Breaking Tube
Crime Police & Forces UP News

विकास दुबे की गिरफ्तारी से संतुष्ट नहीं शहीद पुलिसकर्मियों के परिजन, योगी सरकार से कर रहे एनकाउंटर की मांग

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में 8 पुलिसकर्मियों की जघन्य हत्या कर फरार गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubey) को उज्जैन, मध्य प्रदेश (Ujjain, Madhya Pradesh) में गिरफतार कर लिया गया है. उसकी गिरफ्तारी को लेकर यूपी की सियासत में घमासान मचा है. उधर विकास की गिरफ्तारी से शहीद पुलिसकर्मियों के परिजन संतुष्ट नहीं हैं. उन्होंने योगी सरकार से विकास दुबे के एनकाउंटर की मांग की है.


झांसी के शहीद सिपाही सुल्तान सिंह की पत्नी उर्मिला वर्मा ने विकास दुबे की गिरफ्तारी पर सवाल उठाते हुए कहा कि क्यों वह अपने आप को पूरी तरह से बचा गया और इस तरह गिरफ्तारी देकर उसने अपने आप को सेफ कर लिया है कहीं न कहीं उसका राजनैतिक गठजोड़ जरूर है, कोई तो है जो उसको बचाने का काम कर रहा है. शहीद की पत्नी ने कहा कि वह चाहती हैं कि विकास को मौत की सजा मिले पर, चाहें पुलिस उसका एनकाउंटर करे या कानून से उसे फांसी की सजा मिले.


इसके अलावा शहीद सिपाही राहुल दिवाकर की बहन और पिता ने बहुचर्चित कानपुर पुलिस हत्‍याकांड के दरिंदे विकास दुबे की उज्जैन में हुई गिरफ्तारी पर सवाल उठाए है. राहुल की बहन नंदनी ने कहा कि इतनी चेकिंग के बावजूद भी विकास दुबे उज्‍जैन तक कैसे पहुँचा. बुधवार तक तो कहा जा रहा था वह फरीदाबाद है जब बॉर्डर सील है तो उज्जैन कैसे पहुंचा. कहीं पुलिस तो उसकी मदद नही कर रही? वर्दी में छिपा ‘भेदिये’ विनय तिवारी ने अपने सहयोगियों के साथ गद्दारी की. जिस तरह से विकास की अंत तक मदद हो रही है उससे मैं संतुष्ट नही हूँ. उन्‍होंने कहा कि विकास को ऑन स्पॉट सूट किया जाए और पुलिस विभाग के गद्दारो को सज़ा मिले. इसी क्रम में दिवाकर के पिता ओमकुमार ने कहा कि वह वहां तक पहुचा कैसे! उसने उज्जैन में अपने नाम से पर्ची कटवाई है दूसरा सवाल यह है कि ‘भेदिया’ विनय तिवारी लगातार चार्ज में क्यों रहा.


इसके अलावा मथुरा के शहीद जितेंद्र पाल के पिता तीरथ पाल भी विकास दुबे की गिरफ्तारी से संतुष्ट नहीं हैं. शहीद के परिवार ने विकास दुबे की गिरफ्तारी को राजनीतिक फंडा बताया है. शहीद के भाई ने यूपी सरकार से विकास दुबे और उसके साथियों के साथ-साथ विश्वासघाती पुलिसकर्मियों का भी एनकाउंटर करने की मांग की है. शहीद के भाई ने कहा कि विकास दुबे ने सिर्फ गेम खेला है, वह तो बच गया. अब जेल में वह गेम खेलेगा.


बता दें कि 2 जुलाई की रात 8 पुलिसवालों को मारकर गैंगस्टर विकास दुबे कानपुर से फरार हो गया था. इस दौरान वह उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान की सीमा पार करते हुए 9 जुलाई को मध्य प्रदेश के उज्जैन में दिखा जहां मध्य प्रदेश पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है. कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टियां विकास के इस तरह की गिरफ्तारी पर सवाल उठा रहीं हैं. उनका कहना है कि विकास को सरकार से संरक्षण प्राप्त है.


Also Read: कौन हैं बिट्टू भैया, जिन्हें गिरफ्तारी के वक्त बार-बार पुकार रहा था विकास दुबे


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अमित शाह के बाद अब यूपी बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को भी हुआ कोरोना, अपने घर पर ही होम क्वॉरंटीन हुए

BT Bureau

अतीक अहमद की अवैध संपत्ति पर फिर चला योगी का बुलडोजर, माफिया को अब तक 200 करोड़ से अधिक की चोट

BT Bureau

कासगंज: किसान परिवार का इकलौता बेटा था शहीद सिपाही देवेंद्र सिंह, मई में है बहन की शादी, खुशियों की जगह छाया मातम

Jitendra Nishad