Breaking Tube
Crime UP News

कानपुर में बेंगलुरु जैसा कांड, FB पोस्ट पर हिंसा का तांडव, जुमे की नमाज से पहले जमकर पथराव, बुजुर्ग, महिला, बच्चे सबको पीटा, 5 दर्जन पर केस दर्ज

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में बेंगलुरू हिंसा जैसा मामला सामने आ रहा है. यहां बिल्लौर (Bilhaur) में एक फेसबुक पोस्ट पर संप्रदाय विशेष के लोग भड़क गए और जमकर पथराव औऱ तोड़फोड़ किया. आरोप है कि जुमें की नमाज से पहले 100 से अधिक लोगों की भीड़ ने आरोपी के घर पर धावा बोल दिया. घर में बुजुर्ग, महिला, बच्चे जो भी मिला उसे पीटा गया, आरोपी के पड़ोसी घर के सदस्यों और हिंसा की तस्वीरें ले रहे एक पत्रकार के साथ भी जमकर मारपीट की गई. वहीं पीड़ितो की पहचान पर करीब 5 दर्जन लोगों पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है, बाकी की शिनाख्त की जा रही है.


जो जहां मिला उसे पीटा, लाखों का सामान तोड़ा

जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला बिल्हौर के इलियासपुर का बताया जा रहा है. जहां आरोप है कि एक परचून दुकानदार आलोक गुप्ता ने गुरूवार शाम फेसबुक पर इस्लाम को लेकर कोई टिप्पणी कर दी. जिस पर मुस्लिम भड़क गए औऱ अगले ही दिन जुमे की नामज से पहले करीब सुबह 9 बजे सैकड़ों की संख्या में इकट्ठा होकर आरोपी के घर पर धावा बोल दिया. आलोक के घर के मुख्य द्वार, छत, जीना और कमरे से घुसे 50 से अधिक नमाजियों ने खिड़कियां, दरवाजा, पानी की टंकी, पाइप, फ्रिज, कूलर, एसी, टीवी, मोबाइल सहित लाखों रुपये का गृहस्थी सामान तोड़ दिया. आरोप है कि इस दौरान आपत्तिजनक नारे भी लगाए गए.


बुजर्ग, महिला, बच्चे किसी को नहीं छोड़ा

घर में घुसे उपद्रवियों ने आलोक को लात-घूसों से मारते हुए कपड़े फाड़ दिए गए, वहीं बुजुर्ग दादी शांती देवी, पिता कन्हैयालाल, माता उमा सहित पड़ोसी नीलम को भीड़ ने अपना शिकार बना लिया. वहीं इस दौरान हिंसा की तस्वीरे ले रहा पत्रकार को भी उन्मादी भीड़ नहीं बख्शा, दर्जनों लोग उसपर टूट पड़े जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया. पत्रकार को इलाज के लिए सीएचसी बिल्हौर भेज दिया गया है.


उन्मादी भीड़ पर काबू पाने को कन्नौज से मंगानी पड़ीं पुलिस टीम

उन्मादी भीड़ को काबू करने के लिए पड़ोसी जिले कन्नौज के तीन थानों की पुलिस बुलानी पड़ी तब जाकर मामला शांत हुआ. सूचना पर एडीएम वीरेंद्र पांडेय, एसपी ग्रामीण बृजेश कुमार श्रीवास्तव, एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल आदि अधिकारी भी फोर्स के साथ पहुंचे और लोगों को शांत कराया. घायल पत्रकार लवकुश को सीएचसी बिल्हौर भेजा गया, जहां से हैलट अस्पताल रेफर कर दिया गया. इलाके में काफी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. बताया जा रहा है कि चौकी प्रभारी वेदप्रकाश के छुट्टी पर होने से दो सिपाही हालात काबू नहीं कर सके. भीड़ ने उनसे धक्का-मुक्की की. एसपी ग्रामीण ने बताया कि चौकी में फोर्स बढ़ाकर दो दारोगाओं की तैनाती की जाएगी.


50-60 लोगों पर मुकदमा दर्ज

वहीं इस मामले पर जानकारी देते एसपी ग्रामीण ब्रजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि हु पर डाली गई एक आपत्तिजनक पोस्ट के विरोध में लोगों ने हंगामा किया था. मकनपुर निवासी मो. फैजी की तहरीर पर आइटी एक्ट और धार्मिक भावनाएं आहत करने व माहौल बिगाड़ने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर आरोपित दुकानदार को गिरफ्तार किया गया है तथा बलवा करने वाले 50-60 लोगों पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है.


Also Read: लव जिहाद के ख़िलाफ़ बड़ी मुहिम छेड़ने की तैयारी में सीएम योगी, जल्द बनेगा यूपी में कड़ा क़ानून


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

राजा भैया को माफिया कहने पर भड़के समर्थक, राज्य मंत्री बोले- इनके खिलाफ भी चल रही जांच

Satya Prakash

मुजफ्फरपुर रेप कांड: सीएम नीतीश ने तोड़ी चुप्पी, दोषियों को दी जायगी कड़ी से कड़ी सजा

BT Bureau

बुलंदशहर हिंसाः हिंदू नेताओं ने पत्र लिख 3 महीने पहले की थी इंस्पेक्टर सुबोध की शिकायत, धार्मिक कार्यक्रमों में लगाते हैं अड़ंगा

BT Bureau