Breaking Tube
Business Government UP News

अब ऑनलाइन मिल सकेगा UP का मशहूर ‘काला नमक चावल’, नवनीत सहगल ने हरी झंडी दिखाकर सिद्धार्थनगर से पहली खेप की रवाना

‘‘बुद्ध का प्रसाद’’ सिद्धार्थनगर (Siddharthnagar) का ओडीओपी (ODOP) उत्पाद काला नमक चावल (Kala namak rice) बिक्री के लिए अब फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध होगा. अपर मुख्य सचिव, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम डा. नवनीत सहगल (Dr Navneet Sehgal) ने आज फ्लिपकार्ट पर बिक्री हेतु सिद्धार्थनगर के विश्व प्रसिद्ध कालानमक चावल के 250 किलोग्राम की पहली खेप को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया. फ्लिपकार्ट पर एफपीओ कपिलवस्तु किसान निर्माता कम्पनी लिमिटेड को सिंगापुर से 250 कि0ग्रा0 कालानमक चावल के निर्यात का आर्डर मिला था.


इस अवसर पर डा0 सहगल ने किसानों को वर्चुअल सम्बोधित करते हुए कहा कि ओडीओपी और फ्लिपकार्ट की साझेदारी नए पड़ाव पर आ गई है. उन्होंने कहा कि सिद्धार्थनगर का कालानमक चावल का संबंध महात्मा बुद्ध जी है. ऐसी कहावत है कि महात्मा बुद्ध जी जब सिद्धार्थनगर से जाने लगे तब उन्होंने स्थानीय लोगों को एक चावल दिया और कहा कि लोगों इस चावल की सुगंध हमेशा उनकी याद दिलाती रहेगी. उन्होंने कहा कि फ्लिपकार्ट के माध्यम सिद्धार्थनगर के कालानमक चावल को देश-दुनिया में पहुंचा सकते हैं. इससे सिद्धार्थनगर के किसानों को चावल की अच्छी कीमत मिलेगी और गुणवत्ता में भी सुधार आयेगा.



डा. सहगल ने कहा कि एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना के तहत सिद्धार्थनगर में सामान्य सुविधा केन्द्र (सीएफसी) निर्माणाधीन है. सीएफसी स्थापित होने के फलस्वरूप कालानमक चावल भण्डारण हेतु वातानुकूलित गोदाम, ग्रेडिंग के अधार पर विपणन हेतु पैकेजिंग सहित आवश्यक सुविधाएं मिलेगी. उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त एक अन्य सीएफसी का निर्माण भी प्रस्तावित है. साथ ही अंतर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान (आईआरआरआई) वाराणसी द्वारा सिद्धार्थ नगर में कालानमक शोध संस्थान की स्थापना भी कराई जायेगी.


अपर मुख्य सचिव ने कहा कि ओडीओपी विपणन सहायता योजना के अन्तर्गत इस वर्ष लखनऊ में आयोजित हुनर हाट, वाराणसी में आयोजित जीआई प्रोडक्ट प्रदर्शनी तथा नोएडा में आयोजित नोएडा शिल्प हाट में कालानमक से जुड़े उद्यमियों की प्रतिभागिता सुनिश्चित कराई गई है. इसके साथ ही कृषि और प्रसंस्करण खाद्य उत्पादन निर्यात विकास प्राधिकारी (एपीडा) वाराणसी के सहयोग से एफपीओ एवं निर्यातकों के लिए गोष्ठी आदि का आयोजन कराकर कालानमक चावल के निर्यात को बढ़ावा दिया जा रहा है.


ODOP से लोगों को मिल रहा रोजगार, सरकार ने वितरित किया दोगुना लोन

उन्होंने कहा कि ओडीओपी वित्त पोषण योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 में अब तक 40 उद्यमियों को लाभान्वित करते हुए 86.81 लाख रुपये की मार्जिन मनी वितरित की गई है. ओडीओपी प्रशिक्षण एवं टूलकिट योजना के तहत 150 लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया है. किसानों को कालानमक के प्रति जागरूक करने के लिए जनपद के कालानमक उत्पादक क्षेत्रों में फील्ड डे के माध्यम जैविक विधि से कालानमक उत्पादन की जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है. इसी प्रकार जनपद के 12 विकास खण्डों में काला नमक चावल किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) का गठन किया गया है.


चीफ कार्पोरेट आफिसर, फ्लिपकार्ट ग्रुप, रजनीश कुमार ने कहा कि स्वदेशी ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस होने के नाते फ्लिपकार्ट ने हमेशा से ही किसानों के लिए आर्थिक अवसर पैदा करने के लिए निवेश किया है. इसी दिशा में फ्लिपकार्ट द्वारा किसानों की पहुंच बाजारों तक सुगम बनाने के मकसद से टेक्नोलॉजी के प्रयोग पर लगातार जोर देती आयी है. हम उत्तर प्रदेश का अनूठा ‘काला नमक चावल’ अपने मार्केटप्लेस पर उपलब्ध कराते हुए गर्व का अनुभव कर रहे हैं, जो कि सरकार के साथ हमारी ओडीओपी पहल के तहत भागीदारी का हिस्सा है. हमने अपने उपभोक्ताओं और खुदरा विक्रेताओं के लिए उन्नत गुणवत्ता वाले उत्पादों को उपलब्ध कराने पर ध्यान केंद्रित किया है और इस प्रक्रिया में हम स्थानीय किसानों को भी बाजारों तक व्यापक पहुंच का लाभ दिलाकर तथा उपभोक्ताओं के लिए एफपीओ को भी साकार कर रहे हैं. इस लॉन्च के साथ ही, हम उत्तर प्रदेश सरकार के साथ मिलकर सही मायने में लोकतांत्रिक और समावेशी कॉमर्स प्लेटफार्म स्थापित करने की दिशा में मजबूत कदम उठा रहे हैं.


Also Read: CM योगी की ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने की मुहिम का असर, PMEGP में UP ने रचा इतिहास


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

प्रतापगढ़: मामूली विवाद में धारदार हथियारों से दलित बस्ती पर हमला, 9 घायल, 67 के खिलाफ केस दर्ज, आशिक अली समेत 7 गिरफ्तार

BT Bureau

आखिर होता क्या है ‘टाइम कैप्सूल’, जिसे राम मंदिर के 2000 फीट नीचे गाड़े जाने की बात हो रही

BT Bureau

4 लाख से अधिक प्रोडक्ट गायब होने के बाद वॉलमार्ट कर सकती है फ्लिपकार्ट से किनारा

admin