Breaking Tube
Administration UP News

UP: बॉडी वार्न कैमरे से लैस होगा मुख्तार की बैरक के पास तैनात हर जवान, ड्रोन कैमरे से हो रही निगरानी

Mukhtar Ansari banda jail Punjab government

यूपी पुलिस ने मुख्तार अंसारी को बांदा जेल पहुंचा दिया है। जिसके बाद अब उसकी सुरक्षा का खासा ध्यान रखा जा रहा है। दरअसल, बांदा जेल में बनी बैरक नंबर 16 में मुख्तार को रखा गया है। वहां किसी के भी आने जाने पर मनाही है। इसके साथ ही बड़ी तादाद में सुरक्षा कर्मियों को वहां असलहों के साथ तैनाती दी गई है। वहां तैनात जवानों की वर्दी पर कैमरे तक लगे हैं।


रास्ते में भी रखा गया सुरक्षा का ध्यान

जानकारी के मुताबिक, मुख्तार अंसारी को जब पंजाब से यूपी लाया जा रहा था तो उसके ऊपर हमले की आशंका जताई गई थी। इसलिए रास्ते में पड़ने वाले सभी जिलों को अलर्ट पर रखा गया था। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सभी पुलिसकर्मियों को बुलेटप्रूफ जैकेट पहनाया गया था और मुख्तार अंसारी को भी बुलेटप्रूफ जैकेट पहनाया गया था।


इसके साथ ही बांदा जिले की मुख्तार को बैरक नंबर 15 में रखा गया है। इसी बैरक में मुख्तार पहले भी था, लेकिन इस बार मुख्तार के आसपास कोई भी जाना पहचाना चेहरा नहीं होगा। इसीलिए बांदा जेल को 30 नए सुरक्षाकर्मी दिए हैं जिनमें 12 जेल वार्डर और 18 पीएसी के जवान है। यह नए जेलकर्मी और सुरक्षाकर्मी ही मुख्तार की बैरक के आसपास तैनात रहेंगे।


किए गए हैं सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

सुरक्षा के मद्देनजर बांदा जेल में एक ड्रोन कैमरा, 5 बॉडी वॉर्न कैमरे और 30 अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी तैनात क‍िए गए। सूत्रों के मुताबिक, मुख्तार के आसपास जाने वाला हर जेल कर्मी बॉडी वॉर्न कैमरे से लैस रहेगा, ताकि उसके और मुख्तार के बीच हुई बातचीत और व्यवहार की रिकॉर्डिंग हो सके।


जेल की निगरानी के लिए एक ड्रोन कैमरा भी लखनऊ से भेजा गया है ,वहीं मुख्तार अंसारी की बैरक और आसपास के इलाके को सीसीटीवी कैमरों से लैस कर दिया गया है। यह सीसीटीवी कैमरे लखनऊ जेल मुख्यालय में बनी वीडियो वॉल से कनेक्ट रहेंगे, लिहाजा मुख्तार की बैरक की निगरानी जेल मुख्यालय से भी होती रहेगी।


Also read: UP Board Exam 2021: परीक्षाओं की तारीख में हो सकता है बदलाव, 10वीं-12वीं बच्चों का होगा Corona टेस्ट


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अब UP की महिलाएं बनेंगी उद्यमी, पुष्टाहार उत्पादन इकाई लगाकर रोजगार देगी योगी सरकार

Jitendra Nishad

UP में अब संस्कृत भाषा में जारी हो रहा प्रेस नोट, CM योगी ने दिया था निर्देश

BT Bureau

किसानों के हित में हैं कृषि सुधार कानून, आंदोलन के पीछे CAA-NRC विरोधी ताकतों की साजिश: स्वतंत्र देव सिंह

Jitendra Nishad