Breaking Tube
Police & Forces UP News

महोबा के कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने डिप्रेशन में खुद को मारी थी गोली, नहीं हुई हत्या, SIT की रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

Mahoba Indrakant Tripathi

उत्तर प्रदेश के महोबा (Mahoba) के चर्चित केस इंद्रकांत त्रिपाठी (Indrakant Tripathi) हत्याकांड में नया खुलासा हुआ है। इस मामले की जांच करने वाली एसआईटी टीम ने अपनी रिपोर्ट पेश कर दी है। रिपोर्ट के मुताबिक, कारोबारी ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से खुद को ही गोली मार कर जान दे दी। एसआईटी ने रिपोर्ट में दावा किया है कि इंद्रकांत त्रिपाठी ने मानसिक तनाव की वजह से यह कदम उठाया।


प्रयागराज जोन के एडीजी प्रेमप्रकाश ने शुक्रवार की देर रात एसआईटी रिपोर्ट की जानकारी देते हुए बताया कि जांच में सामने आया है कि इंद्रकांत की कार की पिछली सीट में जो गोली धंसी हुई थी, वह कारोबारी की पिस्टल से ही चली थी। एडीजी प्रेम प्रकाश के मुताबिक, गोली इंद्रकांत के गले के भेदते हुए कार की पिछली सीट में घुस गई थी, फॉरेंसिक जांच में भी इसकी पुष्टि हुई है। घटना के वक्त कार में त्रिपाठी के अलावा और कोई नहीं था।


Also read: महोबा व्यापारी हत्याकांड में बड़ा खुलासा, निलंबित SP ने सिपाही की मदद से मांगे थे दो लाख


इस दौरान एडीजी ने स्प्ष्ट किया कि अभी इस मामले में किसी को क्लीन चिट नहीं दी गई है। कारोबारी को मानसिक तनाव में पहुंचाने के जिम्मेदार तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार थे। मौके से पिस्टल नहीं बरामद होने पर एडीजी ने बताया कि घटना के वक्त वहां से गुजर रहे इंद्रकांत के बिजनेस पार्टनर बल्लू के भाई आशाराम ने पिस्टल उठा ली और इंद्रकांत के साले ब्रजेश शुक्ल को दे दी थी।


गौरतलब है कि इंद्रकांत त्रिपाठी ने महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार पर रिश्वत खोरी के गंभीर आरोप लगाए थे और अपनी हत्या की आशंका व्यक्त की थी। आरोप लगाने के अगले ही दिन रहस्मय परिस्थितियों में इंद्रकांत को गोली लग गयी थी, जिसके बाद उन्हें कानपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां 5 दिनों बाद इंद्रकांत की मौत हो गई थी। इस मामले में एसपी महोबा को पहले ही निलंबित किया जा चुका है। इंद्रकांत पर हमले के मामले में भी पाटीदार को नामजद किया गया था।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

‘मुसलमान गांव में कराते हैं धर्मांतरण, देखते ही देखते हिंदुओ से 8 गुना कर ली अपनी जनसंख्या, अब करते मनमानी’, पलायन को मजबूर दलितों ने बयां किया दर्द

BT Bureau

लखनऊ पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर को जान से मारने की धमकी, बढ़ाई गई आवास की सुरक्षा

Jitendra Nishad

प्रतापगढ़: चुनावी रंजिश में पुलिस पर पथराव करने वालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू, 60 आरोपियों पर केस दर्ज

BT Bureau