Breaking Tube
Politics UP News

उन्नाव: मंदिर बना रहे लोगों को उठा लाई पुलिस, रात भर कोतवाली में धरना जमाए बैठे रहे BJP विधायक पंकज गुप्ता

उन्नाव पुलिस (Unnao Police) के खिलाफ भाजपा (BJP) के सदर विधायक पंकज गुप्ता (MLA Pankaj Gupta) कोतवाली में बुधवार देर रात करीब 2 बजे धरने पर बैठ गए. विधायक का आरोप है कि सीओ सिटी (CO City) सपा मानसिकता से काम कर रहे हैं. संभ्रांत नागरिक व बीजेपी कार्यकर्ताओं साथ पुलिस लगातार अभद्र व्यवहार कर रही है. सीओ सिटी से बात करने के बाद भी बुजुर्गों को कोतवाली लाकर अभद्र व्यवहार किया गया, जो गलत है. वहीं, सदर विधायक के समर्थकों ने उन्नाव पुलिस मुर्दाबाद और चोर पुलिस के नारे लगाए. सदर विधायक समर्थकों के साथ सुबह 6 बजे तक धरने पर बैठे हे, लेकिन हंगामे के बाद भी एसपी सदर कोतवाली नहीं पहुंचे. सुबह 6 बजे डीएम और एसपी कोतवाली पहुंचे जिसके बाद धरना खत्म हुआ.


दरअसल, सदर कोतवाली के मोहल्ला हिरन नगर में एक मंदिर निर्माण को अवैध बताकर पुलिस 8 से अधिक बुजुर्ग लोगों को कोतवाली ले आई. बीजेपी सदर विधायक पंकज गुप्ता ने सीओ सिटी यादवेंद्र यादव से फोन पर बात कर बुजुर्गों के खिलाफ कारवाई ना कर मामले की निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की बात कही. मगर पुलिस ने कोतवाली में बुजुर्गों के साथ मानवीय व्यवहार किया, जिसकी जानकारी सदर विधायक को दी गई. सदर विधायक पंकज गुप्ता देर रात करीब 1:00 बजे उन्नाव सदर कोतवाली पहुंच गए. उन्नाव पुलिस का सदर विधायक के साथ पर व्यवहार बेहतर नहीं रहा.जिसके बाद सदर विधायक अपने कुछ समर्थकों के साथ सदर कोतवाली गेट के सामने धरने पर बैठ गए और उन्नाव पुलिस के खिलाफ संभ्रांत नागरिकों को साथ अभद्र व्यवहार करने के साथ भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ लगातार गलत व्यवहार के गंभीर आरोप लगाएं.


सीओ सिटी और एएसपी नॉर्थ वीके पांडेय मौके पर पहुंचे, लेकिन विधायक से बात नहीं बनी. विधायक को इस बात पर भी कोफ्त थी कि उन्नाव एसपी रोहन पी कनाय मौके पर नहीं पहुंचे. इधर विधायक समर्थकों की नारेबाजी के बाद कोतवाली परिसर में कई थानों की फोर्स के साथ ही भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया. विधायक पंकज गुप्ता दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर अड़े हुए हैं. विधायक का आरोप है कि पुलिस के अधिकारी सपा मानसिकता के साथ काम कर रहे हैं. भाजपा कार्यकर्ताओं के साथी सामान्य नागरिकों के साथ भी पुलिस का व्यवहार गलत है, जिसकी लगातार शिकायतें मिल रही हैं. पूरे मामले को विधानसभा सदन में उठाया जाएगा साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भी संज्ञान में लाया जाएगा.


विधायक और उनके समर्थकों का धरना प्रदर्शन 5 घंटे तक चला. जब सुबह 6 बजे डीएम रवीन्द्र कुमार व एसपी रोहन पी कनय ने दोषियों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया, तब जाकर विधायक ने धरना खत्म किया. डीएम रविंद्र कुमार ने बताया कि मंदिर बनाने पर विवाद था, जिसमें कुछ लोगों पर मामला दर्ज किया गया है. मामले में विधायक का कहना है कि इन लोगों के साथ मारपीट हुई है और मेडिकल कराने की मांग की गई है. उन्होंने कहा कि इस प्रार्थना पत्र पर जो भी कार्रवाई होगी, वो की जाएगी.


Gaurav Sharma

Also Read: हरदोई: अफसरों की मनमानी से खफा BJP सांसद बोले- 30 साल की राजनीति में नहीं देखी ऐसी बेबसी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

आगरा मेट्रो के लिए UP और केंद्र सरकार के बीच होगा करार, CM योगी ने प्रस्तावों को दी मंजूरी

Jitendra Nishad

कांग्रेस नेता और पुडुचेरी CM नारायणसामी ने किरण बेदी को बताया ‘राक्षस’, इंदिरा गांधी को दे रहे थे श्रद्धांजलि

BT Bureau

चुल्लू भर पानी में डूब मरें पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह: हरसिमरत कौर बादल

BT Bureau