारीफ

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने पंचायत चुनाव से पहले मंगलवार देर रात बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है. इस तबादले में 4 मंडलों के आयुक्त और छह जिलों के जिलाधिकारी शामिल हैं. मुज़फ्फरनगर समेत कई ज़िलों में जिलाधिकारी रहे सुरेंद्र सिंह (IAS Surendra Singh) को मेरठ का मंडलायुक्त बनाया गया है. सुरेंद्र सिंह योगी सरकार में विशेष सचिव, तथा कानपुर औऱ बनारस के डीएम रह चुके हैं. बता दें कि पश्चिमी यूपी में जाट कमिश्नर की मांग थी, जिसके चलते योगी सरकार का यह निर्णय बेहद अहम बताया जा रहा है.


सुरेंद्र सिंह मथुरा जिले के सैदपुर गांव के रहने वाले हैं. पिता किसानी करते थे, पूरा बचपन एक कच्चे मकान में गुजरा है. परिवार के लिए दो वक्त की रोटी का इंतजाम करना भी उनके पिता के लिए कठिन था, जैसे तैसे जिंदगी की गाड़ी को धकेल रहे थे. बताया जाता है कि बचपन से ही सुरेंद्र को अंदर से बड़ा बनने की चाह थी और इस सपने को साकार करने के लिए उनके माता-पिता भी जीतोड़ मेहनत कर बच्चों की फीस का इंतजाम करते थे.


घर की माली हालत अच्छी न होने के चलते सुरेंद्र सिंह स्कूल के बाद पिता के साथ खेत में हाथ बंटाने चले जाते थे, लेकिन पिता उन्हें पढ़ा लिखाकर बड़ा आदमी बनाना चाहते थे, इसलिए वे उन्हें वापस घर भेज देते थे. फटे बस्ते को लेकर दोनों भाई स्कूल जाया करते थे और चटाई पर बैठकर पाठ याद करते थे. आठवीं कक्षा तक यही सिलसिला रहा, जिसके बाद उनके बड़े भाई जितेंद्र दिल्ली चले गए और मास्टर बन गए. आठवीं के बाद सुरेंद्र को आगे का रास्ता नजर नहीं आ रहा था, वे बड़े भाई के पीछे चले गए जहां उन्होंने 12वीं तक पढ़ाई की.


सुरेंद्र सिंह ने ONGC ज्वाइन तो कर लिया लेकिन मन में खटकता रहा कि शायद अभी पिता जी का सपना पूरा नहीं हुआ है. इसके बाद सुरेंद्र ने 3 बार पीसीएस का एग्जाम क्वालीफाई किया लेकिन ज्वाइन नहीं किया क्योंकि उनके दिल में आईएएस बनने का ख्वाब था. इसके बाद सुरेंद्र ने 2005 में IAS क्वालीफाई किया और ऑल इंडिया 21वीं रैंक हासिल की.


सुरेंद्र सिंह भदोही, बलरामपुर, फिरोजाबाद, मुजफ्फरनगर, शामली, प्रतापगढ़, उन्नाव, बरेली, कानपुर के जिलाधिकारी रह चुके हैं. मुजफ्फरनगर के कवाल कांड के बाद उन्हें कौशल विकास भेज दिया गया. वहां इनोवेशन और अपनी मेहनत के चलते सुरेंद्र ने विभाग को चर्चा में ला दिया, जिससे वे पीएमओ की नजरों में आ गए.


यूपी में जब 2017 में योगी सरकार आई तब उन्हें कानपुर का डीएम बनाया गया. बाद में सुरेंद्र पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस का जिलाधिकारी बनाया गया. इसके बाद बनारस को लोगो ने तेज़ी से बदलते देखा. मार्ग चौड़ीकरण, फ्लाईओवर, सड़के, गंगा सफाई, मन्दिर, शिक्षा,कानून व्यवस्था, जनसुनवाई आदि आदि कार्य होते दिखने लगे. बनारस का कायाकल्प करने में सुरेंद्र सिंह ने अहम भूमिका निभाई थी. सुरेंद्र सिंह के काम की तारीफ पीएम मोदी भी कर चुके हैं.


Also Read: लखनऊ फायरिंग में बड़ा खुलासा, BJP सांसद के बेटे ने खुद ही चलवाई थी अपने ऊपर गोली


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बिजनौर: दोस्त को बनाया बंधक फिर उसके सामने ही छात्रा से गैंगरेप, दूसरे समुदाय के शाहरुख, शारिक और वसीम गिरफ्तार

BT Bureau

किसानों को धान का सही दाम दिलाए योगी सरकार वरना कांग्रेस करेगी आंदोलन: प्रियंका गांधी

Jitendra Nishad

मेरठ: पुलिसकर्मियों ने अर्थी सजाई फिर नम आंखों से दी कुत्ते को अंतिम विदाई, PM मोदी कर चुके हैं सराहना

Shruti Gaur