बुलंदशहर हिंसा: शहीद इंस्पेक्टर सुबोध के परिजनों की मदद के लिए 9 जिलों की पुलिस ने इकट्ठा किए 70 लाख, ADG ने सौंपा चेक

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में गोकशी की अफवाह पर फैली हिंसा में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिवार को एडीजी प्रशांत कुमार ने 70 लाख रुपए का चेक सौंपा है। बताया जा रहा है कि यह राशि मेरठ जोन के पुलिसकर्मियों से इकट्ठा की गई है।


एडीजी प्रशांत कुमार ने सौंपा चेक

सूत्रों ने बताया है कि यह धनराशि मेरठ, गाजियाबाद, बुलंदशहर, गौतमबुद्धनगर, बागपत, हापुड़, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर और शामली सभी जनपदों के पुलिसकर्मियों से इकट्ठा की गई है। एडीजी प्रशांत कुमार ने शुक्रवार को शहीद सुबोध कुमार सिंह की पत्नी व बेटे को मेरठ बुलाकर 70 लाख रुपए का चेक सौंपा है।


Also Read: यूपी: अब सिपाहियों को नहीं सुननी पड़ेगी अफसरों की फटकार, पुलिस विभाग का ‘अवकाश ऐप’ देगा खुशी


गौरतलब है कि यूपी के बुलंदशहर जिले में तीन दिसंबर को दोपहर के समय इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वहीं बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। योगेश हिंसा के बाद से ही फरार चल रहा था। योगेश पर हिंसा भड़काने और लोगों को इकट्ठा करने का आरोप है। योगेश को सीजेएम की अदालत में पेश किया गया था जहां उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।


तीन दिसंबर को हुआ था बवाल

बता दें कि गोकशी को लेकर बुलंदशहर के स्याना थाना की चिंगरावठी पुलिस चौकी के पास तीन दिसंबर सोमवार को बवाल हुआ था। जिसमें इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार और छात्र सुमित की गोली लगने से मौत हुई थी। बवाल के दिन बुलंदशहर में तब्लीगी इज्तिमा में करीब 15 लाख लोगों की भीड़ मौजूद थी। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर एडीजी इंटेलीजेंस, एसआईटी, एटीएस, एसटीएफ, क्राइम ब्रांच और बुलंदशहर पुलिस जांच में जुटी हुई है।


Also Read: मेरठ: वेतन ने मिलने से नाराज UP100 में तैनात होमगार्ड ने किया आत्मदाह का प्रयास, मचा हड़कंप


पुलिस ने इस मुकदमे में 27 लोगों को नामजद करते हुए 250-300 अज्ञात लोग मुल्जिम बनाए हैं। जिसमें एक फौजी का नाम भी हत्या की धारा में दर्ज है। वहीं बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी योगेश राज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। योगेश हिंसा के बाद से ही फरार चल रहा था। योगेश पर हिंसा भड़काने और लोगों को इकट्ठा करने का आरोप है। योगेश को सीजेएम की अदालत में पेश किया गया जहां उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here