Breaking Tube
Politics UP News

प्रयागराज: बाहुबली अतीक अहमद के आलीशान ऑफिस पर चला योगी का बुलडोजर

Prayagraj atique ahmed office

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) माफियाओं पर लगातार शिकंजा कस रही है। इसी क्रम में गुजरात जेल में बंद माफिया अतीक अहमद (Atique Ahmed) और उसके गैंग की कमर तोड़ी जा रही है। प्रयागराज (Prayagraj) में रविवार को अतीक अहमद के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है। बाहुबली के चकिया स्थित कार्यालय के ध्वस्तीकरण की कार्रवाई प्रयागराज विकास प्राधिकरण द्वारा शुरू की गई। डीएम की परमिशन के बाद पीडीए ने रविवार को ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की। इस दौरान मौके पर कई थानों की फ़ोर्स भी लगाई गई।


आरोप है कि इस कार्यालय को अतीक अहमद ने प्रयागराज विकास प्राधिकरण से स्वीकृत नक्शे के विपरीत अवैध रूप से बनवाया है। इसी कार्यालय में बैठकर अतीक राजनीतिक गतिविधियों को संचालित करता था। अब तक बाहुबली की तीन सौ करोड़ से ज्यादा की अवैध संपत्ति के खिलाफ कार्रवाई की गई है।


Also Read: अतीक अहमद की अवैध संपत्ति पर फिर चला योगी का बुलडोजर, माफिया को अब तक 200 करोड़ से अधिक की चोट


बसपा शासनकाल में भी इस कार्यालय पर बुलडोजर चला था, लेकिन सपा सरकार के सत्ता में आने के बाद अतीक अहमद ने दुबारा निर्माण कराया था। बता दें कि योगी सरकार के निर्देश पर इन दिनों यूपी के जिन बड़े माफिया और अपराधियों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है, उसमें भूमाफिया घोषित हो चुके आईएस गैंग के सरगना बाहुबली अतीक अहमद का भी नाम शामिल है।


पुलिस और प्रशासन लगातार बाहुबली की आर्थिक कमर तोड़ने की दिशा में कार्रवाई कर रहा है। इससे पहले बाहुबली अतीक अहमद गैंग के सदस्य और उसके करीबी मोहम्मद अब्बास खान के सिविल लाइंस स्थित शापिंग काम्पलेक्स मैक टाॅवर को सील करने के बाद प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने उसके ड्रीम प्रोजेक्ट किसान कोल्ड स्टोरेज पर भी सरकारी बुलडोज़र चला दिया था।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

आगरा: शादी का झांसा देकर सिपाही ने युवती से किया दुष्कर्म, अब वीडियो वायरल करने की दे रहा धमकी

BT Bureau

स्मृति ईरानी का अमेठी की जनता को बड़ा तोहफा, अबसे रोज करें फ्री में करें कुंभ में स्नान

BT Bureau

योगीराज में बीते 15 साल में मिलीं सबसे ज्यादा नौकरियां, 3 साल में ही SP, BSP को छोड़ा काफी पीछे

Praveen Bajpai