Breaking Tube
Politics Social Media Trending Topic UP News

माफिया मुख्तार को बचाने में जुटी कांग्रेस की सोशल मीडिया पर किरकिरी, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ ‘मुख्तार पर मेहरबान प्रियंका’

अपराध और अपराधियों के मुद्दों पर यूपी में सड़कों पर उतरने वाली कांग्रेस, प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) और राहुल गांधी शायद मुख्तारी अंसारी (Mukhtar Ansari) को माफिया या क्रिमिनल नहीं मानते. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि मुख्तार को पंजाब से लाने में 32वीं बार यूपी पुलिस को कांग्रेस शासित सरकार की पुलिस ने रोक दिया. मुख्तार अंसारी अभी पंजाब की रोपड़ जेल में बंद है. 31 बार यूपी की पुलिस समन लेकर मुख्तार को लाने रोपड़ जा चुकी है, 31 बार मुख्तार अंसारी मेडिकल ग्राउंड का हवाला देकर यूपी जाने से बचाया जा चुका है. वहीं माफिया को बचाने को लेकर सोशल मीडिया पर कांग्रेस की जमकर किरकिरी हो रही है. ट्विटर पर #मुखतार_पर_मेहरबान_प्रियंका टॉप ट्रेंड कर रहा है.


तमाम कानूनी कोशिशों के बाद भी मुख्तार को यूपी के कोर्ट में पेशी के लिए अनुमति न देने पर लोगों ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा को आड़े हाथों लिया और तीखे शब्दों में प्रियंका वाड्रा पर मुख्तार को राजनीतिक संरक्षण देने को लेकर तंज कसा. खबर लिखे जाने तक करीब 50 हजार अधिक ट्वीट्स हो चुके थे. ट्विटर पर #मुखतार_पर_मेहरबान_प्रियंका के साथ लोगों ने एक ओर जहां यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की माफियाओं के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की सराहना की, वहीं मुख्तार को बचाने की कोशिश के आरोप लगाकर कांग्रेसनीत पंजाब सरकार और कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के नीतियों की निंदा की.


बता दें कि कुख्यात गैंगस्टर मुख्तार अंसारी को लेकर यूपी और पंजाब पुलिस के बीच ठन गई है. कई मामलों का आरोपी मुख्तार अंसारी अभी रंगदारी के एक मामले में पंजाब के रोपड़ जेल में बंद है. उत्तर प्रदेश की पुलिस अब मुख्तार अंसारी को वापस यूपी लाना चाहती है ताकि उसके गुनाहों का हिसाब-किताब किया जा सके. मुख्तार अंसारी को वापस लाने के लिए यूपी पुलिस शीर्ष अदालत का नोटिस लेकर पंजाब पहुंची थी, लेकिन यूपी की गाजीपुर पुलिस को उस वक्त निराशा हाथ लगी जब पंजाब पुलिस ने मुख्तार अंसारी के मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर उसे सौंपने से इनकार कर दिया. पंजाब पुलिस की तरफ से कहा गया कि बीमारी की वजह से मुख्तार अंसारी लंबा सफर नहीं कर सकता इसलिए उसे फिलहाल यूपी नहीं भेजा जा सकता है. जेल के अधीक्षक ने इस मामले में यूपी पुलिस से यह भी कह दिया है कि वो अपना जवाब सुप्रीम कोर्ट में दाखिल करेंगे.


Also Read: माफिया मुख्तार को UP Police से बचाने को SC में गिड़गिड़ाती रही कांग्रेस सरकार, जवाब देने के लिए मांगा 2 हफ्ते का वक्त


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

संसद का विशेष सत्र बुलाकर पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित करें तथा उसे पानी देना बंद करें: अश्विनी उपाध्याय

Jitendra Nishad

अखिलेश यादव देशहित के मुद्दों पर कांग्रेस के पिछलग्गू, खुद भ्रम में हैं इसलिए भ्रम फैला रहे हैं: श्रीकांत शर्मा

BT Bureau

बरेली: मजदूरों को सैनिटाइजर से नहलाया, अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर साधा निशाना

BT Bureau