Breaking Tube
Government UP News

सर्वे: सीएम योगी पर लोगों का भरोसा बरकरार, सीएम की लिस्ट में फिर टॉपर साबित हुए

Yogi Government unemployment rate

गोरखपुर से 5 बार के सांसद रहे योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने जबसे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली तबसे उनकी लोकप्रियता दिन प्रति दिन पढ़ती जा रही है. मुख्यमंत्री के रूप में साढ़े तीन साल से अधिक का सफर तय कर चुके योगी पर लोगों का भरोसा कायम है, यही कारण है कि उन्हे लगातार तीसरी बार सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री (Best CM Yogi) के रूप में चुना गया. लोकप्रियता में उनके आस-पास कोई भी मुख्यमंत्री नहीं फटकता है.


दरअसल, इंडिया टुडे के मूड ऑफ द नेशन (MOTN) ने एक सर्वे किया जिसमें टॉप 10 मुख्यमंत्रियों की सूची बनाई गई, इस सूची में योगी आदित्यनाथ ने शीर्ष स्थान प्राप्त किया है. बीते साल भी योगी को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री के तौर पर चुना गया था. मूड ऑफ द नेशन (MOTN) सर्वे में 49 साल के योगी आदित्यनाथ को 25 प्रतिशत वोट मिला, जो कि पिछली बार से 6 प्रतिशत अधिक है. लोगों ने माना कि योगी अच्छा काम कर रहे हैं.


वहीं, इस सर्वे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नाम दूसरे नंबर पर है. सर्वे के मुताबिक, दिल्ली के मुख्यमंत्री देश में योगी आदित्यनाथ के बाद दूसरे सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री हैं. सर्वे में शामिल करीब 14 फीसदी लोगों ने उन्हें बेस्ट परफॉर्मिंग मुख्यमंत्री माना है. इस सर्वे में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री का नाम भी आया है, जो 8 फीसदी अंक के साथ तीसरे नंबर पर हैं. यानी 8 फीसदी लोगों ने माना है कि बंगाल में ममता बनर्जी अच्छा काम कर रही हैं. यहां यह इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि अगले दो-तीन महीनो में बंगाल में चुनाव होने वाले हैं और जनता ने बताया है कि ममता बनर्जी, योगी आदित्यनाथ और अरविंद केजरीवाल के बाद बेस्ट परफॉर्मिंग मुख्यमंत्री हैं.


2020 के इन फैसलों ने बढ़ाई लोकप्रियता

  • पहली बार प्रदेश में लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू किया गया.
  • अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण का नींव पूजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों करवाने के साथ योगी सरकार ने अयोध्या और आसपास के तमाम क्षेत्रों के विकास का सबसे बड़ा खाका खींचा.
  • लव जेहाद के खिलाफ कानून बनाया. पहचान छिपाकर महिलाओं के साथ छलकर शादी करने वालों के खिलाफ योगी सरकार ने कड़ा कानून बनाया.
  • महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान के साथ नवरात्रि के पहले दिन से शुरू मिशन शक्ति की शुरूआत की गई. इसके लिए प्रदेश भर में थाने, तहसीलों और ब्लॉकों में महिला हेल्प डेस्क समेत महिलाओं की सुविधा के लिए कई योजनाएं शुरू कीं.
  • अपराधियों, माफियाओं की संपत्ति सीज करने के साथ उनकी अवैध इमारतों पर बुलडोजर चलवाया. प्रदेश में 733 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई.
  • उपद्रवियों, दंगाइयों द्वारा क्षतिग्रस्त की गई सरकारी संपत्तियों के नुकसान की वसूली के लिए सरकार ने रिकवरी अध्यादेश जारी किया.
  • दंगे और बेवजह के प्रदर्शन कर शांति व्यवस्था बिगाड़ने वाले उपद्रवियों के पोस्टर चौराहे पर लगाने का फैसला योगी सरकार ने किया.
  • गौ हत्या पर 10 साल की सजा और 5 लाख रुपये के जुर्माने का कानून बना कर गोकशी पर प्रभावी रोक लगाई.
  • यूपीएसएसएफ का गठन योगी सरकार ने सीआईएसएफ की तर्ज पर यूपी में विशेषाधिकार वाले विशेष सुरक्षा बल का गठन कर सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत किया.
  • योगी सरकार ने सेना और अर्धसैनिक बलों के शहीद जवानों के परिजनों को सहायता राशि 25 लाख से बढ़ाकर 50 लाख किया.
  • बैंक सखी योजना के तहत करीब 80 हजार ग्रामीण महिलाओं को रोजगार से जोड़ने की अनूठी शुरुआत योगी सरकार ने की.
  • गंगा एक्सप्रेस वे निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण की शुरुआत कर इसके निर्माण की राह साफ कर दी.
  • सभी को बेहतर स्वास्थ्य सेवा देने के लिए डॉक्टरों के लिए 10 साल तक सरकारी नौकरी अनिवार्य करने का कानून पास किया. लोगों को पास में ही ईलाज की सुविधा मिले, इसके लिए मुख्यमंत्री आरोग्य मेले की भी शुरुआत की गई.
  • कोरोना के दौरान युवाओं को रोजगार से जोड़ रही योगी सरकार ने 4 लाख से ज्यादा नौकरिया दीं. मिशन रोजगार के तहत अब तक 20 लाख से अधिक लोगों को स्वरोजगार मिल चुका है। वित्तीय वर्ष का लक्ष्य 50 लाख का है.
  • बिजनौर से बलिया तक गंगा यात्रा में आस्था के सम्मान के साथ अपनी नदी संस्कृति के प्रति लोग जागरूक हुए. रिकॉर्ड पौधरोपड़ से लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरूकता आई.
  • डिफेन्स कॉरीडोर को केंद्र में रखकर लखनऊ में डिफेंस एक्सपो का आयोजन हुआ.
  • बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र की प्यास बुझाने के लिए हर घर नल योजना की शुरुआत हुई.

Also Read: UP दिवस पर हुनरमंदों और उद्यमियों का सम्मान करेगी योगी सरकार


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बरेली: 7 बीवियों के साथ एक ही घर में रह रहा था शौहर, 8वीं ने और निकाह का किया विरोध तो जमकर पीटा

BT Bureau

पहले पहुंचाया घर, अब मनरेगा के तहत प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दिलाएगा रेलवे

Jitendra Nishad

लखनऊ में 1 दिसंबर तक धारा-144 लागू, बिना परमिशन नहीं कर पाएंगे कोई भी आयोजन

Jitendra Nishad