Breaking Tube
Crime UP News

कासगंज: धर्मांतरण कराने वाले 5 क्रिश्चियन मिशनरी गिरफ्तार, विरोध पर हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं से की थी मारपीट

Kasganj Christian conversion

उत्तर प्रदेश के कासगंज (Kasganj) जिले में धर्म परिवर्तन (Christian conversion) का प्रयास कर रहे पांच लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में 6 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। धर्म परिवर्तन करा रहे लोगों के पास से आपत्तिजनक साहित्य भी बरामद किया गया है।


जानकारी के अनुसार, सिकंदरपुर वैश्य थाना क्षेत्र के गांव गंगपुर में रविवार को हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं को ईसाई धर्म का प्रचार करने वाले लोगों द्वारा धर्मांतरण कराने की सूचना मिली। इसके बाद दर्जनों कार्यकर्ता गांव पहुंचे और उन्होंने इसका विरोध किया। हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं का आरोप है कि जब उन्होंने ईसाई धर्मांतरण का विरोध किया तो उन लोगों ने उनके साथ मारपीट की।


Also Read: लव जिहाद: जय बना जाबिर, युवती को फंसाने के लिए हाथ में बांधता था कलावा, दुष्कर्म के बाद धर्मांतरण का दबाव


ऐसे में कार्यकर्ताओं ने पुलिस को सूचना दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपियों की तलाशी ली। इस दौरान धर्मातंरण करा रहे लोगों के पास से पुलिस को एक कॉपी में हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणियां लिखी हुई मिलीं। इस पर कार्यकर्ताओं के विरोध के बाद पुलिस ने 6 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है और पांच लोगों को धर्मांतरण मामले में गिरफ्तार कर लिया है।


इस मामले में हिंदू जागरण मंच के पदाधिकारी अरविंद गुप्ता ने इन लोगों के खिलाफ थाना सिकंदरपुर वैश्य में एफआईआर दर्ज कराई है। उन्होंने श्रीनिवास, कुलदीप निवासी लधौली, राहुल कुमार निवासी कपिपुरा जैथरा, शिवकुमार निवासी गांव नगला रामजीत, दुर्गेश निवासी हरौड़ा, रामपाल निवासी गंगपुर और किशन निवासी नगला बोडार पर धर्म ​परिवर्तन का आरोप लगाया है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी: मामूली बात पर BJP नेता ने सिपाही पर तानी कारबाइन, गिरफ्तार, SO ने समझौता कराकर छोड़ा

BT Bureau

यूपी उपचुनाव: समाजवादी पार्टी ने घोषित किए 4 उम्मीदवार, जानिए किसे मिला टिकट

BT Bureau

UP: पंचायत चुनाव ड्यूटी में 2020 कार्मिकों की कोरोना से हुई मौत, परिजनों को मिलेगी 30-30 लाख रुपए अनुग्रह राशि

BT Bureau