Breaking Tube
Social UP News

राम मंदिर में लगे दशानन ‘रावण’ की भव्य प्रतिमा, PM मोदी को पत्र लिखकर की गई मांग

Ravana statue in ram temple

उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद के लंकेश भक्त मंडल ने अयोध्या में बनने वाले भगवान श्रीराम के मंदिर में रावण की भव्य प्रतिमा (Ravana Statue in Ram Temple) लगाने की मांग की है। इस संगठन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष को इस संबंध में पत्र भी लिखा है। संगठन के अध्यक्ष ओमवीर सारस्वत ने शुक्रवार को कहा कि लंकेश भक्त मंडल इस प्रतिमा को स्थापित करने का पूरा खर्च उठाएगा।


ओमवीर सारस्वत ने कहा कि अयोध्या के राम मंदिर में प्रतिमा स्थापित करना रावण को सच्ची श्रद्धाजंलि होगी। उन्होंने कहा है कि सभी लंकेश भक्त राम मंदिर निर्माण में अपना दान देने के साथ-साथ लंकेश की भव्य प्रतिमा के लिए भी दान देंगे। सारस्वत ने कहा कि अयोध्या धाम में भगवान श्रीराम के बनाए जा रहे अद्भुत मंदिर में अब भगवान श्रीराम के आचार्य दशानन की भी उसी तरह से भव्य प्रतिमा अयोध्या में लगे। जिस तरह से भगवान श्रीराम की भव्य प्रतिमा लगने जा रही है।


Also Read: अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान- आजम की जौहर यूनिवर्सिटी को बचाने के लिए कोर्ट में लड़ेंगे लड़ाई, पूरे प्रदेश में आंदोलन करेंगे समाजवादी


वहीं, पीएम मोदी और श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष को लिखे पत्र में कहा गया है कि लंका पर विजय प्राप्त करने से पहले भगवान श्रीराम ने सेत बंधु रामेश्वरम पर महाराज दशानन से महादेव की पूजा कराई थी। उस समय भगवान श्रीराम की ओर से जामवंत लंका गए थे। उन्होंने प्रभु राम की ओर से लंकेश को आचार्य बनने के निमंत्रण को रावण ने स्वीकार किया था। जानकी जी को साथ लाकर रामजी से युद्ध में विजय प्राप्त करने की पूजा-अर्चना रामेश्वरम में दशानन ने कराई थी।


गुरुवार को लंकेश भक्त मंडल के पदाधिकारियों ने इसे लेकर बैठक में चर्चा की, जिसमें बीडी शमा, कुलदीप अवस्थी, ब्रजेश सारस्वत, संजय सारस्वत, अजय सारस्वत, संतोष सारस्वत, गजेंद्र सारस्वत, देवेंद्र सारस्वत, प्रमोद सारस्वत, मुकेश सारस्वत प्रधान, राकेश सारस्वत, अनिल सारस्वत, कपिल सारस्वत, हरिओम सारस्वत आदि शामिल थे।


Also Read: Subhash Chandra Bose Jayanti 2021: आजाद हिंद फौज की अपनी अलग बैंक थी, नोटों पर छपती थी नेताजी की फोटो


बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से देशव्यापी निधि समर्पण संग्रह अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान में लोग बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। उधर, मंदिर निर्माण के लिए नींव की खुदाई तेज कर दी गई है। इसके पहले देश के प्रतिष्ठित भू-वैज्ञानिकों की मदद से कार्यदाई संस्था एलएण्डटी ने राम मंदिर के नींव की डिजाइन को तैयार करा लिया है।


रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय डिजाइन को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हैं। वह कहते हैं कि जितनी प्रमाणिकता के साथ वैज्ञानिकों ने अपना काम किया है, उसके कारण पूरी दुनिया भारत के इंजीनियरिंग ब्रेन को स्वीकार करेगी। वह कहते हैं कि मंदिर निर्माण शुरु करने से पहले भूमिगत परीक्षण करने में सात माह का समय अवश्य लगा है। फिर भी मंदिर निर्माण के मौलिक समय में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है। ऐसे में फरवरी 2021 से मंदिर निर्माण में 39 माह का समय लगेगा। वह कहते हैं कि मैनुवल कार्य होना है, इसलिए दो-चार प्रतिशत इधर-उधर समय में हेराफेरी हो सकती है लेकिन ज्यादा नहीं होगी। उनका मानना है कि अगस्त तक नींव निर्माण का काम पूरा हो जाएगा। फिर मूल मंदिर का काम होगा।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अलीगढ़: होली के चलते ढकी गई मस्जिद, सामने आई ये वजह

Praveen Bajpai

प्रियंका गांधी का सीएम योगी को पत्र, कानून व्यवस्था सुधारे सरकार, प्रदेश में बढ़ रहीं अपहरण की घटनाएं

Jitendra Nishad

योगी सरकार खोलने जा रही नौकरियों का पिटारा, MSME के जरिए 15 लाख लोगों को रोजगार देने की तैयारी

Jitendra Nishad