UP में चुनाव से पहले इन 2 और जिलों में लागू हो सकती है कमिश्नर प्रणाली, इन 4 जिलों में से किया जाएगा चयन

 

कुछ ही समय बाद उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव होने हैं, जिसकी तैयारी प्रशासन ने शुरू कर दी है। जिसके अंतर्गत अब ऐसी खबर सामने आ रही है कि जल्द ही प्रदेश के दो और जिलों में कमिश्नर प्रणाली लागू कर दी जाएगी। इसके लिए अभी चार जिलों को चिन्हित किया गया है। माना जा रहा है कि यह कवायद मेरठ, आगरा, गाजियाबाद और प्रयागराज में से किसी दो शहरों में पुलिस कमिश्नरेट बनाए जाने को लेकर की जा रही है।

सीएम के निर्देश पर लिया गया फैसला

जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री के निर्देश पर हाल ही में डीजीपी मुकुल गोयल ने मौजूदा पुलिस आयुक्त प्रणाली वाले शहरों लखनऊ, नोएडा, वाराणसी व कानपुर की समीक्षा की थी। उसके बाद से डीजीपी खुद बारी-बारी से इन्हीं शहरों की समीक्षा कर रहे हैं। यहां से मिल रहे सकारात्मक परिणामों को देखते हुए गाजियाबाद, प्रयागराज, आगरा व मेरठ में यह व्यवस्था लागू करने पर विचार किया जा रहा है। इनमे से दो जिलों में प्रणाली लागू की जा सकती है।

इसलिए किया जा रहा विचार

बता दें कि 20 से 22 नवंबर को लखनऊ में डीजीपी कॉन्फ्रेंस प्रस्तावित है, जिसमें खुद प्रधानमंत्री आ रहे हैं। इस अवसर पर प्रदेश सरकार उन्हें कम से कम दो और पुलिस कमिश्नरेट का तोहफा देने की कोशिश कर रही है। हालांकि अधिकारी नई कमिश्नरेट के लिए काबिल अफसरों की कमी का हवाला देते रहे हैं, लेकिन अभी तक की चार पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली के सकारात्मक परिणाम को देखते हुए राज्य सरकार इसे कम से कम दो और शहरों में बढ़ाने पर गंभीरता से विचार कर रही है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )