Breaking Tube
Corona UP News

लखनऊ के अपोलो, मेयो, चरक और चंदन Covid-19 मरीज़ों के लिए साबित हुए मुर्दाघर, रेफ़र हुए सभी 48 मरीज़ों की हुई मौत, जाँच के आदेश, नोटिस

उत्तर प्रदेश के लखनऊ (Lucknow) के 4 बड़े निजी हॉस्पिटल कोरोना (Covid-19) मरीजों के लिए मुर्दाघर साबित हुए हैं. यहां रेफर हुए सभी 48 मरीजों की मौत हो गई है. इसके बाद अब प्रशासन ने चारों अस्पतालों को नोटिस दिया है. डीएम अभिषेक प्रकाश ने बताया कि, अस्पताल प्रबंधन को एडीएम ट्रांस गोमती और सीएमओ को जवाब देना है. जवाब देने के लिए बुधवार शाम तक का समय दिया गया है. इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.


चारों को नोटिस जारी, महामारी एक्ट में होगी कार्रवाई

जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि कि अपोलो अस्पताल (Appolo Hospital), मेयो अस्पताल (Mayao Hospital), चरक अस्पताल (Charak Hospital) और चंदन अस्पताल (Chandan Hospital) को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. अपोलो हास्पिटल में गैर कोविड अस्पताल से 17 कोरोना मरीज भेजे गए थे. इन सभी की मृत्यु हो गई. इसी तरह मेयो में 10, चरक में 10 और चंदन अस्पताल में 11 मरीज गैर कोविड अस्पतालों से भेजे गए थे. सभी की मृत्यु हो गई, सभी कोविड और गैर कोविड अस्पताल हैं. यानी अस्पताल का एक हिस्सा कोविड और दूसरा गैर कोविड सामान्य मरीजों के लिए सुरक्षित है. एक हिस्से से दूसरे हिस्से में मरीज को स्थानांतरित करने में देरी पता चली है.


ये लापरवाही आई सामने

जिालाधिकारी के मुतािबक इन सभी मौतों में अस्पतालों की लापरवाही प्रतीत हो रही है. जो कारण अभी तक पता चले हैं, उनमें मरीज का कोविड टेस्ट देरी से कराना, टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद भी समय से मरीज को उपचार के लिए कोविड-19 अस्पताल नहीं भेजना है. अस्पताल में कोविड दिशा निर्देश के अनुसार ट्राइड यानी होल्डिंग एरिया का न होना अथवा मानकों के अनुरूप कार्य न होना शामिल है. इसमें लापरवाही बरतने वाली निजी अस्पतालों के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत सख्त कार्रवाई भी होगी.


भर्ती में अस्पतालों की नहीं चल सकेगी मनमानी

कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रशासन अब सभी कोविड अस्पतालों में बेडों की उपलब्धता को ऑनलाइन करने जा रहा है. प्रशासन एक सॉफ्टवेयर तैयार कर रहा है. इसमें मरीज के अस्पताल में भर्ती और डिस्चार्ज होते ही तत्काल इसकी सूचना सॉफ्टवेयर पर अपडेट हो जाएगी. डीएम अभिषेक प्रकाश का कहना है इससे अस्पतालों में बेडों की स्थिति को लेकर किसी तरह का असमंजस नहीं रहेगा.


Also Read: भू-माफियाओं को सबक सिखाएंगे योगी, अवैध निर्माण गिराने के साथ अब कब्जे की अवधि का किराया और हर्जाना भी वसूलेगी सरकार


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

भारत की अलग पहचान की प्रतीक बनेगी यूपी फिल्म सिटी, 50 साल की ज़रूरतों को ध्यान में रखकर होगा निर्माण: सीएम योगी

BT Bureau

आगरा: जेबकतरे को पकड़ने के लिए रिक्शाचालक बन गया सिपाही, 3 दिन चलाया रिक्शा और फिर कुछ यूं रंगे हाथ किया गिरफ्तार

BT Bureau

राजा भैया को माफिया कहने पर भड़के समर्थक, राज्य मंत्री बोले- इनके खिलाफ भी चल रही जांच

Satya Prakash