Breaking Tube
Government

प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत लखनऊ पीजीआई में होगा नि: शुल्क इलाज

प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना मोदी सरकार की योजना ने सफलता की नई कहानी लिखी है. इस योजना ने ऐसी सफलता पाई है कि खुद बिल गेट्स ने इस योजना की तारीफ की है. और अब सरकार इस सफल योजना को पीजीआई में लागू करेगा. खबरों के अनुसार अब पीजीआई में प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत मरीजों का नि: शुल्क इलाज मिलेगा. सरकार ने यह योजना लागू करने के लिए एक करोड़ रुपये का तोहफा दिया है. अफसरों ने फरवरी से योजना के तहत मरीजों की भर्ती शुरू करने दावा किया है. इस योजना के तहत दिल, गुर्दा, पेट, कैंसर समेत अन्य बीमारियों के मरीजों को इसका लाभ मिलेगा.


Also Read: बिल गेट्स ने की आयुष्मान भारत योजना की तारीफ, मोदी सरकार को दी बधाई


आपको बता दें कि, इसे पहले भी आयुष्मान योजना के तहत बीमारियों के लिए निर्धारित दरें पीजीआई से काफी कम थीं, इसी कारण शुरू में पीजीआई ने अपने यहां ये योजना लागू करने में असमर्थता जताई थी. और यही एक कारण था कि यह योजना अभी तक पीजीआई में लागू नहीं थी. पीजीआई अधिकारियों ने योजना लागू करने के लिए अतिरिक्त बजट की मांग की थी ताकि इलाज पर आने वाले खर्च की कमी को इस बजट से पूरा किया जा सके. सरकार अब योजना के तहत निर्धारित दर से अधिक का भुगतान खुद करेगी.


जल्द मिलेगा इलाज


पीजीआई निदेशक डॉ. राकेश कपूर ने बताया कि, सरकार की मदद से आयुष्मान योजना के तहत मरीजों का इलाज संभव हुआ है. अब पीजीआई में प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत मरीजों का इलाज शुरू होने जा रहा है. योजना से जुड़े पात्र मरीजों का रिकार्ड व अन्य दस्तावेज जुटा लिये हैं. संस्थान इस दिशा में काम कर रहा है. साथ ही कपूर ने बताया कि, आयुष्मान योजना के तहत पीजीआई ने तीन नए तीन काउंटर खोले हैं, काउंटरों पर आयुष्मान मित्र तैनात किए जा चुके हैं.


Also Read: Old Pension Scheme: बड़े आंदोलन की तैयारी में कर्मचारी, 21 जनवरी से जेल भरो आंदोलन


इस योजना के तहत इलाज हेतु आने वाले लोगों को काउंटर पर मौजूद कर्मचारी योजना से जुड़ी जरूरी जानकारी मुहैया करा रहे हैं. गौरतलब है कि, आयुष्मान योजना के तहत मरीजों को इसका लाभ भर्ती होने पर ही मिलेगा. शुरुआत में मरीज को रजिस्ट्रेशन से लेकर जांचें आदि खुद के पैसे से करानी होंगी. योजना के तहत आने वाली बीमारियों की पुष्टि होने के बाद जब मरीज पीजीआई में भर्ती हो जायेगा. उसके बाद उस मरीज को योजना के तहत मुफ्त इलाज मिलेगा.


देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करेंआप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

UP: ठंड में सड़क पर ठिठुरते नहीं मिलेंगे गरीब, योगी सरकार बांटेगी कंबल, अलाव का इंतेजाम भी

Shruti Gaur

पहले पहुंचाया घर, अब मनरेगा के तहत प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दिलाएगा रेलवे

Jitendra Nishad

7th Pay Commission: बजट 2019 के बाद पीएम मोदी को याद आए सरकारी कर्मचारी, कर सकते हैं बड़े ऐलान

admin