Breaking Tube
Crime UP News

कानपुर: नौकरी का झांसा देकर खाड़ी देशों में महिलाओं की तस्करी कर रहे अतीकुर्रहमान और मुजम्मिल गिरफ्तार

Kanpur

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में पुलिस ने 2 शातिर मानव तस्करों अतीकुर्रहमान और मुजम्मिल को गिरफ्तार किया है। ये दोनों तस्कर महिलाओं और युवतियों को नौकरी का झासां देकर खाड़ी देशों में भेजने का काम करते हैं, जहां उनका शारीरिक और मानसिक शोषण किया जाता है। कानपुर और उन्नाव की 17 महिलाएं खाड़ी देशों में बंधक हैं। अब भारतीय महिलाओं को आजाद कराने के लिए पुलिस ने विदेश मंत्रालय और ओमान में भारतीय दूतावास से संपर्क किया है। अफसरों के मुताबिक सभी को जल्द मुक्त कराया जाएगा।


दरअसल, 9 अप्रैल को कर्नलगंज निवासी रामू ने एफआईआर दर्ज कराई थी। उसका आरोप था कि अतीकुर्रहमान और मुज्जमिल ने उसकी पत्नी को नौकरी का झांसा देकर ओमान भेज दिया। वहां पर काफिल नाम के शख्स के हवाले कर दिया। वह घरेलू नौकर के रूम में काम करने लगी। आरोप है कि ओमान में शारीरिक और मानसिक शोषण किया गया। कुछ दिन बाद उसने किसी तरह से दूसरे के मोबाइल से यहां पति से संपर्क किया और हकीकत बयां की।


Also Read: बदायूं: ‘बड़े सरकार की दरगाह’ आए गुफरान ने 5 साल की दलित बच्ची से किया बलात्कार, फिर गला घोंटकर मार डाला


कर्नलगंज थाने में रिपोर्ट के बाद क्राइम ब्रांच सक्रिय हुई। डीसीपी क्राइम सलमान ताज पाटिल ने महिला से मोबाइल पर बात की। तहकीकात की तो होश उड़ गए। उसने बताया कि सऊदी अरब, कतर, मस्कट में कानपुर और उन्नाव की 17 महिलाएं कैद हैं। गुजरात की एक महिला भी ऐसे ही बंधक है। पीड़िता ने पुलिस को सबके नाम भी बताए हैं। पुलिस इन महिलाओं के घर वालों से संपर्क कर रही है।


डीसीपी क्राइम सलमान ताज पाटिल का कहना है कि उन्होंने विदेश मंत्रालय भारत सरकार और ओमान में भारतीय राजदूत से संपर्क किया है। उनके साथ पीड़िता को रिलीज कराने का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस ने इन दोनों एजेंटों द्वारा भेजी गई अन्य महिलाओं और युवतियों के परिजनों से बात की। इसके अलावा वह महिलाएं जो खाड़ी के देशों से वापस आ चुकी हैं उनसे भी बात की।


Also Read: रामपुर: दरिंदा यमन खान कमरे में कर रहा था नाबलिग लड़की का रेप, बाहर रखवाली कर रही थी पत्नी रूमाना बेगम


डीसीपी का कहना है कि इनमें से कई महिलाओं ने भी यही बताया कि वहां पर उनका मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न किया था। उन्होंने कहा यह ह्यूमन ट्रैफिकिंग का बहुत ही गंभीर मामला है। इससे जुड़े अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया जाएगा। डीसीपी ने कहा कि ओमान में केवल भारत की ही नहीं अफ्रीका, श्रीलंका और नेपाल की भी महिलाएं फंसी है।


इस मामले में कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण का कहना है कि विदेश मंत्रालय और भारतीय दूतावास को ई-मेल के जरिए सूचना देकर मुक्त कराने में मदद मांगी गई है। मानव तस्करी मानवता को शर्मसार करने वाला अपराध है। इसमें पीड़िता के अलावा उसके परिवार का भी शोषण होता है। पुलिस ऐसे अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए निरंतर प्रयास करती रहेगी।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी: जब बीच सड़क बच्चियों के दीये बेचने लगे SHO, फटाफट बिक गया सब माल

Shruti Gaur

मथुरा: मंदिर में नमाज पढ़ने वाला फैसल खान निकला कोरोना पॉजिटिव, कोर्ट ने 14 दिन की रिमांड पर भेजा

Jitendra Nishad

बस्ती पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, टेरर फंडिंग और ई-टिकट के अवैध कारोबार का सरगना मो. अशरफ हामिद गिरफ्तार

Jitendra Nishad