कोरोना प्रभावित राज्य घोषित हुआ UP, जानिए आपके लिए क्या है इसका मतलब ?

उत्तर प्रदेश के साथ साथ तकरीबन पूरे देश में कोरोना के मामले में बढ़ते जा रहे हैं. पिछले 24 घंटे में यूपी में भी 80 नए मरीज मिलने के बाद प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 392 हो गई है. जिसके चलते यूपी को अब योगी सरकार ने कोरोना प्रभावित राज्य घोषित कर दिया है. यूपी लोक स्वास्थ्य एवं महामारी रोग नियंत्रण अधिनियम 2020 की धारा 3 के तहत राज्यपाल ने इस बाबत पत्र जारी कर दिया है. अब नई गाइडलाइन्स का पालन सख्ती से किया जायेगा.

31 मार्च तक लागू रहेगा एक्ट

जानकारी के मुताबिक, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि यूपी लोक स्वास्थ्य एवं महामारी रोग नियंत्रण अधिनियम 2020 की धारा 3 के तहत राज्यपाल ने इस बाबत पत्र जारी कर दिया है. यह घोषणा 31 मार्च तक लागू रहेगी. अब आगे आने वाले समय में महामारी एक्ट यानी कोरोना प्रभावित राज्य घोषित होने के बाद जो नई गाइडलाइन जारी होगी उसका सभी को सख्ती से पालन करना होगा. गाइडलाइन्स का पालन न करने की स्थिति में व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई या फिर जुर्माना भी देना पड़ सकता है.

बता दें 25 दिसंबर से ही प्रदेश में नाईट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है. अब देखना यह होगा कि सरकार द्वारा जारी होने वाली गाइडलाइन्स में क्या-क्या पाबंदियां लागू होती है. मिल रही जानकारी के अनुसार सरकार शादी समारोह में मेहमानों की उपस्थिति, मॉल,मार्केट, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर नए दिशा निर्देश जारी होंगे.

प्रदेश में तेजी से बढ़ रहा कोरोना

गौरतलब है कि मंगलवार को यूपी में 80 नए केस मिले. सोमवार की तुलना में यह आंकड़ा दोगुना था. सोमवार को प्रदेश में 40 संकर्मित मिले थे. सबसे ज्यादा 28 मरीज नोएडा में मिले. वहीं, गाजियाबाद में 12, लखनऊ में 11, आगरा में 5, मेरठ और मथुरा में 3-3 मामले आए हैं. इस दौरान 11 मरीज रिकवर भी हुए हैं, उधर, मुरादाबाद में 8 कोविड पॉजिटिव मिले हैं. यहां 2 केस पहले से थे. अब यहां एक्टिव केस की संख्या 10 हो गई है. अब प्रदेश के 46 जिलों में फिर से कोरोना फैल चुका है. जबकि 29 जिलों में कोई सक्रिय केस नहीं है.

Also Read: UP: परिवहन निगम के कर्मचारियों का बढ़ा महंगाई भत्ता, वेतन में 6000 रुपए तक की बढ़ोतरी

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )