Breaking Tube
Government Police & Forces Social Media Trending Topic UP News

ट्विटर पर छाया ‘यूपी पुलिस जिंदाबाद’, आखिर लोग क्यों कर रहे योगी की पुलिस को सैल्यूट ?

कानून व्यवस्था को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttar Pradesh Police) हमेशा से सवालों के घेरे में रही है, लेकिन यूपी में जबसे योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार बनी है पुलिस के काम करने का रवैया और छवि दोनों में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है. तो वहीं सिस्टम में सुधार के चलते पुलिस को लानत भेजने वाले लोग अब उसी पुलिस की वाहवाही कर रहे हैं. शनिवार सुबह से ट्विटर पर लगातार #यूपी_पुलिस_जिंदाबाद (UP Police Jindabad Trends on Twitter) ट्रेंड कर रहा है. लोग जमकर योगी की पुलिस की सराहना कर रहे हैं. आइए जानते हैं आखिर क्यों सोशल मीडिया पर यूपी पुलिस को सैल्यूट किया जा रहा है.


दरअसल, गोंडा में एक व्यापारी के 6 साल के मासूम का बदमाशों ने शुक्रवार दिनदहाड़े अपहरण कर लिया था. जानकारी के मुताबिक सैनेटाइजर देने के बहाने बच्चे का अपहरण किया गया. इसके बाद बदमाशों ने बच्चे के पिता के मोबाइल पर फोन किया और उनसे 4 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी. इतना ही नहीं, बदमाशों ने परिवारवालों को धमकी भी दी कि अपहरण की सूचना यदि पुलिस को दी तो बच्चे की हत्या कर दी जाएगी.


कानपुर मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि एक और मामला हो गया, लेकिन पुलिस ने ताबड़तोड़ कॉंबिंग कर 12 घंटे में अपहरणकर्ताओं को दबोच लिया. इस दौरान पुलिस और किडनैपर्स के बीच मुठभेड़ हुई, जिसमेमुठभेड़ के दौरान दो आरोपियों के पैर में गोली भी लगी और किडनैपर्स के पास से बच्चे को बरामद भी कर दिया गया. इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें एक महिला भी शामिल है. पुलिस और एसटीएफ के अच्छे काम के उन्हें 2 लाख रुपये का संयुक्त इनाम दिया गया है. मामले के खुलासे के बाद से ही ट्विटर पर यूपी पुलिस जिंदाबाद लगातार ट्रेंड हो रहा है. खबर लिखे जानते तक इस हैशटैग पर करीब 44 हजार ट्वीट्स हो चुके हैं.


योगी राज में ताबड़तोड़ 6,369 एनकाउंटर, 124 दुर्दांत अपराधी ढेर

बता दें कि योगी आदित्यनाथ सरकार के 3 साल से अधिक के कार्यकाल में यूपी पुलिस ने अब तक 6,369 एनकाउंटर कर दिए हैं.इन एनकाउंटर्स में प्रदेश में 124 दुर्दांत अपराधियों को मौत के घाट उतार दिया गया, जबकि 2361 बदमाश जख्मी होने के बाद पुलिस की पकड़ में आए. हालांकि इस कोशिश में 13 पुलिसकर्मी शहीद भी हुए हैं. इनमें से 8 पुलिसकर्मी सिर्फ बिकरू हत्याकांड में ही अपनी जान गंवा बैठे. अब तक के योगी राज में सबसे ज्यादा एनकाउंटर मेरठ और आगरा में हुए.


Also Read: बाराबंकी: पुलिस मुठभेड़ में मारा गया 1 लाख का ईनामी बदमाश टिंकू कपाला, यूपी समेत महाराष्ट्र-गुजरात में भी कर चुका था कई क्राइम


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पुलवामा अटैक: भारत से दुश्‍मनी पर ‘लाल’ हुए टमाटर, किसानों ने कहा- भले ही टमाटर सड़ जाएं पर पाकिस्तान नहीं भेजेंगे

S N Tiwari

सुल्तानपुर में SP को पकड़ने वाले 8 पुलिसकर्मियों को मिला 2100 रुपए का इनाम

BT Bureau

बदायूं: पुलिस जीप से रोडवेज बस की जोरदार टक्कर, चालक और दारोगा की मौत

BT Bureau