UP: मुश्किल में फंसे स्वामी प्रसाद मौर्य, MP-MLA कोर्ट ने जारी किया गिरफ्तारी वारंट

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) की तारीखों का ऐलान हो गया है। इसी के साथ नेताओं का पार्टी बदलने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से मुलाकात कर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ज्वाइन कर ली है। मौर्य ने अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। जिसके बाद अब उनकी मुश्किलें बढ़ना शुरू हो गईं हैं। दरअसल, स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ है। एमपी एमएलए कोर्ट ने स्वामी के खिलाफ यह वारंट जारी किया है। स्वामी को सुल्तानपुर कोर्ट ने 24 जनवरी को पेश होने का आदेश दिया है।

इस मामले में आया वारंट

जानकारी के मुताबिक, साल 2014 में हिंदू देवी देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर मौर्य पर एक मामला लम्बित है। इस मामले की सुनवाई के लिए जब मौर्य बुधवार को हाजिर नहीं हुए तो उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने का आदेश दिया गया है।अब इस मामले की सुनवाई के लिए 24 जनवरी तारीख तय की गई है और मौर्य को इस दिन हाजिर होने के लिए कहा गया है।

पहले भी जारी हुआ था वारंट

आपको बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ जारी यह वारंट नया नहीं है। पूर्ववत जारी वारंट को आज फिर से जारी किया गया है। स्वामी प्रसाद मौर्या ने साल 2016 से इस पर स्टे लिया हुआ था। इस कड़ी में 6 जनवरी को हुई सुनवाई के दौरान मौर्य को 12 जनवरी को कोर्ट में हाजिर होने के लिए कहा गया था लेकिन वे अनुपस्थित रहे।

Also Read: स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद अब भाजपा विधायक बृजेश प्रजापति ने भी दिया इस्तीफा, ज्वाइन कर सकते हैं समाजवादी पार्टी

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )