Breaking Tube
Crime Politics UP News

कासगंज: किसान परिवार का इकलौता बेटा था शहीद सिपाही देवेंद्र सिंह, मई में है बहन की शादी, खुशियों की जगह छाया मातम

Kasganj attack on police Constable devendra singh

उत्तर प्रदेश के कासगंज (Kasganj) जिले के सिढ़पुरा थाना क्षेत्र के गांव नगला धीमर में मंगलवार को पुलिस टीम पर शराब माफियाओं के हमले (Attack on Police) में बिकरू कांड की याद ताजा कर दी। शराब माफियाओं को पकड़ने गई पुलिस टीम के दारोगा और सिपाही को बंधक बनाकर बेरहमी से पीटा गया। पिटाई से बुरी तरह घायल सिपाही देवेंद्र सिंह (Constable Devendra Singh) की मौत हो गई, जबकि दारोगा अशोक पाल गंभीर रूप से घायल हैं। सिपाही देवेंद्र की मौत की सूचना से परिवार के साथ ही गांव में भी कोहराम मचा हुआ है।


इकलौते बेटे थे सिपाही देवेंद्र, मई में तय थी बहन की शादी


शहीद सिपाही देवेंद्र जसावत के पिता महावीर सिंह किसान हैं। देवेंद्र अपने पिता के इकलौते बेटे थे। वह 2015 बैच के सिपाही थे। उनकी शादी 2016 में ब्लॉक श्मशाबाद क्षेत्र के नगला की चंचल से हुई थी। देवेंद्र की मौत की खबर से उनकी पत्नी को गहरा धक्का लगा है। पति के मौत की खबर से पत्नी बेसुध है। उसकी हालत देखी नहीं जा रही है। सभी उसे शांत कराने का प्रयास कर रहे हैं। देवेंद्र की दो बेटियां है। बड़ी बेटी का नाम वैष्णवी (3 वर्ष) और छोटी का नाम गुड़िया महज चार माह की है।


Also Read: कासगंज: CM योगी ने शहीद सिपाही के परिजनों के प्रति जताई संवेदना, 50 लाख रूपए के साथ सरकारी नौकरी देने का ऐलान


वर्तमान समय में देवेंद्र की तैनाती कासगंज जिले के सिढ़पुरा थाने पर थी। 23 वर्षीय देवेंद्र अपनी बहन की शादी को लेकर काफी उत्साहित थे। इसी साल मई में उनकी बहन की शादी तय थी। वह रोजाना अपने घर पर आगरा में बात कर परिवार से शादी की तैयारियों के बारे में बात करते थे। पिछली बार जब वह आगरा गए थे तो जल्द छुट्टी लेकर वापस लौटने की बात कहकर वापस ड्यूटी पर लौट गए थे। लेकिन किसे पता था कि परिवार की खुशियों पर इस तरह ग्रहण लग जाएगा।


ये है पूरा घटनाक्रम


दरअसल, मंगलवार को अवैध शराब बनाने की खबर मिलने पर दबिश देने गई पुलिस टीम पर ही शराब माफिया ने हमला कर दिया। इस दौरान सिढ़पुरा थाने के दारोगा अशोक पाल और सिपाही देवेंद्र सिंह को बदमाशों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, उनकी वर्दी फाड़ दी गई। असलहे छीन लिए गए। कई घंटों तलाश के बाद दारोगा और सिपाही जंगल में लहूलुहान हालत में अलग-अलग स्थानों पर मिले। अपराधियों ने दारोगा की वर्दी फाड़कर फेंक दी थी। घायल हालत में पुलिसकर्मियों को इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवाया गया। अस्पताल लाने तक सिपाही की मृत्यु हो गई, जबकि दारोगा की हालत गंभीर बनी हुई है।


Also read: यूपी: कासगंज में पुलिस टीम पर हमले का आरोपी एनकाउंटर में ढेर, अन्य की तलाश जारी


डीएम चंद्र प्रकाश सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद कांस्टेबल के परिवार को 50 लाख की आर्थिक सहायता और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है। सीएम योगी ने सभी आरोपियों पर एनएसए की कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। वहीं, पुलिस ने सिपाही की हत्या करने वाले शराब माफिया को मुठभेड़ में मार गिराया है। आरोपी का नाम ऐलकार है, जबकि दूसरा आरोपी फरार बताया जा रहा है।


जानकारी के अनुसार सिढ़पुरा थाना क्षेत्र में बुधवार तड़क काली नदी की कटरी किनारे पर यह मुठभेड़ हुई। आरोपी ऐलकार गांव धीमर का रहने वाला था। मुख्य आरोपी मोती फरार है, उसपर 11 मामले दर्ज है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। ऐलकार भी पुराना हिस्ट्रीशीटर था, उसपर भी कई मामले दर्ज हैं।


INPUT – Martand Singh


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

#MeToo: साकिब सलीम बोले- उसने मेरी पैंट में हाथ डाला और ## की कोशिश करने लगा…

Satya Prakash

“कार में बुलाकर हाथ पकड़ा, फिर जबरन किया Kiss”, महिला IPS ने DGP पर लगाए संगीन इल्जाम

BT Bureau

यूपी बीजेपी के लिए खतरे की घंटी, संगठन-सरकार में हो सकती है बड़ी तब्दीली

BT Bureau