Breaking Tube
Government UP News

बुंदेलखंड के विकास में योगी सरकार का बड़ा कदम, ललितपुर में बनेगा एयरपोर्ट, मध्य प्रदेश को भी मिलेगा फायदा

Yogi government Kaushal Vikas mission

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Aditynath Government) ने बुंदेलखंड (Bundelkhand) क्षेत्र के विकास को लेकर बड़ा कदम उठाया है। प्रदेश सरकार ने ललितपुर (Lalitpur) में एयरपोर्ट के निर्माण के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। वहीं, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अनुसार, ललितपुर स्थित एयरपोर्ट से प्रथम चरण में 72 सीटर क्षमता वाले विमान उड़ान भर सकेंगे।


एयरपोर्ट की स्थापना के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने फिजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार की थी। बुंदेलखंड में झांसी, चित्रकूट और सोनभद्र में भी एयरपोर्ट विकसित किया जा रहा है। ललितपुर में दूसरे विश्वयुद्ध के समय हवाई पट्टी का निर्माण हुआ था। यह पट्टी 2 किमी लंबी और 45 मीटर चौड़ी है, लेकिन इसका कभी इस्तेमाल नहीं हुआ। हवाई पट्टी को विकसित करने के दावे पहले भी हुए, लेकिन गंभीर प्रयास न होने के चलते इस पर जमीनी अमल नहीं हो सका।


Also Read: उद्योगपतियों को भा रही योगी सरकार की नीति, 3 साल में 20,000 करोड़ का निवेश, 3 लाख से अधिक को रोजगार


अब योगी सरकार इसे एयरपोर्ट के रूप में विकसित करेगी। नागरिक उड्डयन विभाग के पास यहां 77 एकड़ जमीन पहले से है। हवाई पट्टी के पास इसके अलावा 204 एकड़ जमीन है। उसे सेना और किसानों से बात कर अधिग्रहीत किया जाएगा। प्रदेश में इस समय 21 एयरपोर्ट पर काम चल रहा है। इसमें 9 नए एयरपोर्ट इसी साल शुरू हो जाएंगे। ललितपुर की हवाई पट्टी क्षेत्र को एयरपोर्ट के रूप में विकसित करने से बुंदेलखंड क्षेत्र के विकास को बड़ा फायदा मिलेगा।


ललितपुर जिला यूपी और एमपी के बॉर्डर पर है। ऐसे में ललितपुर में एयरपोर्ट के निर्माण से दोनों राज्यों को इसका लाभ मिलेगा और बुंदेलखंड जैसे आर्थिक और सामाजिक रूप से पिछड़े क्षेत्र का विकास तेज हो सकेगा। बुंदेलखंड व विन्ध्य क्षेत्र में झांसी, चित्रकूट व सोनभद्र में पूर्व से ही एअरपोर्ट के विकास का कार्य प्रगति पर है। ललितपुर में प्रदेश सरकार द्वारा बल्क ड्रग पार्क की स्थापना का भी प्रयास कर रही है। इस प्रकार बुंदेलखंड क्षेत्र में डिफेन्स कॉरीडोर का निर्माण भी तीव्र गति से हो रहा है।


Also Read: गोरखपुर: करंट से झुलसे मासूम के परिजनों ने CM योगी से सुबह बयां किया दर्द, शाम तक मिल गई 4.50 लाख की आर्थिक सहायता


दुनिया का पांचवा सबसे बड़ा एयरपोर्ट


इससे पहले योगी सरकार ने प्रयागराज, कानपुर व हिंडन एयरपोर्ट का संचालन शुरू किया। तीनों एयरपोर्ट का संचालन प्रथम तीन वर्षों में शुरू किया गया। नोएडा में भी इंटरनेशनल एयरपोर्ट सहित 14 हवाई अड्डों का विकास कार्य तेजी से चल रहा है, जिसमें से बरेली, कुशीनगर पूर्ण रूप से तैयार हैं।


इसके साथ ही अलीगढ, आजमगढ़, मेरठ, मुरादाबाद व चित्रकूट अगले दो माह में पूर्ण रूप से तैयार हो जायेंगे। बता दें कि जेवर एयरपोर्ट दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। ग्रेटर नोएडा के जेवर में करीब 5000 हेक्टेयर में प्रस्तावित इस एयरपोर्ट पर तेजी से काम चल रहा है। प्रस्ताव के अनुसार 2022-23 में जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से फ्लाइट्स का संचालन भी शुरू हो जाएगा।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बदायूं: डिप्टी SP अनिरुद्ध सिंह की मेहनत लाई रंग, 2500 लोगों ने छोड़ा कच्ची शराब का धंधा

Shruti Gaur

छत्तीसगढ़ नक्सलिय हमलें में 3 महिलाओं समेत 8 की मौत

Satya Prakash

अखिलेश यादव ने फिर दिखाई दरियादिली, घायल को देख रूकवा दी फ्लीट, फिर अपने हाथों से युवक को उठाया

BT Bureau