Breaking Tube
Government UP News

Covid-19 प्रबंधन पर UP की देश-दुनिया में तारीफ, दिल्‍ली, महाराष्‍ट्र को फटकार

देश के दो राज्‍यों की सरकारें अपने अपने कोविड (Covid-19) प्रबंधन के कारण देश, दुनिया की चर्चा में हैं. पहली उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार और दूसरी दिल्‍ली की केजरीवाल सरकार. कोविड से निपटने के दमदार प्रबंधन के लिए विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जहां योगी सरकार की जम कर तारीफ की है तो वहीं, दिल्‍ली में कोरोना से बदतर हालात को लेकर पहले हाई कोर्ट और अब सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल सरकार को जम कर फटकार लगाई है. सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र और केरल की सरकारों के रवैये पर भी अपनी नाराजगी जाहिर की है. कोर्ट ने सभी राज्यों से 27 तारीख तक स्टेटस रिपोर्ट तलब की है.


कोरोना पर दिल्‍ली प्रशासन के फेल होने का सबसे बड़ा असर एनसीआर पर पड़ने का खतरा है. दिल्‍ली के हालात को देखते हुए योगी सरकार ने एनसीआर के साथ ही सीमावर्ती जिलों में सतर्कता बढ़ा दी है. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने एक बार फिर कोरोना से लड़ाई की कमान खुद संभालते हुए प्रशासन और स्‍वस्‍थ्‍य विभाग के साथ पुलिस अधिकारियों को भी जरूरी दिशा निर्देश जारी किए हैं.



कोरोना से निपटने की सबसे दमदार और सफल रणनीति लागू कर दुनिया के सामने मिसाल पेश कर चुकी योगी सरकार ने एक बार फिर कोरोना को मात देने के लिए कमर कस ली है. डब्‍ल्‍यू एचओ से तारीफ पा चुकी यूपी सरकार ने सीमावर्ती जिलों में कोरोना के खिलाफ मोर्चेबंदी तेज कर दी है. रिकार्ड टेस्टिंग क्षमता और कोरोना अस्‍पतालों की श्रृंखला के साथ सरकार ने कांटैक्‍ट ट्रेसिंग भी तेज कर दी है.


उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक कोविड टेस्टिंग का बन रहा रिकॉर्ड

21 नवंबर को प्रदेश में 1 लाख 75 हजार टेस्ट किये गए थे. यूपी ने 23 मार्च को टेस्ट करने की प्रक्रिया शुरू की थी तब 72 टेस्ट प्रतिदिन करने की सुविधा और संसाधन थे. प्रतिदिन पौने दो लाख कोविड टेस्ट करने में सफलता मिली है. उत्तर प्रदेश ने भारत में सबसे ज्यादा 1 करोड़ 80 लाख टेस्ट किए हैं.


पीएम मोदी, WHO भी कर चुके हैं सीएम योगी प्रबंधन की तारीफ

कल ही पीएम मोदी ने कोरोना से लड़ने और सीमित संसाधन में निरंतर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए यूपी सीएम और उनकी टीम की दिल खोलकर प्रशंसा की थी. पीएम ने कहा कि “योगी आदित्यनाथ सरकार ने कोरोना काल के दौरान भी विकास कार्यों की रफ्तार धीमी नहीं होने दी. यह अपने आप में बहुत बड़ी बात है. इस संकट की घड़ी में भी प्रवासियों को घर पहुंचाने के साथ-साथ उनको रोजगार उपलब्ध कराया. इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम बधाई की पात्र है”.


कोविड से निपटने की यूपी में बड़ी तैयारी

राज्य में कुल 674 कोविड अस्पताल तैयार कएि गए हैं. इन अस्पतालों में बिस्तरों की कुल उपलब्धता को 1.57 लाख तक बढ़ा दिया गया है. अब तक, राज्य के सभी 75 जिलों में आईसीयू बेड के प्रावधान वाले कम से कम एक या एक से अधिक लेवल -2 कोविड अस्पताल हैं.


सुप्रीमकोर्ट दिल्ली के साथ महाराष्ट्र, केरल की सरकारों को भी फटकार

आज सुप्रीमकोर्ट ने कहा कि दिल्ली में पिछले 2 हफ्तों में हालात काफी बिगड़े हैं. कोर्ट ने कहा कि अगर सावधानी नहीं बरती तो दिसंबर में स्थिति बहुत बुरी हो सकती है. न्यायाधीश अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली तीन जजों की पीठ ने कोविड-19 की स्थिति को खराब करने के लिए दिल्ली सरकार को फटकार लगाई है. सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्य सरकारों को रिपोर्ट पेश करने को कहा है, जिसमें संक्रमण को रोकने के लिए उनके द्वारा उठाए गए कदमों, उठाए जाने वाले कदमों व केंद्र सरकार से वांछित मदद की जानकारी देना होगी.


Also Read: योगी इम्पेक्ट: UP ने सैनिटाइजर उत्पादन में रचा इतिहास, दूसरे राज्यों को भी उपलब्ध कराकर पहुंचाई मदद


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बागपत: सुबह टहलने निकले BJP के पूर्व जिलाध्यक्ष संजय खोखर की गोली मारकर हत्या, CM योगी ने 24 घंटे में मांगी रिपोर्ट

Jitendra Nishad

Budget 2019: 2022 तक सबको घर, रसोई गैस, 2024 तक पानी, नेशनल ट्रांसपोर्ट कार्ड, नई राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति, छोटे दुकानदारों को पेंशन, यहां पढ़े पूरा बजट

BT Bureau

मुख्तार अंसारी को गाड़ी से UP लाने की तैयारी में योगी सरकार, पंजाब जेल में बंद है माफिया

BT Bureau