Breaking Tube
Social Media UP News

जालौन: उरई राजकीय मेडिकल कॉलेज में मरीजों के साथ मजाक कर रहा स्टाफ, भरा बताकर थमाए जा रहे खाली सिलेंडर, Video वायरल

Jalaun Orai Government Medical College

उत्तर प्रदेश के जालौन (Jalaun) जनपद के उरई राजकीय मेडिकल कॉलेज (Orai Government Medical College) प्रशासन कोरोना मरीजों के साथ मजाक कर रहा है। यहां पर मरीजों को ऑक्सीजन से भरा सिलेंडर बताकर खाली सिलेंडर देकर खानापूर्ति किए जाने की मामला सामने आया है। मरीज के परिजन सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर मदद की गुहार लगा रहे हैं।


इसी मेडिकल कॉलेज में एडमिट एक मां को बचाने के लिए उनकी बेटी का वीडियो भी सोशल मीडिया पर सामने आया है, जिसमें उसने मेडिकल कॉलेज प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। लड़की का कहना है कि उसने अपनी मां के लिए जो ऑक्सीजन सिलेंडर लिया वह खाली था, जबकि मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने इस सिलेंडर को ये कहकर दिया था कि वह भरा हुआ है।


Also Read: UP में ऑक्सीजन की कमी से कोरोना मरीजों की मौत पर इलाहाबाद HC की सख्‍त ट‍िप्‍पणी, कहा- ये नरसंहार से कम नहीं


लड़की का कहना है कि उसकी मां की हालत बेहद नाजुक है, उन्हें ऑक्सीजन की सख्त जरूरत है। लड़की ने कहा कि जब उसने सिलेंडर की मांग की तो मेडिकल कॉलेज के स्टाफ ने सिलेंडर देने से मना कर दिया। लड़की ने बताया कि उसकी आंखों के सामने ऑक्सीजन से लोड एक गाड़ी आई है। इसके बावजूद उसे सिलेंडर नहीं दिया जा रहा है। लड़की का आरोप है कि मेडिकल कॉलेज का स्टाफ अपनी मर्जी के मुताबिक लोगों को सिलेंडर दे रहा है।


लड़की ने मेडिकल कॉलेज में भर्ती कई गंभीर मरीजों का वीडियो भी बनाया है, जिसमें स्टाफ द्वारा दिए गए सिलेंडर को भी दिखाया गया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि कई ऐसे मरीज हैं, जो ऑक्सीजन सिलेंडर का इंतजार कर रहे है, लेकिन उन्हें स्टाफ द्वारा सिलेंडर मुहैया नहीं कराया जा रहा है।


Also Read: कोरोना मरीजों के इलाज़ के लिए बाबा विश्वनाथ ने खोला अपना ख़जाना, मुहैया करा रहा ऑक्सीजन, दवा समेत मेडिकल उपकरण

लड़की ने बताया कि जब वह कंट्रोल रूम गई तो उसे पता चला कि ऑक्सीजन के 100 सिलेंडर लाए गए हैं, जिन्हें स्टॉक में लगाया गया है। मेडिकल कॉलेज का गार्ड कह रहा है कि 100 सिलेंडर आए हैं, लेकिन स्टाफ इसे झूठ करार दे रहा है। मेडिकल स्टाफ मरीजों के परिजनों से कह रहा है कि सिलेंडर 2 मिनट या फिर 2 घंटे में आ सकता है। लड़की ने मेडिकल कॉलेज की बदहाल स्थिति को रिकॉर्ड कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया है और सभी से मदद की गुहार लगाई है।


वहीं, जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन का कहना है कि हमने सभी आइसोलेशन वार्ड और आईसीयू का निरीक्षण किया है, वहां पर सभी के पास ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। प्रत्येक बेड पर 2 ऑक्सीजन सिलेंडर रखे हुए हैं, लेकिन मुझे लगता है कि शायद अटेंडेंट को ऐसा लगता है कि ऑक्सीजन नहीं मिलेगी। ऐसे में वो ज्यादा सिलेंडर की मांग कर रहे हैं।अडण्डेन्ट ऑक्सीजन की उपलब्धता को लेकर संशय में है जबकि वार्ड में अटेंडेंट को जाने की अनुमति नहीं है और पता नही लोग क्यों सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर है जबकि ऑक्सीजन पर्याप्त है।


INPUT- Pradeep Tripathi


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

UP में आज रात 8 बजे से लगेगा 35 घंटे का ‘कोरोना कर्फ्यू’, जानिए किन-किन चीजों की मिलेगी अनुमति

BT Bureau

झांसी: CO मनीष चंद्र सोनकर ने वापस लिया इस्तीफा, कोरोना पॉजिटिव पत्नी और बेटी की देखभाल के लिए छुट्टी नहीं मिलने से थे नाराज

BT Bureau

मेरठ: तीन साल की नौकरी में दारोगा ने बनाई आलीशान हवेली, अधिकारी भी रहे गए हैरान, बैठाई जांच

BT Bureau