Breaking Tube
Crime UP News

मुंबई के बाद अब UP में भी सामने आया TRP SCAM, सीएम योगी की सिफारिश पर CBI ने दर्ज की FIR

महाराष्ट्र (Maharashtra) में ‘टेलीविजन रेटिंग पॉइंट’ (Telivision Rating Point) टीआरपी घोटाला (TRP Scam) की आने के बाद अब उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भी ऐसा ही मामला सामने आया है. जानकारी के अनुसार गोल्डन रैबिट कंपनी के सीईओ कमल शर्मा ने लखनऊ (Lucknow) के हजरतगंज थाने में ये एफआईआर दर्ज कराई है. जांच एजेंसी ने टीआरपी स्कैम में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.


एफआईआर अज्ञात के खिलाफ आपराधिक साजिश, कूटरचित डिवाइस के जरिए धोखाधड़ी, आपराधिक अमानत में ख़यानत मामले में दर्ज की गई थी. इसमें टेलिविजन रेटिंग प्वाइंट टीआरपी में हेरफेर का आरोप लगाया गया है. पुलिस ने कमल की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ आपराधिक साजिश, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के जरिए टीआरपी में धोखाधड़ी, अमानत में खयानत (Breach of Trust) के आरोपों में IPC की धाराओं 468, 465, 463, 420, 409, 406, 120 B के तहत मुकदमा दर्ज किया था. इस एफआईआर के आधार पर यूपी की योगी सरकार ने टीआरपी स्कैम की सीबीआई जांच की सिफारिश की है.


बता दें 13 अक्टूबर को मुंबई क्राइम ब्रांच ने टेलीविजन रेटिंग पॉइंट (Telivision Rating Point) से छेड़छाड़ करने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया और कहा कि इस मामले के संबंध में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है. टीआरपी (TRP) के आधार पर यह फैसला किया जाता है कि कौन सा टीवी कार्यक्रम सबसे ज्यादा देखा गया. यह दर्शकों की पसंद और किसी चैनल की लोकप्रियता भी इंगित करती है.


Also Read: लखनऊ: अधेड़ को आत्मदाह के लिए उकसाया, दो पत्रकार गिरफ्तार


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

दूधवाले ने बसपा नेता की पत्नी का बनाया अश्लील वीडियो, वायरल करने की धमकी दे करता रहा रेप

BT Bureau

लखनऊ: ड्यूटी के दौरान हुआ कोरोना, कल से इलाज को गुहार लगा रहा सिपाही, न एंबुलेंस पहुंची न ही स्वास्थ्य कर्मचारी

Shruti Gaur

लव जिहाद: हिंदू लड़कियों को फंसाने और मुसलमान बनाने के लिए पाकिस्तान से हो रही फंडिंग, SIT जांच में बड़ा खुलासा

BT Bureau