Breaking Tube
Crime Politics UP News

मायावती के खास रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी और राम अचल राजभर भगोड़ा घोषित, संपत्ति कुर्क करने का आदेश

nasimuddin siddiqui ram achal rajbhar

भाजपा नेता दयाशंकर सिंह के परिवार की महिलाओं और उनकी बेटी पर अर्मयादित टिप्पणी करने के मामले में एमपी-एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार राय ने हाजिर नहीं होने पर बसपा के पूर्व महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी (Nasimuddin Siddiqui) और राम अचल राजभर (Ram Achal Rajbhar) को भगोड़ा घोषित करते हुए उनकी संपत्ति कुर्क करने का आदेश दिया है।


कोर्ट ने खारिज किया हाजिरी माफी का प्रार्थना पत्र


जानकारी के अनुसार, इस मामले की अगली सुनवाई 22 फरवरी को होनी है। लखनऊ के हजरतगंज थाने से संबंधित साल 2016 के 2 मामले कोर्ट में हाजिरी के लिए नियत थे। इनमें आरोपी मेवालाल गौतम, अतर सिंह राव और नौशाद अली हाजिर थे, लेकिन नसीमुद्दीन सिद्दीकी और राम अचल राजभर गैर हाजिर थे।


Also Read: Tandav विवाद: सीएम योगी ने कार्रवाई के लिए मुंबई भेजी UP पुलिस, अब माफी मांग रहे अली अब्बास जफर


इन दोनों आरोपियों की ओर से हाजिरी माफी और मुकदमे में तारीख देने की मांग वाली अर्जी दी गई। कोर्ट ने पहले मामले में कहा कि दोनों आरोपियों का गिरफ्तारी वारंट जारी होने और भगोड़ा घोषित होने के बाद भी हाजिर नहीं हो रहे हैं। ऐसे में इनका हाजिरी माफी और स्थगन प्रार्थना पत्र पोषणीय न होने के कारण खारिज किया जाता है।


22 तक दोनों की संपत्ति कुर्क कर रिपोर्ट देने का आदेश


कोर्ट ने दोनों आरोपियों नसीमुद्दीन सिद्दीकी और राम अचल राजभर को फरार घोषित कर संबंधित थाना प्रभारी को उनकी संपत्ति कुर्क कर 22 फरवरी तक रिपोर्ट देने का आदेश दिया है। आरोपियों के बयान के लिए नियत दूसरे मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि दोनों के हाजिर न होने से मुकदमे की कार्रवाई आगे नहीं बढ़ पा रही है। इस पर कोर्ट ने भगोड़ा घोषित करते हुए 82 दंड प्रक्रिया संहिता का आदेश जारी कर जमानतदारों को नोटिस दिए हैं।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

भदोही: CAA विरोध में हिंसा के मास्टरमाइंड AIMIM जिलाध्यक्ष तनवीर हयात खान सहित 3 के खिलाफ NSA की कार्रवाई

BT Bureau

भीड़ हिंसा एक अपराध है फिर उद्देश्य चाहे कुछ भी हो- पीएम मोदी

BT Bureau

बाहुबली विधायक विजय मिश्रा पर कसा शिकंजा, पूर्व कांग्रेस मंत्री बोले- योगी सरकार में ‘ब्राह्मण’ असुरक्षित

BT Bureau