Breaking Tube
Crime Government UP News

मुख्तार का अब तक 100 करोड़ से अधिक का अवैध साम्राज्य ध्वस्त, योगी के बुलडोजर ने हिला दीं माफिया की चूलें

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Adityanath Government) प्रदेश के बाहुबली अपराधियों पर लगातार शिकंजा कसती जा रही है. बीते कुछ महीनों में लिए गए सख्त एक्शन से अपराधियों की चूलें हिल गई हैं. इस कार्रवाई में सबसे ज्यादा अगर कोई नाम चर्चा में रहा तो वह है मऊ की सदर सीट से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) प्रशासन मुख्तार और उसके गुर्गों की काली कमाई से बनाई गईं अवैध सम्पत्तियों को चुन-चुन कर जमींदोज कर रहा है. पुलिस हर उस शख्स तक पहुंच रही है जिसके तार मुख्तार अंसारी से जुड़े हुए हैं. वह अभी रोपड़ जेल में बंद है. 


मुख्तार के दोनों बेटों उमर और अब्बास पर सरकारी जमीन कब्जाने के आरोप में एफआईआर दर्ज है. तब से ही दोनों फरार हैं और अब तो पुलिस उनके सिर 25-25 हजार का इनाम भी घोषित कर चुकी है. वहीं पत्नी आफसा और सालों शहजाद और सरजील के खिलाफ भी अवैध जमीन कब्जे के आरोप में एफआईआर दर्ज है. गाजीपुर गैंगस्टर कोर्ट ने तीनों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है.


मुख्तार और उस जैसे यूपी के कई बड़े माफिया पर कार्रवाई की शुरूआत चर्चित बिकरू हत्याकांड के बाद से हुई. इसके बाद तो प्रशासन ने ऐसी ताबड़तोड़ कार्रवाई की, कि देखते ही देखते मुख्तार की लगभग 100 करोड़ की अवैध सम्पत्ति खाक में मिल गई. इसमें उसकी गैंग में शामिल सदस्यों की नामी-बेनामी संपत्तियों को जब्त किया साथ ही अवैध निर्माण ढहा दिए गए. उसके सभी अवैध धंधों पर प्रशासन का डंडा चला जिसमें शापिंग मॉल कांपलेक्स, मछली कारोबार, अवैध वसूली गैंग, कोयला व्यवसाय पर नकेल कसी गई.


प्रशासन की सख्त कार्रवाई का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अकेले मऊ में मुख्तार अंसारी गैंग से जुड़े आधा दर्जन लोगों की  21 करोड़ से ज्यादा की काली कमाई से बनाई संपत्तियों को पुलिस प्रशासन ने जब्त कर लिया. वहीं नगर के पठानटोला में उसके गुर्गे के स्लाटर हाउस को ध्वस्त कर लाखों की जमीन जब्त की. यही नहीं उसके परिवार के सदस्यों पत्नी, सालों ने जो सरकारी जमीन कब्जा रखी थी उसको भी मुक्त कराया गया.इसकी कीमत लगभग 22  लाख रूपए है.


माफिया के गुर्गों पर कसा शिकंजा

मुख्तार के गुर्गों में शामिल उमेश,असगर शेख, अब्दुल हक, राहुल सिंह,नन्हें खां, रवींद्र निषाद के खिलाफ कार्रवाई की है. इसमें इन्होनें जितनी भी जमीनों को अवैध तरीके से कब्जाया था उसे मुक्त कराया गया. इसमें विधायक के गृह जिले  गाजीपुर में उसके सहयोगियों भीम व राहुल सिंह के कब्जे से एयरपोर्ट की 36.50 करोड़ की सरकारी जमीन को मुक्त कराया.जौनपुर में मछली माफिया रवींद्र निषाद की 7.5 करोड़ की संपत्ति जब्त कर ली गई. भू त्रिदेव कंस्ट्रक्शन के उमेश के लगभग 6.5 करोड़ के  भीटी सिटी मॉल जब्त कर लिया. मछली माफिया पारसनाथ सोनकर की 8.17 करोड़ की संपत्ति जब्त की. इसी तरह आजमगढ़ के गुर्गे कुंटू की लगभग 9.00 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई. 


Also Read: योगी का ‘ऑपरेशन दुराचारी’, अब UP में महिलाओं से किया अपराध तो पोस्टर पर टंगे मिलोगे


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

तस्करी के लिए ले जा रहे थे गौ वंश, पुलिस ने किया गिरफ्तार

BT Bureau

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी के जीवन पर बनेगी फिल्म, लेखक परशुराम लिखेंगे स्क्रिप्ट

BT Bureau

भीड़ हिंसा एक अपराध है फिर उद्देश्य चाहे कुछ भी हो- पीएम मोदी

BT Bureau